scriptShould the booster dose be given free of cost to all eligible people? | आपकी बात: क्या सभी पात्र लोगों को बूस्टर डोज मुफ्त लगाई जाए? | Patrika News

आपकी बात: क्या सभी पात्र लोगों को बूस्टर डोज मुफ्त लगाई जाए?

पत्रिकायन में सवाल पूछा गया था। पाठकों की मिलीजुली प्रतिक्रिया आईं। पेश हैं चुनिंदा प्रतिक्रियाएं।

Published: April 11, 2022 04:50:03 pm

मुफ्त लगाई जाए बूस्टर डोज

अब तक 60 वर्ष से ऊपर की उम्र के लोगों को मुफ्त बूस्टर डोज दी जा रही थी, तो 18 वर्ष से ऊपर के लोगों को क्यूं मुफ्त डोज नहीं दी जा रही है। जब भी किसी स्वास्थ्य सुविधाओं अर्थात् टीकाकरण के लिए मूल्य का निर्धारण कर दिया जाता है, वहीं से मनमाने तरीक़े से अपने स्वार्थों को ध्यान में रखते हुए आम जनता को ठगा जाता है। अधिक से अधिक कीमत वसूल कर लोगों की भावनाओं से खेला जाता है। अत: सभी आयु वर्ग को महामारी से निजात दिलाने के उद्देश्य से मुफ़्त बूस्टर डोज ही लगाई जानी चाहिए।
 covid booster dose
आपकी बात: क्या सभी पात्र लोगों को बूस्टर डोज मुफ्त लगाई जाए?
डॉ. अजिता शर्मा, उदयपुर, राजस्थान

.................

बूस्टर डोज फ्री लगानी चाहिए

सरकार की ओर से कोरोना वैक्सीन की प्रथम एवं द्वितीय डोज फ्री रही, उसी प्रकार पात्र लोगों को बूस्टर डोज फ्री लगानी चाहिए, जिस से सभी लोगों में इम्युनिटी का जल्द से जल्द विकास हो सके।
राखी चौहान, निहालपुरा

..................

सभी पात्र व्यक्तियों को मिले

केंद्र सरकार को सभी जगहों पर मुफ्त में लोगों को बूस्टर डोज लगाने व्यवस्था करना चाहिए और सभी राज्यों को निर्देश दिए जाने चाहिए कि घर-घर जाकर बूस्टर डोज लगाई जाए। वार्ड पार्षद, पंच व सरपंच के अलावा स्वास्थ्य विभाग से सहयोग लेकर सभी पात्र लोगों को बूस्टर डोज मुफ्त में लगाने उचित प्रबंध किए जाएं, जिससे कोई भी पात्र लोग बूस्टर डोज से वंचित न रहे।
आलोक वालिम्बे, बिलासपुर, छत्तीसगढ़

.................

महंगाई में टीका कैसे खरीदेगी जनता

बूस्टर डोज सभी के लिए मुफ्त होनी चाहिए क्योंकि जनता किन हालातों से गुजर रही है, इसकी कल्पना करना भी कठिन है। महंगाई चरम पर है इसलिए वैक्सीन की तरह बूस्टर डोज भी सभी लोगों को मुफ्त लगाई जाए तो यह जनकल्याण का कदम कहा जाएगा। सशुल्क होने पर सभी लोग बूस्टर डोज अपनी जेब से खर्च करके नहीं लगवाएंगे, चुनिंदा जागरुक लोग ही लाभ ले पाएंगे। ऐसे में सुरक्षा चक्र टूटने की पूरी संभावना है।
सी. आर. प्रजापति, जोधपुर, राजस्थान

...................

नागरिक का अधिकार है स्वास्थ्य

कोरोना के कुछ समय बाद इम्यूनिटी सिस्टम कमजोर होने लगता है, जिसके लिए बूस्टर डोज या प्रिकॉशन डोज लगाई जा रही है। यह डोज मुफ्त में लगाई जानी चाहिए क्योंकि सभी पात्र लोग फ्रंटलाइन वर्कर्स और हेल्थ केयर वर्कर्स देश को अपनी जरूरी सेवाएं दे रहे हैं। जहां सरकार देश की जनता से टैक्स वसूलती है तो शिक्षा और स्वास्थ्य फ्री में मुहैया करवाना भी उसकी जिम्मेदारी है।
रजनी वर्मा, श्रीगंगानगर, राजस्थान

.................

