scriptmisuse of technology can be stopped only with caution | Patrika Opinion : सतर्कता से ही रुकेगा तकनीक का दुरुपयोग | Patrika News

Patrika Opinion : सतर्कता से ही रुकेगा तकनीक का दुरुपयोग

Patrika Opinion : साइबर बाल यौन शोषण से जुड़े अपराधों से निपटने के लिए अभी संसाधनों की काफी कमी है। सेवा प्रदाताओं से सबूत हासिल कर उन्हें अदालतों में पेश करने की चुनौती भी कम नहीं है। बच्चों की दुनिया के कम्प्यूटर, लैपटॉप, मोबाइल व अन्य स्क्रीन उपकरणों में सिमटते रहने के दौर में जनजागरूकता के बिना ऑनलाइन यौन उत्पीडऩ के खतरे कम होना आसान नहीं।

नई दिल्ली

Published: November 18, 2021 09:03:03 am

Patrika Opinion : साइबर बाल यौन शोषण का जाल किस कदर फैला हुआ है इसका अंदाजा केन्द्रीय जांच एजेंसी सीबीआइ की कार्रवाई से लगाया जा सकता है। सीबीआइ ने जिस अंतरराष्ट्रीय नेटवर्क को जांच के दायरे में लिया है, उसकी पड़ताल के बाद इस संबंध में और खुुलासा होगा। तकनीक के बेजा इस्तेमाल ने बच्चों से जिस तरह से खिलवाड़ करना शुरू किया है वह सामाजिक रूप से बड़ी समस्या का रूप लेकर तो सामने आया ही है, साइबर अपराध से निपटने की बड़ी चुनौती के रूप में भी उभर कर आया है। हैरत की बात यह है कि ऐसे मामलों में कई बार तो यौन शोषण के शिकार हुए बच्चों और उनके अभिभावकों को इसकी भनक तक नहीं लगती कि कोई शातिर दिमाग सोशल मीडिया पर साझा की गई बच्चों की फोटो व वीडियो को अश्लील बनाकर अवैध कमाई का जरिया बनाने में जुटा है।

कोरोनाकाल में लॉकडाउन के दौर मेे बच्चों का अधिकांश समय इंटरनेट पर बीता है। तकनीक के जानकार मानते हैं कि इस दौरान बच्चों के साथ ऑनलाइन यौन शोषण, अश्लील संदेशों के आदान-प्रदान व पोर्नोग्राफी के संपर्क में आने जैसे जोखिमों का सामना स्वाभाविक है। साइबर अपराधी नित नए एप्स का इस्तेमाल कर कानून की आंखों में धूल झोंकने में जुटे हैं। हमारे यहां के बच्चों को लेकर तैयार की गई अश्लील सामग्री का इस्तेमाल दुनिया के दूसरे देशों में कहां-कहां हो रहा है इसका पता लगाना भी जांच एजेंसियों के लिए काफी मुश्किल है। नेशनल क्राइम रिकार्ड ब्यूरो ने पिछले एक साल में ही चाइल्ड पोर्नोग्राफी के देश भर में 735 मामले दर्ज होने की जानकारी दी है। सीबीआइ की राजस्थान, मध्यप्रदेश समेत पन्द्रह राज्यों में की गई कार्रवाई के दौरान हिरासत में लिए गए लोगों से पूछताछ में नेेटवर्क का खुलासा होना बाकी है। पर इतना साफ है कि साइबर बाल यौन शोषण से जुड़े अपराधों से निपटने के लिए अभी संसाधनों की काफी कमी है। सेवा प्रदाताओं से सबूत हासिल कर उन्हें अदालतों में पेश करने की चुनौती भी कम नहीं है। बच्चों की दुनिया के कम्प्यूटर, लैपटॉप, मोबाइल व अन्य स्क्रीन उपकरणों में सिमटते रहने के दौर में जनजागरूकता के बिना ऑनलाइन यौन उत्पीडऩ के खतरे कम होना आसान नहीं।

एक तरफ ऑनलाइन सुरक्षा सुनिश्चित करने की चिंता है तो दूसरी तरफ सरकार की ओर से की जाने वाली निगरानी को निजता का हनन बताने की बातें भी कम नहीं होतीं। जाहिर है, दोनों चिंताओं को ध्यान में रखते हुए ऐसा प्रबंध करना होगा जिससे खास तौर से बच्चों को ऑनलाइन यौन हिंसा का शिकार होने से तो रोका ही जाए, निजता की सुरक्षा पर भी सवाल खड़े न हों।

Patrika Opinion : सतर्कता से ही रुकेगा तकनीक का दुरुपयोग
Patrika Opinion : सतर्कता से ही रुकेगा तकनीक का दुरुपयोग

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

Corona Update: कोरोना ने बनाया नया रिकॉर्ड, 24 घंटे में 3 लाख 47 हजार नए केस, 2.51 लाख रिकवरCoronavirus: स्वास्थ्य मंत्रालय इन 6 राज्यों में कोविड स्थिति पर चिंतित, यहां तेजी से फैल रहा संक्रमणGhana: विनाशकारी विस्फोट में 17 लोगों की मौत, 59 घायलभारत ने जानवरों के लिए विकसित किया पहला कोरोना वैक्सीन,अब शेर और तेंदुए पर ट्रायल की योजना50 साल से जल रही ‘अमर जवान ज्योति’ आज से इंडिया गेट पर नहीं, राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर जलेगीबड़ी खबर- सरकार ने माफ किया पुराना बिल, अब महंगी होगी बिजलीCash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कतयूपी विधानसभा चुनाव 2022 के दूसरे चरण की 55 विधानसभा सीटों के लिए आज से होगा नामांकन
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.