scriptShould cryptocurrencies be banned? | आपकी बात, क्या क्रिप्टोकरेंसी पर प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए? | Patrika News

आपकी बात, क्या क्रिप्टोकरेंसी पर प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए?

पत्रिकायन में सवाल पूछा गया था। पाठकों की मिलीजुली प्रतिक्रियाएं आईं, पेश हैं चुनिंदा प्रतिक्रियाएं।

Published: November 29, 2021 05:18:48 pm

सरकार का नियंत्रण नहीं
क्रिप्टोकरेंसी आधुनिक तकनीक पर आधारित करेंसी है। इसके लेन-देन में काफी गोपनीयता है, परंतु सरकार या सेंट्रल बैंक का इस पर कोई भी नियंत्रण नहीं है। इसलिए इस करेंसी का गलत कार्यों में इस्तेमाल होने की आशंका अधिक है। साथ ही क्रिप्टोकरेंसी की कीमतों में बहुत ज्यादा उतार-चढ़ाव रहता है। बेहतर तो यह है कि सरकार जल्द से जल्द क्रिप्टोकरेंसी पर प्रतिबंध लगा दे ।
-योगिता वैष्णव, किशनगढ़
.................
आपकी बात, क्या क्रिप्टोकरेंसी पर प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए?
आपकी बात, क्या क्रिप्टोकरेंसी पर प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए?
शेयर बाजार की तरह नियंत्रित किया जाए
भारत में क्रिप्टोकरेंसी पूर्ण प्रतिबन्धित होनी चाहिए, क्योंकि लोग लालच में आकर अपना मूल भी गंवा बैठते हंै। क्रिप्टोकरेंसी कोई वैधानिक करेंसी न होने की वजह से इसका अर्थव्यवस्था पर भी बड़ा प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। इसमें उतार-चढ़ाव बहुत-ज्यादा होते हैं और इसको नियंत्रित भी नहीं किया जाता है। अत: क्रिप्टोकरेंसी को पूर्णतया प्रतिबन्धित कर देना चाहिए। यदि सरकार इसको प्रतिबंधित नहीं करती है, तो इसके लिए नियामक की व्यवस्था करे। शेयर बाजार तथा कमोडिटी बाजार की तरह इसको नियंत्रित किया जाए।
-कैलाश चन्द्र मोदी, सादुलपुर, चरू
....................................
सावधान रहें निवेशक
क्रिप्टोकरेंसी में जबरदस्त उछाल के कारण निवेशक इसकी तरफ आकर्षित हो रहे हैं और मुनाफे के लालच में बिना कुछ देख निवेश कर रहे हैं। इस पर सरकार का नियंत्रण नहीं होने की वजह से कभी भी धोखाधड़ी हो सकती है। ऐसे में कयास लगाई जा रही है कि सरकार कभी भी इस पर रोक लगा सकती है। ऐसे में निवेशकों को सावधानी बरतने की जरूरत है।
-सुदेश बिश्नोई,श्रीगंगानगर
..............................
मुश्किल है प्रतिबंध
क्रिप्टोकरेंसी को भारत सरकार तो क्या विश्व की कोई भी सरकार बैन नहीं कर सकती। यद्द तभी बंद हो सकती है, जब इंटरनेट बंद हो जाए। ऐसा करना संभव ही नहीं। इसको बंद करने करने में अपनी शक्ति जाया करने की बजाय इसके लिए नियम बनाना ठीक होगा।
-अभिषेक पाटीदार, बांसवाड़ा
...................................
सरकार नियंत्रित हो डिजिटल मुद्रा
क्रिप्टोकरेंसी मुद्रा का नवीनतम रूप है। यह आसान, सुरक्षित तथा गोपनीयता के कारण विश्व भर में लोकप्रिय है। भारत जैसे विकासशील देश में निवेशकों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए निजी क्रिप्टोकरेंसी के स्थान पर सेंट्रल बैंक समर्थित डिजिटल मुद्रा की व्यवस्था की जानी चाहिए, ताकि सरकारी हस्तक्षेप से लेन-देन में जोखिम कम हो।
-नीता टहिलियानी, जयपुर
........................

