scriptSecurity measures to be beefed up in valley | Patrika Opinion: घाटी में सुरक्षा बंदोबस्त और सख्त करने होंगे | Patrika News

Patrika Opinion: घाटी में सुरक्षा बंदोबस्त और सख्त करने होंगे

मई महीने के दौरान ही कश्मीर में अभी तक सात लक्षित हत्याएं की जा चुकी हैं। जाहिर है कि आतंकी और उनके आका कश्मीर में और खास तौर पर घाटी में शांति बहाली के तमाम प्रयासों में बाधा डालने पर उतारू हैं। इसकी बड़ी वजह यह भी है कि परिसीमन प्रक्रिया पूरी होने के बाद सरकार ने वहां चुनाव कराने की तैयारी शुरू कर दी है।

Published: June 01, 2022 08:35:34 pm

कश्मीर घाटी में एक के बाद एक टारगेट किलिंग की घटनाओं से चिंताजनक तस्वीर सामने आ रही है। मई के मध्य में कश्मीरी पंडित राहुल भट्ट की हत्या के पन्द्रह दिन केे भीतर ही कुलगाम जिले के एक सरकारी स्कूल की शिक्षक की मंगलवार को आतंकियों ने स्कूल में घुस गोली मारकर हत्या कर दी। मई महीने के दौरान ही कश्मीर में अभी तक सात लक्षित हत्याएं की जा चुकी हैं। जाहिर है कि आतंकी और उनके आका कश्मीर में और खास तौर पर घाटी में शांति बहाली के तमाम प्रयासों में बाधा डालने पर उतारू हैं। इसकी बड़ी वजह यह भी है कि परिसीमन प्रक्रिया पूरी होने के बाद सरकार ने वहां चुनाव कराने की तैयारी शुरू कर दी है।
प्रतीकात्मक चित्र
प्रतीकात्मक चित्र
समूची घाटी में आतंक की ऐसी घटनाओं को अंजाम देते रहने के पीछे आतंकियों का यही मकसद झलकता है कि वहां ऐसे माहौल को देखकर सरकार खुद ही चुनाव प्रक्रिया को स्थगित कर दे। यह कोई पहली बार नहीं है जब कश्मीर में चुनावों को बाधित करने की कोशिशें की गई हैं। हमने पहले भी देखा है कि जम्मू-कश्मीर में चुनावों के जरिए सरकार गठन की प्रकिया जब भी शुरू होने की चर्चा होती, आतंकी अपने नापाक मंसूबों में जुट जाते थे। कश्मीर में सक्रिय आतंकी संगठनों को सीमा पार से भरपूर मदद मिल रही है, यह किसी से छिपा नहीं है। अलगाववादी नेता मोहम्मद यासीन मलिक को उम्र कैद की सजा को लेकर अनर्गल बयानबाजी करने वाले पाकिस्तान के सत्ताधीशों को यह कतई रास नहीं आ रहा कि कश्मीर में लोकतांत्रिक प्रक्रिया शुरू हो। परिसीमन प्रक्रिया को लेकर पाकिस्तान की तरफ से जो प्रतिक्रिया पिछले दिनों आई, उससे भी पाकिस्तान के नापाक मंसूबे सामने आ रहे हैं। जम्मू-कश्मीर में हिंदूओं को लगातार निशाना बना रहे आतंकियों की करतूतों से घाटी में दहशत का माहौल है। कुलगाम में महिला शिक्षक की हत्या के बाद वहां कश्मीरी पंडितों में गुस्सा फिर उबाल पर है। वे कश्मीरी पंडितों को घाटी से शिफ्ट करने और सुरक्षा देने की मांग के साथ सड़कों पर उतर रहे हैं।
यह सही है कि कश्मीर में टारगेट किलिंग करने वालों को भारतीय सेना व सुरक्षा बल त्वरित कार्रवाई कर निशाना बना रहे हैं। पर बड़ी चिंता यह है कि सीमा पार से मिली शह से स्थानीय युवा गुमराह होते जा रहे हैं। आम लोगों के बीच रहते हुए आतंकी घटनाओं को अंजाम देने वाले ज्यादा खतरनाक साबित हो रहे हैं क्योंकि इनकी धरपकड़ आसान नहीं होती। अमरनाथ यात्रा भी जून के अंत में शुरू होने वाली है। ऐसे में घाटी में सुरक्षा बंदोबस्त और सख्त किए जाने की जरूरत है ताकि आतंकी अपने नापाक मंसूबों में कामयाब न हो पाएं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

पाकिस्तानी जासूस को 5 साल का कारावास:ATS की स्पेशल कोर्ट ने सुनाई सजा, सेना की जासूसी करते हुए पहले हुआ था गिरफ्तारतेलंगाना, केरल, बंगाल, तमिलनाडु में बनाएंगे सरकार, BJP की बड़ी बैठक में नेताओं ने लिया संकल्पबिहार ने सड़क निर्माण में बनाया रिकॉर्ड, 98 घंटे में बना दी 38 किलोमीटर रोडIND vs ENG, 5th Test Match Day 3 Live Updates: 6 बजे दोबारा खेल शुरु होगा, शतक के नजदीक जॉनी बेयरस्टोशराब से भरा ट्रक ओवरटेक करते 50 यात्रियों से भरी रोडवेज बस से टकराया, ट्रक चालक समेत 6 माह की मासूम की मौतबड़ी खबर-चुनाव से पहले महिला प्रत्याशी गिरफ्तार, जानिये क्या है पूरा मामलाMaharashtra Politics: आदित्य ठाकरे ने एकनाथ शिंदे पर बोला हमला, कहा-सदन में बागी आंख नहीं मिला पाए; जनता का कैसे करेंगे सामना?Aarey Metro Shed: आरे मेट्रो शेड के विरोध में सामने आए मनसे के युवा नेता अमित ठाकरे, कही ये बात
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.