scriptशरीर ही ब्रह्माण्ड : श्राद्ध से चन्द्रयात्रा सुगम | Sharir hi Brahmand : Why Sharddh is essential | Patrika News

शरीर ही ब्रह्माण्ड : श्राद्ध से चन्द्रयात्रा सुगम

पृथ्वी के आकर्षण की प्रबलता के कारण चन्द्रयात्रा कष्टकारक होती है। इसे पिण्ड दान से चान्द्रबल प्रदान किया जाता है। पुत्र चावल पिण्ड से इस महानात्मा को चान्द्ररस से युक्त कर देते हैं। जिससे आत्मा बिना कष्ट के चन्द्रमा पर पहुंच जाता है।

जयपुर

Published: October 02, 2021 07:32:05 am

sharir_hi_brahmand_gulab_kothari_ji_article.jpg

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Group Sites

Top Categories

Trending Topics

Trending Stories

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.