क्रिप्टोकरेंसी पर प्रतिबंध जरूरी
क्रिप्टोकरेंसी का प्रयोग क्रिमिनल एक्टिविटी तथा मनी लांड्रिंग जैसी अवैध गतिविधियों के लिए भी किया जाता है। क्रिप्टोकरेंसी बेचने व खरीदने वाले के नाम का खुलासा नहीं होता, जो कि खतरनाक हो सकता है। क्रिप्टोकरेंसी की खरीद बिक्री पर भारतीय रिजर्व बैंक का नियंत्रण नहीं है, जिससे निवेशकों का धन सुरक्षित नहीं रहता। अत: इस पर प्रतिबंध लगाना उचित होगा।
-सरिता प्रसाद, पटना, बिहार
............................
संभव नहीं प्रतिबंध
क्रिप्टोकरेंसी आभासी मुद्रा है, जो अनेक कारणों से विवादों में फंसी हुई है। भारतीय बाजार ने वैश्वीकरण को तो अपना लिया, लेकिन क्रिप्टोकरेंसी के लिए अभी पूर्ण रूप से तैयार नहीं है। ग्रामीण क्षेत्र के युवा भी इसे धन कमाने का जरिया समझने लगे हैं, हालांकि उन्हें अभी इसकी पर्याप्त जानकारी नहीं है। इससे उनके और उनके परिवार के लिए समस्या उत्पन्न हो सकती है। इस पर पूर्ण प्रतिबंध तो नहीं लगाया सकता, लेकिन सरकार को कुछ दिशा-निर्देश अवश्य बनाने चाहिए, जिससे इसका वैधानिक दायरा तय हो।
-एकता शर्मा, गरियाबंद, छत्तीसगढ़
..........................
सावधान रहें निवेशक
क्रिप्टोकरेंसी में जबरदस्त उछाल के कारण निवेशक इसकी तरफ आकर्षित हो रहे हैं और मुनाफे के लिए बिना कुछ देखे अंधाधुंध निवेश कर रहे हैं। इस पर सरकार का नियंत्रण नहीं होने की वजह से कोई भी धोखाधड़ी कर सकता है। ऐसे में कयास लगाई जा रही है कि सरकार कभी भी इस पर रोक लगा सकती हैं ऐसे में निवेशकों को सावधानी बरतने की जरूरत है।
-सुदेश बिश्नोई, श्रीगंगानगर
....................
मान्यता दी जाए
क्रिप्टोकरेंसी पर प्रतिबंध की बजाय इसे मान्यता दी जानी चाहिए क्योंकि डिजिटल युग में डिजिटल करेंसी की अति आवश्यकता है।
-पांचाराम चौधरी, भीनमाल, जालौर
......................

ठोस कानून की दरकार
क्रिप्टोकरेंसी मुद्रा का डिजिटल स्वरूप है। क्रिप्टोकरेंसी का प्रयोग क्रिमिनल एक्टिविटी और मनी लॉन्ड्रिंग जैसी गतिविधियों के लिए किया जा सकता है। इसे बेचने और खरीदने वाले के नाम का खुलासा नहीं होता। इसलिए भी यह खतरनाक साबित हो सकता है। क्रिप्टोकरेंसी के भाव में रोजाना तेज उतार-चढ़ाव दर्ज किया जाता है।
-नरेंद्र रलिया, जोधपुर
........................
नियम बनाए जाएं
क्रिप्टोकरेंसी पर प्रतिबंध लगाना अनुचित होगा। हां, क्रिप्टोकरेंसी के इन्वेस्टर्स के लिए नियम जरूर बनाए जाने चाहिए। आरबीआइ को अपनी डिजिटल करेंसी लॉन्च करनी चाहिए, ताकि बाजार में तरलता बढ़े और निवेशकों के लिए नए अवसर भी तैयार हों।
-मुकेश कुमार व्यास, गांधीनगर, गुजरात

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

UP Election: चार दिन में बदल गया यूपी का चुनावी समीकरण, वर्षों बाद 'मंडल' बनाम 'कमंडल'दिल्ली में संक्रमण दर 30% के पार, बीते 24 घंटे में आए कोरोना के 24,383 नए मामलेअब एसएसबी के 'ट्रैकर डॉग्स जुटे दरिंदों की तलाश में !सूर्य ने किया मकर राशि में प्रवेश, संक्रांति का विशेष पुण्यकाल आजParliament Budget session: 31 जनवरी से शुरू होगा संसद का बजट सत्र, दो चरणों में 8 अप्रैल तक चलेगाबेरोजगारी के संकट से जूझ रहा मप्र, ओबीसी की स्थिति चिंताजनकपूर्व केंद्रीय मंत्री की भाजपा में वापसी की चर्चाएं, सोशल मीडिया पर फोटो से गरमाई सियासतTrain Reservation- अब रेल यात्रियों के पांच वर्ष से छोटे बच्चों के लिए भी होगी सीट रिजर्व, जानने के लिए पढ़े पूरी खबर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.