scriptWhat kind of reforms are necessary in the field of medical education? | आपकी बात, मेडिकल शिक्षा के क्षेत्र में किस तरह के सुधार जरूरी हैं? | Patrika News

आपकी बात, मेडिकल शिक्षा के क्षेत्र में किस तरह के सुधार जरूरी हैं?

पत्रिकायन में सवाल पूछा गया था। पाठकों की मिलीजुली प्रतिक्रियाएं आईं, पेश हैं चुनिंदा प्रतिक्रियाएं।

Published: May 11, 2022 04:18:53 pm

मेडिकल कॉलेजों की संख्या बढ़े, फीस कम हो
हमारे देश में मेडिकल शिक्षा बहुत महंगी है। सरकारी मेडिकल कॉलेजों में सीट कम होने के कारण बहुत से छात्रों को प्रवेश नहीं मिल पाता है। प्राइवेट मेडिकल कॉलेज में बहुत ज्यादा फीस होती है। भारत की तुलना में दूसरे कई देशों में मेडिकल शिक्षा सस्ती होने के कारण बहुत से छात्र-छात्राएं वहां से मेडिकल शिक्षण प्राप्त कर भारत आते हंै। इसलिए देश में मेडिकल शिक्षा मे सुधार लाना बहुत जरूरी है। सरकार को नए मेडिकल कॉलेज बनाने चाहिए। निजी मेडिकल कॉलेज में फीस कम करनी होगी।
-नीलिमा जैन, उदयपुर
................
आपकी बात, मेडिकल शिक्षा के क्षेत्र में किस तरह के सुधार जरूरी है?
आपकी बात, मेडिकल शिक्षा के क्षेत्र में किस तरह के सुधार जरूरी है?
मेडिकल कॉलेजों में भी संसाधन भी उपलब्ध कराएं
मेडिकल कॉलेजों की संख्या कम होने से बड़ी संख्या में छात्रों को मेडिकल की पढ़ाई के लिए दूसरे देशों में जाना पड़ता है। बेहतर तो यह है कि भारत में मेडिकल कॉलेजों की संख्या बढ़ाई जाए। नए मेडिकल कॉलेजों में भी पूरे संसाधन किए जाएं।
-वन्दना दीक्षित, बूंदी
.......................
धन के बल पर बन जाते हैं डॉक्टर
मेडिकल शिक्षा की सबसे बड़ी बाधा इसमें होने वाला खर्च है। धन की कमी के कारण कई योग्य प्रतिभाशाली छात्र मेडिकल कॉलेज में दाखिला नहीं ले पाते। धनी लोग पैसा देकर मेडिकल कॉलेज में प्रवेश पाने में सफल हो जाते हैं। बाद में वे खर्च किए गए पैसे की वसूली के लिए कुछ भी करने के लिए तैयार हो जाते हैं।
-प्रदीप अरोड़ा, जयपुर
.............
रोका जाए डोनेशन
मेडिकल शिक्षा के क्षेत्र में बदलाव जरूरी हैं। मेडिकल शिक्षा सभी प्रतिभाशाली विद्यार्थियों की पहुंच में होनी चाहिए। सीटें ज्यादा हों ,ताकि अधिक बच्चों तक गुणवत्ता पूर्ण मेडिकल शिक्षा पहुंच सके। डोनेशन को रोकने पर ध्यान दिया जाए।
-रुचिका अरोड़ा, चूरू
................
शोध कार्यों को प्रोत्साहन मिले
चिकित्सा के क्षेत्र में रोग ठीक करने के लिए अनेक तरह की पद्धतियां प्रचलित हंै। इसलिए प्रत्येक पद्धति में नए-नए शोध कार्यों को प्रोत्साहित किया जाना चाहिए। साथ ही चिकित्सा शिक्षा को सस्ती दर पर उपलब्ध करवाया जाना चाहिए, क्योंकि वर्तमान समय में चिकित्सा शिक्षा में निजी महाविद्यालयों की भरमार हो गई है और यहां शिक्षा महंगी पड़ती है।
-विवेक नंदवाना, कोटा
...................
निजी कॉलेजों पर अंकुश जरूरी
मेडिकल कