scriptThe growing world of short films is supported by the audience | शॉर्ट फिल्मों की बड़ी होती दुनिया को दर्शकों का साथ | Patrika News

शॉर्ट फिल्मों की बड़ी होती दुनिया को दर्शकों का साथ

शॉर्ट फिल्मों के विस्तार का एक महत्त्वपूर्ण कारण सिनेमा की सस्ती होती तकनीक भी है। पहले के बड़े कैमरे रॉ स्टॉक, रेकॉर्डिंग स्टूडियो के बरक्स आज एक बेहतर डीएसएलआर कैमरे से मेमोरी कार्ड पर फिल्म शूट करने और अपने लैपटॉप पर डाउनलोडेड सॉफ्टवेयर से एडिट करने की सुविधा हमें हासिल है।

Published: June 26, 2022 08:48:09 pm

विनोद अनुपम
राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार प्राप्त कला समीक्षक

कभी शॉर्ट फिल्में किसी खास उद्देश्य से ही बनाई जाती थीं, आमतौर पर अध्ययन या प्रचार के लिए। लेकिन, बीते कुछ वर्षों में शॉर्ट फिल्में एकदम नए रूप में सामने आईं। एक सामाजिक दबाव बनाने के साधन के रूप में यूट्यूब जैसे-जैसे अपनी स्थिति सशक्त करता गया फिल्मकारों को भी इसके महत्त्व का अहसास होता गया। उन्हें लगा इस तरह के मंचों से वे भी अपने मन की बात कर सकते हैं, जो और जिस तरह कहने की इजाजत सिनेमा का बाजार नहीं देता है। आश्चर्य नहीं कि आज वे यहां अपनी तमाम विविधताओं के साथ दिखाई दे रहे हैं, 10 से 30 मिनट की इन फिल्मों में सस्पेंस भी है, हास्य और संवेदना भी है। सबसे बढ़कर हिन्दी सिनेमा से गायब हो रही कहानी को भी ये केंद्र में लाने की कोशिश करती दिखती हैं। शायद यही कारण है कि अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोहों में आज ये मुख्यधारा की फिल्मों से अधिक सम्मानित और प्रशंसित हो रही हैं।राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों के बाद अब फिल्मफेयर को भी शॉर्ट फिल्मों के लिए अवार्ड की विशेष श्रेणी बनानी पड़ी।
ऐसी ही एक विलक्षण फिल्म हाल ही में 'हॉट स्टार' पर रिलीज हुई है,'लाली'। अभिरुप बसु निर्देशित इस फिल्म में एक ही अभिनेता हैं, पंकज त्रिपाठी। बंगाल की पृष्ठभूमि में 35 मिनट की यह पूरी फिल्म एक लोकेशन और एक अभिनेता के साथ फिल्मायी गई है। बगैर एक भी संवाद के सिर्फ अपने चेहरे के बदलते इमोशन के बल पर पंकज एक व्यक्ति की इच्छाओं और अपेक्षाओं को जिस सहजता से दर्शकों तक संप्रेषित करते हैं, उससे एक फीचर फिल्म सा संतोष मिलता है। फिल्म में बैकग्राउंड संगीत के स्थान पर लोकेशन साउंड के रूप में रेडियो, लाउडस्पीकर, गाडियों, बैंड पार्टी की आवाजों का उपयोग फिल्म को एक अलग ही विशिष्टता देता है। यह बड़ी भले नहीं हो, एक संपूर्ण फिल्म अवश्य कही जा सकती है। हाल के दिनों में ही अर्पित गंगवार की 'शिकायत', रोहित सिंह की 'यक्ष', अभिनव सिंह की 'यात्री कृपया ध्यान दें', जैसी शॉर्ट फिल्म लगातार नई कहानियों, नई प्रस्तुतियों के साथ मुख्यधारा को चुनौती देते आ रही हैं। वास्तव में अमेजन, हॉट स्टार, एम एक्स प्लेयर, नेटफ्लिक्स जैसी कंपनियों के सामने आने के बाद शॉर्ट फिल्मों के आर्थिक पहलू भी सामने आने लगे हैं। आश्चर्य नहीं कि मोहन अगाशे, मनोज बाजपेयी, तापसी पन्नू, पंकज त्रिपाठी, परिणीति चोपड़ा, नवाजुद्दीन सिद्दीकी जैसे जाने-पहचाने चेहरे शॉर्ट फिल्मों में आसानी से देखे जाने लगे हैं।
शॉर्ट फिल्मों के विस्तार का एक महत्त्वपूर्ण कारण सिनेमा की सस्ती होती तकनीक भी है। पहले के बड़े कैमरे रॉ स्टॉक, रेकॉर्डिंग स्टूडियो के बरक्स आज एक बेहतर डीएसएलआर कैमरे से मेमोरी कार्ड पर फिल्म शूट करने और अपने लैपटॉप पर डाउनलोडेड सॉफ्टवेयर से एडिट करने की सुविधा हमें हासिल है।
यह वाकई सच है कि तकनीक ने सही अर्थों में सिनेमा में जनतंत्र ला दिया है, जिसे सोशल मीडिया पूर्णता दे रहा है। यह सिनेमा एक सेफ्टीवॉल्व है, जो फिल्मकारों की रचनात्मक बेचैनी शांत करता है, वहीं 'लाली' और 'पुराना प्यार' जैसी फिल्में मुख्यधारा की फिल्मों से ऊबे दर्शकों को सुकून भी देती हैं।
शॉर्ट फिल्मों की बड़ी होती दुनिया को दर्शकों का साथ
शॉर्ट फिल्मों की बड़ी होती दुनिया को दर्शकों का साथ

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Maharashtra Cabinet Expansion: कल 15 मंत्री लेंगे शपथ, देवेंद्र फडणवीस को मिलेगा गृह विभाग? जानें शिंदे कैबिनेट के संभावित मंत्रियों के नामबिहारः कांग्रेस ने बुलाई विधायकों की बैठक, नीतीश कुमार के साथ जाने पर बन सकती है सहमति!Google ने दिल्ली हाई कोर्ट को दी जानकारी, हटाए केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और उनकी बेटी के खिलाफ पोस्ट वेब लिंक'इनकी पुरानी आदत है पूरे सिस्टम पर हमला करने की', कपिल सिब्बल के बयान पर बोले कानून मंत्री किरेण रिजिजूअरविंद केजरीवाल ने कहा- देश की राजनीति में परिवारवाद और दोस्तवाद खत्म कर भारतवाद लाएंगेAmit Shah Visit To Odisha: अमित शाह बोले- ओडिशा में अच्छे दिन अनुभव कर रहे लोग, सीएम नवीन पटनायक की तारीफ भी कीAsia Cup 2022 के लिए टीम इंडिया का हुआ ऐलान, विराट कोहली-केएल राहुल की हुई वापसी'नीतीश BJP का साथ छोड़े तो हम गले लगाने को तैयार', बिहार में मचे सियासी घमासान पर बोले RJD नेता शिवानंद तिवारी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.