scriptShould the conditions of economic reservation be changed? | आपकी बात, क्या आर्थिक आधार पर आरक्षण की शर्तों में बदलाव होना चाहिए? | Patrika News

आपकी बात, क्या आर्थिक आधार पर आरक्षण की शर्तों में बदलाव होना चाहिए?

पत्रिकायन में सवाल पूछा गया था। पाठकों की मिलीजुली प्रतिक्रियाएं आईं, पेश हैं चुनिंदा प्रतिक्रियाएं।

Published: December 31, 2021 05:12:39 pm

जो है वही सही
आर्थिक आधार पर 10 प्रतिशत आरक्षण की व्यवस्था आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के उत्थान के लिए की गई है। गरीब सवर्णों का इसका पूरा लाभ मिलना चाहिए, क्योंकि शेष तो जातिगत आधार पर आरक्षण का लाभ ही रहे हैं। इसके लिए परिवारिक आय की सीमा आठ लाख रुपए ठीक है। इसमें कुछ भी परिवर्तन की जरूरत नहीं है, जो है वह सही है।
-शकुंतला महेश नेनावा, इंदौर, मप्र
..........................
आपकी बात, क्या आर्थिक आधार पर आरक्षण की शर्तों में बदलाव होना चाहिए?
आपकी बात, क्या आर्थिक आधार पर आरक्षण की शर्तों में बदलाव होना चाहिए?
आय सीमा बढ़ाई जाए
महंगाई में बढ़ोतरी हुई है। इसकी वजह से आर्थिक आधार पर आरक्षण की शर्तों में बदलाव की आवश्यकता महसूस हो रही है। आर्थिक आधार पर आरक्षण के लिए आय सीमा में भी बढ़ोतरी की जाए।
-शिवजी लाल मीना, जयपुर
..........................
उचित है आर्थिक आधार पर आरक्षण
आर्थिक आधार पर आरक्षण एक उचित निर्णय है। देश में रोजगार की कमी है। आर्थिक रूप से कमजोर शिक्षित बेरोजगार कोई व्यवसाय नहीं कर पाते। अगर ऐसे लोगों को आरक्षण का सहारा मिल जाए, तो यह उनके काफी मददगार साबित हो सकता है।
-सरिता प्रसाद, पटना, बिहार
.........................
आरक्षण का आधार जाति नहीं आर्थिक हो
आरक्षण का आधार विशेष रूप से आर्थिक ही होना चाहिए। आरक्षण का प्रावधान जाति व वर्ग के आधार पर होने से जरूरतमंदों को इसका लाभ नहीं मिल पाता। , सभी वर्गों को आर्थिक आधार पर आरक्षण मिलना चाहिए। ।
-सी. आर. प्रजापति, जोधपुर
...................

हर वर्ग मांग रहा आरक्षण
आरक्षण की मांग सभी वर्गों, जातियों में हो रही है। इसकी वजह राजनीति है। आर्थिक तौर पर तो इसमें सुधार की आज सबसे ज्यादा जरूरी है। हर समाज में आर्थिक विसंगति व्याप्त है.
-हरिप्रसाद चौरसिया, देवास, मध्य प्रदेश
................
बढ़ाया जाए आर्थिक आरक्षण
जातीय आधार पर आरक्षण का लाभ कुछ ही लोग उठा पाते हैं। पिछड़े और दलित जाति के जरूरतमंदों तक इसका लाभ पहुंचता ही नहीं है। कमजोर वर्ग को आर्थिक आधार पर दिए जाने वाले आरक्षण से लाभ हुआ है। यह बढ़ाया जाना चाहिए।
-एकता शर्मा, गरियाबंद, छत्तीसगढ़
.....................

समीक्षा की जरूरत
जातिगत आधार पर आरक्षण से उच्च वर्ग के प्रतिभावान युवक वंचित रह जाते हैं। कई बार आर्थिक रूप से कमजोर होने के कारण सवर्ण वर्ग के बच्चे उच्च शिक्षा से वंचित रह जाते हैं। आर्थिक आधार पर दस प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान जरूर किया है। बेहतर तो यह है कि संपूर्ण आरक्षण व्यवस्था की समीक्षा की जाए।
-लता अग्रवाल चित्तौडग़ढ़
......................
आरक्षण कब तक?
आरक्षित जातियों को देखते हुए अन्य जातियाँ भी आरक्षण की मांग उठाती रहती है। आखिर कब तक आरक्षण के नाम पर फसाद होते रहेंगे। हम हर जगह खुली प्रतियोगिता की बात करते है, तो फिर सभी नागरिकों को समान प्रतियोगिता का अवसर क्यों नहीं देते? सामाजिक न्याय के नाम पर हम कब तक योग्य प्रतिभा का गला घोटते रहेंगे? कब तक ये वोट की गंदी राजनीति चलती रहेगी? ।
-अजिता शर्मा, उदयपुर
...................
खत्म हो जटिलता
आरक्षण का उद्देश्य वंचित वर्गों को मुख्यधारा में शामिल करना है। इसलिए आर्थिक रूप से पिछड़े लोगों को आसानी से आर्थिक आधार पर आरक्षण दिया जाना चाहिए। इसकी जटिलता खत्म करनी चाहिए।
-वैष्णव, सवाई माधोपुर
....................
पात्र लोगों को मिले लाभ
निश्चित रूप से आर्थिक आधार पर आरक्षण देने की शर्तों में बदलाव आवश्यक है। इस मामले में व्यावहारिक बनना होगा। असली हकदारों को ही इसका लाभ मिलना चाहिए ।
-महेश आचार्य, नागौर
.....................
वार्षिक आय सीमा को घटाना आवश्यक
देश में जो प्रति व्यक्ति वार्षिक औसत आय है, वही आर्थिक आधार पर आरक्षण पात्रता की अधिकतम सीमा होनी चाहिए। अधिक से अधिक तीन लाख तक वार्षिक आय वाला ही पात्र होना चाहिए। वार्षिक आय का आकलन बैंक खातों के लेन-देन के आधार पर सुनिश्चित होना चाहिए।
-मुकेश भटनागर, भिलाई

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार हुई और तेज, आंकड़ा पहुंचा 160 करोड़ के पारपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलजम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू आया गिरफ्त मेंCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे के भीतर आए कोरोना के 12306 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 21.48%घर खरीदारों को बड़ा झटका, साल 2022 में 30% बढ़ेंगे मकान-फ्लैट के दाम, जानिए क्या है वजहfoods For Immunity: इम्युनिटी को बूस्ट करने के लिए डाइट में शामिल करें इन फूड्स कोRation Card से राशन नहीं लेने वालों पर भी होगी कार्यवाई, दूसरे के कार्ड का इस्तेमाल करने पर हो सकती है सज़ाराजस्थान में कोरोना को लेकर नई गाइडलाइन जारी,विवाह समारोह में 100 लोगों के शामिल होने की अनुमति
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.