scriptShould a booster dose of corona vaccine also be given? | आपकी बात, क्या कोरोना टीके की बूस्टर डोज भी लगानी चाहिए? | Patrika News

आपकी बात, क्या कोरोना टीके की बूस्टर डोज भी लगानी चाहिए?

पत्रिकायन में सवाल पूछा गया था। पाठकों की मिलीजुली प्रतिक्रियाएं आईं, पेश हैं चुनिंदा प्रतिक्रियाएं।

Published: November 17, 2021 05:46:10 pm

जरूरी है बूस्टर डोज
कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ है। त्योहारों और शादियों के कारण कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ गया है। वर्तमान समय में मजबूत टीकाकरण ने देश में कोरोना की रफ्तार को रोकने का काम किया है। कोरोना टीके की दोनों डोज लगाने के बाद भी कोरोना संक्रमण के मामले सामने आए हंै। ऐसे समय में कोरोना की बूस्टर डोज लगाने से कोरोना संक्रमण पर जल्दी नियंत्रण किया जा सकता है। इसलिए सरकार को जल्द से जल्द कोरोना की बूस्टर डोज लगवाने पर ध्यान देना होगा।
-नीलिमा जैन, उदयपुर
.................................
आपकी बात, क्या कोरोना टीके की बूस्टर डोज भी लगानी चाहिए?
आपकी बात, क्या कोरोना टीके की बूस्टर डोज भी लगानी चाहिए?
अभी कम लगे हैं टीके
देश में टीकाकरण अभियान जोरों से चल रहा है। बड़ी संख्या में लोगों ने वैक्सीन लगवा ली है। इसके बावजूद अभी कोरोना का खतरा कम नहीं हुआ है। बूस्टर डोज तभी संभव हो पाएगी, जब देश की एक बड़ी आबादी को वैक्सीन लग जाएगी।
-मनोहर सिंह बीका जोधपुर
..........................
बूस्टर डोज सभी के हित में
कोरोना टीके की बूस्टर डोज लगवाना व्यक्तिगत हित के साथ राष्ट्रहित में भी है। कोरोना केस कम होना शुरू हुए हैं। इसके साथ ही वैक्सीनेशन की रफ्तार भी धीमी हो गई है। ज्यादातर लोगों को लगता है कि कोरोना खत्म हो गया है। सैनिटाइजर का उपयोग न्यूनतम हो गया है। कई शहरों में पिछले 3 दिनों मे केस बढ़े हैं । डॉक्टरों का कहना है त्योहारी सीजन के बाद केस बढ़ सकते हैं। इसीलिए कोरोना की बूस्टर डोज लगवाना सब के हित में है। जिन्होंने टीके नहीं लगवाए हैं, उन्हें अब टीके लगवाना चाहिए।
-सतीश उपाध्याय, मनेंद्रगढ़ कोरिया, छत्तीसगढ़
...........................

समय रहते लगाई जाए बूस्टर डोज
देश में टीकाकरण अभियान जोरों से चल रहा है। बड़ी संख्या में लोगों को वैक्सीन लग भी चुकी है। इसके बावजूद कोरोना का खतरा बना हुआ है। बूस्टर डोज शरीर के अंदर तुरंत इम्यून सिस्टम को एक्टिव कर देती है। कोरोना के नए वेरिएंट से निपटने के लिए बूस्टर डोज की जरूरत पड़ सकती है। अत: वक्त रहते ही बूस्टर डोज लगाने की दिशा में तैयारी कर लेना ही बेहतर निर्णय होगा।
-सरिता प्रसाद, पटना, बिहार
....................
आवश्यकता का ध्यान रखें
भारत में कोरोना टीके की बूस्टर खुराक देने पर विचार चल रहा है। यह रणनीतिक और वैज्ञानिक रूप से भी महत्वपूर्ण है। जरूरत पडऩे पर जनहित और राष्ट्रहित को सर्वोपरि रखते हुए आवश्यकतानुसार बूस्टर डोज भी लगाई जानी चाहिए।
शत्रुघ्न सिंह राजावत, गंगापुर सिटी
.........................
बूस्टर डोज के लिए उठने लगी आवाज
बूस्टर डोज की जरूरत है या नहीं, यह इस बात पर निर्भर करता है कि लंबी अवधि में कोरोना वायरस के खिलाफ हमारा इम्यून सिस्टम किस तरह काम करेगा और किस तरह से वायरस अपना रूप बदलेगा। बहरहाल जिस तेजी से कोरोना वायरस के वेरिएंट सामने आ रहे हैं, उससे बूस्टर डोज की जरूरत को लेकर आवाज उठने लगी हैं। बूस्टर डोज ही शरीर को अतिरिक्त इम्यून रेस्पांस देने में सक्षम हो सकती है, जिससे नए वेरिएंट का सामना करना भी आसान हो जाएगा।
-अजिता शर्मा, उदयपुर
.......................
उपयोगी है बूस्टर डोज
देश में इस समय वापस कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। कोरोना के नए वेरिएंट से लडऩे के लिए सरकार और कंपनियों को बूस्टर डोज पर विचार करना चाहिए। किसी खास रोगाणु अथवा विषाणु के खिलाफ लडऩे में बूस्टर डोज शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। बूस्टर डोज उन व्यक्तियों को ही लगाई जाए, जो दोनों डोज लगवा चुके हों और जिनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो या अधिक उम्र के हों।
-अंकित शर्मा, जयपुर
...........................
इलाज से बेहतर बचाव
जिस तरह से कोरोना वायरस फिर से पैर पसार रहा है, उसे देखते हुए कोरोना टीके की बूस्टर डोज लगाई ही जानी चाहिए। प्रथम और द्वितीय डोज से बचे लोगों के लिए टीकाकरण अभियान को और तेज करने की आवश्यकता है। कहावत भी है कि इलाज से बेहतर है कि रोग होने ही न दिया जाए। साथ ही कोरोना प्रोटोकॉल का पूरी तरह से पालन होना चाहिए।
-राजेश सिंह, अहमदाबाद
.......................
जड़ से खत्म हो बीमारी
कोरोना महामारी को जड़ से खत्म करें। कोरोना टीके की बूस्टर डोज अवश्य लगाई जाए। अपनी व आपनों की जान बचाएं। कोरोना के टीके ब्रह्मास्त्र हैं।
महेंद्र कुमार, पाली
....................

लाभ हो तो लगाई जाए बूस्टर डोज
कोविड टीकाकरण के बाद भी कोविड होने के मामले सामने आ रहे हैं। यदि बूस्टर डोज के लाभ हैं, तो बूस्टर डोज लगाई जाए।
- ज्योति दयालानी, बिलासपुर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Cash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कतहो जाइये तैयार! आ रही हैं Tata की ये 3 सस्ती इलेक्ट्रिक कारें, शानदार रेंज के साथ कीमत होगी 10 लाख से कमइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजमां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतShani: मिथुन, तुला और धनु वालों को कब मिलेगी शनि के दशा से मुक्ति, जानिए डेटइन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीराजस्थान में आज भी बरसात के आसार, शीतलहर के साथ फिर लौटेगी कड़ाके की ठंडPost Office FD Scheme: डाकघर की इस स्कीम में केवल एक साल के लिए करें निवेश, मिलेगा अच्छा रिटर्न
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.