Interview: 'योगी को मुख्यमंत्री बने रहने का अधिकार नहीं, इस्तीफा दें'

  • कांग्रेस उत्तर प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा, उत्तर प्रदेश में अराजकता का बोलबाला है। यहां कानून का राज खत्म हो चुका है। महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं। सोचिए, बेटियां किस भय के बीच जी रही हैं।

By: shailendra tiwari

Published: 05 Oct 2020, 03:01 PM IST

उत्तर प्रदेश के हाथरस में 19 वर्षीय लड़की के साथ सामूहिक बलात्कार और हत्याकांड को लेकर राज्य सरकार कठघरे में है। मामले पर पर्दा डाले जाने की कोशिशों के आरोप लग रहे हैं। देशभर में इस हत्याकांड को लेकर गुस्सा फूट रहा है। मामले को लेकर उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू से संवाददाता हरिओम द्विवेदी ने बातचीत की। पेश हैं प्रमुख अंश:


यूपी में कानून का राज कैसे कायम किया जा रहा है?
उत्तर प्रदेश में रोजाना बलात्कार के 11 मामले दर्ज हो रहे हैं। हाथरस में पहले दिन से ही साक्ष्य मिटाने का प्रयास किया जा रहा है। पहले सिर्फ छेड़छाड़ का, लेकिन कांग्रेस के आंदोलन के बाद बलात्कार का मुकदमा दर्ज किया गया। फिर भी आरोपियों को बचाने की कोशिश की गई। आंदोलन के बाद ही आरोपियों को गिरफ्तार किया गया।

अंधेरे में अंतिम संस्कार की क्या वजह हो सकती है?
यह तो जांच में ही सामने आ सकता है। मुख्यमंत्री हिंदू धर्म के रक्षक हैं, मठ के मठाधीश हैं, फिर ऐसा क्या हुआ कि पुलिस को रात के अंधेरे में अंतिम संस्कार करना पड़ा? एक पिता बेटी को मुखाग्नि नहीं दे सका। भाई बहन की अंत्येष्टि में शामिल नहीं हो पाया। यह सब मुख्यमंत्री की शह पर हुआ। कोई भी अधिकारी अपने स्तर पर ऐसा निर्णय नहीं ले सकता था।

यूपी सरकार पर आप गुंडागर्दी का आरोप लगा रहे हैं?
जिस तरीके से मीडिया और राजनेताओं के हाथरस जाने पर प्रतिबंध लगाया गया, वह समझ से परे है। आखिर सरकार क्या छिपाना चाहती है? पुलिस रात में मेरे घर में घुस आई। मुझे नजरबंद कर दिया गया। आधी रात को नोटिस तामील कराना सरकार की मनमानी, तानाशाही और गुंडागर्दी नहीं तो क्या है।

इस मामले में राज्य सरकार किस तरह नाकाम रही?
अब तक प्रमुख सचिव गृह पर कोई कार्रवाई क्यों नहीं हुई? डीजीपी घटनास्थल पर जान से क्यों बचते रहे? भाजपा सरकार ने मजाक बना दिया है उत्तर प्रदेश को। ऐसे मुख्यमंत्री को सत्ता में बने रहने का हक नहीं है। मामले पर हाईकोर्ट ने संज्ञान ले लिया, लेकिन राज्य महिला आयोग, राज्यपाल, बाल विकास मंत्री चुप क्यों हैं? मर्यादाएं तार-तार की जा रही हैं, जिम्मेदार चुप्पी साधे हैं।

राजस्थान और छत्तीसगढ़, यूपी से अलग कैसे हैं?
राहुल गांधी अगर हाथरस जाना चाहते थे तो उन्हें क्यों रोका गया। कांग्रेसियों को सड़कों पर लाठी-डंडों से क्यों पीटा गया? कांग्रेस यूथ विंग के 13 सदस्य अभी भी जेल में बंद हैं। यूपी में जिस तरह से मामले को दबाने की कोशिश हुई, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में वैसा कुछ भी नहीं हुआ।

shailendra tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned