नेतृत्व : प्रतिबद्धता व स्पष्ट विचारों से प्रभावी

- नेतृत्व का एक प्रकार 'करिश्माई नेतृत्व' या 'प्रभावशाली नेतृत्व' लोकप्रिय हुआ है और प्रबंधन विशेषज्ञों और शोधकर्ताओं का ध्यान आकर्षित कर रहा है।

By: विकास गुप्ता

Published: 04 Mar 2021, 09:11 AM IST

प्रो. हिमांशु राय

पिछले काफी समय से नेतृत्व का एक प्रकार 'करिश्माई नेतृत्व' या 'प्रभावशाली नेतृत्व' लोकप्रिय हुआ है और प्रबंधन विशेषज्ञों और शोधकर्ताओं का ध्यान आकर्षित कर रहा है। हालांकि, विभिन्न क्षेत्रों में सफल और लोकप्रिय लीडर और प्रबंधकों की प्रतिभा या आभामंडल की चर्चाओं का इतिहास भी गवाह रहा है, जिसमें अब्राहम लिंकन, महात्मा गांधी, जेआरडी टाटा और स्टीव जॉब्स जैसे कई अनुकरणीय व्यक्तित्वों का जिक्र किया गया है। आखिर ऐसी कौन-सी क्षमता है जिससे वे अपने आसपास के लोगों के जीवन को प्रभावित कर सकते हैं, जिससे उनकी सोच और विचार कई पीढिय़ों तक प्रासंगिक माने जाते हैं? क्या यह आकर्षक व्यक्तित्व का चमत्कार है या कारण कुछ और हैं?

प्रभावशाली व्यक्तित्व को एक 'आकर्षण' के रूप में वर्णित किया जा सकता है और यह दूसरों को प्रभावित और प्रेरित करता है। इससे लीडर निर्देश्य शक्ति भी प्राप्त करते हैं। लोकप्रिय धारणाएं रही हैं कि करिश्माई व्यक्तित्व जन्मजात होता है, लेकिन कई अनुसंधानों ने साबित किया है कि इसके कारक अभ्यास के माध्यम से हर व्यक्ति में विकसित किए जा सकते हैं। कुछ मूलभूत सामान्य विशेषताएं इस प्रकार हैं

स्पष्ट और सम्मोहक दृष्टि: एक लीडर सामान्य, आदर्श और प्रासंगिक दृष्टि रखता है जिससे सभी समझ सकें और उससे जुड़ा हुआ महसूस कर सकें।

दृढ़ आस्था: स्वयं पर विश्वास और दृष्टि एक लीडर को वह क्षमता देती है जिससे अनुयायी भी आश्वस्त हो सकें। स्पष्ट संचार: लोगों को प्रेरित करने और उन्हें प्रबंधित करने के लिए उत्कृष्ट श्रवण क्षमता व चिंतनशीलता अद्भुत कारक सिद्ध हो सकते हैं।

प्रतिबद्धता: लक्ष्य प्राप्ति के लिए प्रतिबद्धता एक लीडर को अन्य से अलग बनाती है।

सहजता और संवेदनशीलता: आसपास की परिस्थितियों के लिए संवेदनशील होना और अच्छे बदलाव अपनाना एक लीडर को दूरदर्शिता देता है।
(लेखक आइआइएम इंदौर के निदेशक हैं)

विकास गुप्ता
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned