scriptPatrika Travelogue: लाल बाग जैसी धरोहर की बेनूरी पर क्यों न उदास हो पर्यटन | Patrika Travelogue: tourism is sad on the ignorance of lal bag | Patrika News

Patrika Travelogue: लाल बाग जैसी धरोहर की बेनूरी पर क्यों न उदास हो पर्यटन

शाही लाल बाग महल का निर्माण महाराजा शिवाजी राव होलकर ने 1886 में शुरू करवाया और 1921 में यह महाराजा तुकाजी राव तृतीय के समय में पूरा हुआ। 19वीं सदी की रेनेसांस रिवाइवल शैली में लाल बाग का निर्माण हुआ जो न यूनानी थी, न इटालियन और न ही गोथिक, बल्कि सबका मिला-जुला स्वरूप। इस दृष्टि से इसका सही रख-रखाव बहुत जरूरी है।

नई दिल्ली

Published: November 16, 2021 08:47:51 am

Patrika Travelogue: लाल बाग जैसी धरोहर की बेनूरी पर क्यों न उदास हो पर्यटन
Patrika Travelogue: लाल बाग जैसी धरोहर की बेनूरी पर क्यों न उदास हो पर्यटन

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Group Sites

Top Categories

Trending Topics

Trending Stories

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.