scriptPatrika Opinion: Election program should be decided carefully | Patrika Opinion: सोच-समझकर ही तय हों चुनाव कार्यक्रम | Patrika News

Patrika Opinion: सोच-समझकर ही तय हों चुनाव कार्यक्रम

Patrika Opinion: विशेष बल्कि व्रत-त्योहार के साथ-साथ चुनाव आयोग को यह भी ध्यान रखना होता है कि शादियों के सीजन, फसलों की बुवाई व कटाई तथा बच्चों की परीक्षाओं के दौरान चुनाव कार्यक्रम तय नहीं किए जाएं। खैर, पंजाब में विधानसभा चुनाव की तिथियों में बदलाव स्वागत योग्य है लेकिन आयोग पहले से तमाम पहलुओं पर विचार-विमर्श कर चुनाव तिथियां तय करता तो यह बदलाव करने की आवश्यकता ही नहीं पड़ती।

Published: January 18, 2022 02:34:55 pm

Patrika Opinion: पंजाब में प्रमुख राजनीतिक दलों के आग्रह के बाद चुनाव आयोग ने मतदान की नई तिथि तय कर दी है। 14 फरवरी की जगह अब यहां 20 फरवरी को वोट डाले जाएंगे। संत रविदास जयंती को देखते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी समेत प्रमुख राजनीतिक दलों ने चुनाव तिथि बदलने की मांग की थी। यह संतोष की बात है कि चुनाव आयोग ने इस संबंध में मिले प्रतिवेदनों पर विचार करते हुए पंजाब के उन मतदाताओं का ध्यान रखा जो संत रविदास जयंती के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में शरीक होने बड़ी संख्या में उनकी जन्म स्थली, उत्तरप्रदेश के वाराणसी जाते हैं।

श्रद्धालुओं की यह आवाजाही जयंती के दिन 16 फरवरी से एक सप्ताह पहले ही शुरू हो जाती है। ऐसे में यह तय था कि पंजाब में पुरानी मतदान तिथि 14 फरवरी को बड़ी संख्या में मतदाता मतदान से वंचित रह जाते। संत रविदास को मानने वाले खास तौर से दलित वर्ग के हैं और चुनाव आयोग हमेशा समाज के दलित व पिछड़े वर्ग के साथ-साथ समाज के हर वर्ग के लिए निर्बाध मतदान की व्यवस्था का दावा करता रहा है।

आम तौर पर यह माना जाता है कि चुनाव तिथियां तय करने से पूर्व चुनाव आयोग प्रमुख राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों से तो विचार-विमर्श करता ही है, प्रशासनिक मशीनरी से भी पूरा फीडबैक लेता है ताकि मतदान की तिथियां किसी वर्ग-समुदाय अथवा समूह के हकों को प्रभावित करने वाली न हों।

यह भी पढ़ें

सम्मान के साथ विदाई के हकदार थे विराट कोहली

इस मामले में चुनाव आयोग ने मतदान की तिथि तय करते वक्त यह राय-मशविरा नहीं किया होगा, ऐसा लगता नहीं। और, यदि बिना राय-मशविरा किए ये तिथियां तय कर दी गईं तो चिंता की बात है। न केवल जयंती विशेष बल्कि व्रत-त्योहार के साथ-साथ चुनाव आयोग को यह भी ध्यान रखना होता है कि शादियों के सीजन, फसलों की बुवाई व कटाई तथा बच्चों की परीक्षाओं के दौरान चुनाव कार्यक्रम तय नहीं किए जाएं।

पहले भी ऐसे मौके आए हैं जब वर्ग-समुदाय ने अपने त्योहार या फिर विभिन्न परीक्षाओं के चलते चुनाव तिथियों को लेकर सवाल उठाए। अब चुनाव आयोग ने पंजाब में विधानसभा चुनाव की तिथियों में बदलाव करते हुए राजनीतिक दलों की मांग और पंजाब सरकार और राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी से प्राप्त इनपुट को इस फैसले का आधार बताया है।

चुनाव कार्यक्रम में यह बदलाव स्वागत योग्य है लेकिन यदि आयोग पहले से तमाम पहलुओं पर विचार-विमर्श कर चुनाव तिथियां तय करता तो यह बदलाव करने की आवश्यकता ही नहीं पड़ती। देखा जाए तो चुनाव आयोग की कार्यप्रणाली को लेकर किसी तरह के सवाल उठने ही नहीं चाहिए।

यह भी पढ़ें

राजनीति से गायब क्यों है साफ हवा का मुद्दा

Patrika Opinion: सोच-समझकर ही तय हों चुनाव कार्यक्रम
Patrika Opinion: सोच-समझकर ही तय हों चुनाव कार्यक्रम

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

यहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतियूपी में घर बनवाना हुआ आसान, सस्ती हुई सीमेंट, स्टील के दाम भी धड़ामName Astrology: पिता के लिए भाग्यशाली होती हैं इन नाम की लड़कियां, कहलाती हैं 'पापा की परी'इन 4 राशियों के लड़के अपनी लाइफ पार्टनर को रखते हैं बेहद खुश, Best Husband होते हैं साबितजून में इन 4 राशि वालों के करियर को मिलेगी नई दिशा, प्रमोशन और तरक्की के जबरदस्त आसारमस्तमौला होते हैं इन 4 बर्थ डेट वाले लोग, खुलकर जीते हैं अपनी जिंदगी, धन की नहीं होती कमी1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्ससंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजर

बड़ी खबरें

सेना का 'मिनी डिफेंस एक्सपो' कोलकाता में 6 से 9 जुलाई के बीचGujrat कांग्रेस के वरिष्ठ नेता का विवादित बयान, बोले- मंदिर की ईंटों पर कुत्ते करते हैं पेशाबRajya Sabha Election 2022: राजस्थान से मुस्लिम-आदिवासी नेता को उतार सकती है कांग्रेस'तुम्हारे कदम से मेरी आँखों में आँसू आ गए', सिंगला के खिलाफ भगवंत मान के एक्शन पर बोले केजरीवालसमलैंगिकता पर बोले CM नीतीश कुमार- 'लड़का-लड़का शादी कर लेंगे तो कोई पैदा कैसे होगा'Women's T20 Challenge: वेलोसिटी ने सुपरनोवास को 7 विकेट से हरायानवजोत सिंह सिद्धू को जेल में मिलेगा स्पेशल खाना, कोर्ट ने दी अनुमतिSSC घोटाले के बाद अब बंगाल में नर्सों की नियुक्ति में धांधली, विरोध प्रदर्शन के बीच पुलिस और स्टूडेंट्स में हुई झड़प
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.