गरीब जनता कहां से लाएगी टीका

बूस्टर डोज लगवाने की व्यवस्था में सरकार की ओर से इसका टीकाकरण निजी अस्पतालों को सौंपने और भुगतान करवाने की शर्त लोगों को उचित नहीं लग रही है। बूस्टर डोज के लिए सरकार का शुल्क लेना ठीक नहीं जान पड़ रहा है। बहुसंख्य गरीब आबादी वाले देश में बूस्टर डोज के लिए शुल्क लेना उचित नहीं है। छह सौ रुपए देकर बूस्टर डोज लगवाने को अनेक परिवार आगे नहीं आएंगे ऐसी आशंका ज्यादा बन रही है।
- नरेश कानूनगो, देवास, मध्यप्रदेश.

....................................

महामारी मुक्त हो भारत

सभी पात्र व्यक्तियों को बूस्टर डोज मुफ्त लगना चाहिए। बल्कि मेरे विचार में तो इसे अनिवार्य कर देना चाहिए। सरकार अनेक जन कल्याणकारी योजनाओं पर खर्च करती है, फिर यह तो महामारी का मामला है।
लता अग्रवाल, चित्तौडग़ढ़, राजस्थान

..............

सक्षम के लिए मुफ्त न हो बूस्टर

कोरोना काल में अर्थव्यवस्था वैसे भी चरमराई हुई है। अत: सरकार को गरीबी रेखा से नीचे के लोगों को छोड़कर ऐसे लोग जो सक्षम हैं, उन्हें बूस्टर डोज मुफ्त में न लगाकर देश हित में वाजिब कीमत वसूल की जानी चाहिए।
- सुमित्रा गिला, नोखा, राजस्थान

...........

जरूरतमंदों को ही मुफ्त मिले

इस समय कोरोना संक्रमण की चौथी लहर भी भारत में दस्तक दे रही है। इसलिए जो लोग मधुमेह, ब्लड प्रेशर, अस्थमा अथवा अन्य बीमारियों से ग्रसित हैं, उनके लिए बूस्टर डोज लेना अति आवश्यक है। लेकिन गरीबों, मजदूर वर्ग और वृद्धों को बूस्टर डोज मुफ्त लगाई जानी चाहिए। साथ ही, ग्रामीण क्षेत्रों में भी इसे मुफ्त लगवाना उचित होगा ताकि पैसे के अभाव में कोई पात्र वंचित न रह जाए। साथ ही, ध्यान रखना होगा कि बूस्टर डोज संबंधी किसी भी तरह की धांधली तथा कालाबाजारी न हो।
- विभा गुप्ता, बेंगलूरु, कर्नाटक

...........

मध्यमवर्ग को मिले राहत

सरकार को बूस्टर डोज नि:शुल्क लगानी चाहिए क्योंकि आज देश में महंगाई इतनी बढ़ गई है कि मध्यमवर्गीय लोग अपना जीवनयापन बड़ी मुश्किल से कर पा रहे हैं। ऐसे में अगर सरकार बूस्टर डोज की कीमत लेगी तो मध्यम वर्ग के लोग बूस्टर डोज नहीं लगवा पाएंगे, जिससे उनकी जान को खतरा हो सकता है।
गोपाल रैकवार, मनेंद्रगढ,़ छत्तीसगढ़

...............

बूस्टर को लेकर रहेंगे उदासीन

मंहगाई का बोझ झेल रहे जनसाधारण को वैक्सीन की बूस्टर डोज की राशि का भार वहन करना मुश्किल होगा। क्योंकि कोरोना का वैरिएंट अभी बदलता दिखाई पड़ रहा है, हाल ही में कई देशों में लॉकडाउन किया गया है। गुजरात, मिजोरम अभी भी इसकी चपेट में हैं। अत: बूस्टर डोज मुफ्त ही उपलब्ध करवानी चाहिए।
- खुशवन्त कुमार हिण्डोनिया, गांधीनगर, चित्तौडग़ढ़

................

समृद्ध व्यक्ति मुफ्त न लगवाएं डोज

सरकार ने वैसे तो हर किसी के लिए कोरोना की पहली, दूसरी और बुस्टर डोज मुफ्त लगवाने के इंतजाम भी किए हैं, लोग इसका लाभ भी ले रहे हैं। जो समृद्ध लोग धनराशि खर्च कर बूस्टर डोज लगा सकते हैं, उन्हें यह डोज मुफ्त न लगाकर पैसे देकर लगवा लेनी चाहिए, क्योंकि इससे सरकार पर डोज का खर्च घटेगा।
- राजेश कुमार चौहान, जालंधर, पंजाब

..............

बूस्टर डोज के प्रति जागरूकता

संक्रमण काल में लोग इतनी मानसिक और आर्थिक मुसीबतों से गुजरे हैं। सरकार को आम जनता से पैसे लेने के बजाय उन्हें मुफ्त कर विभिन्न सूचना माध्यमों से जागरूक कर उनके मन से भ्रम को दूर भगाने का प्रयास करना चाहिए।
- शालिनी भाटी, खारिया खंगार (जोधपुर), राजस्थान

.........


बूस्टर खोज मुफ्त लगाई जाए ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग बूस्टर डोज लगवाएंगे। अगर पैसे देकर बूस्टर डोज लगेगा तो कम से कम लोग ही इसे लगवा सकेंगे, ऐसे में पूरी सुरक्षा नहीं मिल पाएगी।
हरिओम सिंह, रायपुर, छत्तीसगढ़

.................


आर्थिक स्थिति पर निर्णय हो

सरकार को सभी को बूस्टर डोज मुफ्त में न लगाकर उनकी आर्थिक स्थिति के अनुसार ही निर्णय करना चाहिए। अल्प आयवर्ग और निर्धन वर्ग को तो बूस्टर डोज मुफ्त में लगाया जाना समझ में आता है, लेकिन सभी को मुफ्त में लगाना समझ से बाहर है। साधनसम्पन्न लोगों को मुफ्त में बूस्टर डोज लगाने का कोई औचित्य नहीं है।
- कैलाश चन्द्र मोदी, सादुलपुर (चूरू), राजस्थान

........................

मुफ्त डोज से जनता में रूचि बढ़ेगी

संक्रमण की तीव्रता और आम आदमी की प्रवृत्ति को देखते हुए सभी पात्र व्यक्तियों को शासन की ओर से मुफ्त डोज की ही व्यवस्था करनी चाहिए। इससे देश की प्रगतिशील गतिविधियों में कोई अप्रत्याशित बाधा नहीं आए।
- शिव नारायण आर्य, देवास, मध्यप्रदेश

................

कमजोर वर्ग को लगे मुफ्त बूस्टर

मुफ्त डोज 60+ को दिया ही जा रहा है लेकिन जो सक्षम हो उन्हें मुफ्त की अपेक्षा भुगतान आधार पर लगवाने में कोई हर्ज नहीं है। कमजोर आय वर्ग को मुफ्त टीका लगना चाहिए।
- हरिप्रसाद चौरसिया, देवास, मध्यप्रदेश

................

सभी को न मिले मुफ्त बूस्टर

सभी पात्र लोगों को बूस्टर डोज मुफ्त नहीं लगाई जानी चाहिए। सरकार का काम केवल दो आवश्यक डोज देने तक सीमित रहना चाहिए। परंतु सरकार यह सुनिश्चित करे कि लोग इसे साधारण दाम पर खऱीद पाएं और गरीब वंचित वर्ग की सहायता अवश्य कर सकती है।
- रुचिका अरोड़ा, बीकानेर, राजस्थान

..................

पात्र लोगों से टोकन मनी ले सकते हैं

किसी भी चीज का मुफ्त होने से मतलब नहीं बल्कि कोशिश होनी चाहिए कि स्वास्थ्य लाभ ज्यादा से ज्यादा मिले। सरकार को राजनीतिक लाभ के बजाय लोगों के जीवन बचाने से मतलब रखना होगा। पात्र लोगों मे सक्षम भी होते हैं, जो पैसे देकर भी डोज ले सकते हैं। अत: उनसे पैसे लें चाहे वह टोकन मनी ही क्यों न हो इससे भगदड़ नहीं मचेगी।
- डॉ. राकेश वर्मा, अजमेर, राजस्थान

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

Constable Paper Leak: राजस्थान कांस्टेबल परीक्षा रद्द, आठ गिरफ्तार, 16 मई के पेपर पर भी लीक का साया30 साल बाद फ्रांस को फिर से मिली महिला पीएम, राष्ट्रपति मैक्रों ने श्रम मंत्री एलिजाबेथ बोर्न को नया पीएम किया नियुक्तदिल्ली में जारी आग का तांडव! मुंडका के बाद नरेला की चप्पल फैक्ट्री में लगी भीषण आग, मौके पर पहुंची 9 दमकल गाडि़यांबॉर्डर पर चीन की नई चाल, अरुणाचल सीमा पर तेजी से बुनियादी ढांचा बढ़ा रहा चीनSri Lanka में अब तक का सबसे बड़ा संकट, केवल एक दिन का बचा है पेट्रोलताजमहल के बंद 22 कमरों का खुल गया सीक्रेट, ASI ने फोटो जारी करते हुए बताई गंभीर बातेंकर्नाटक: हथियारों के साथ बजरंग दल कार्यकर्ताओं के ट्रेनिंग कैम्प की फोटोज वायरल, कांग्रेस ने उठाए सवालPM Modi Nepal Visit : नेपाल के बिना हमारे राम भी अधूरे हैं, नेपाल दौरे पर बोले पीएम मोदी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.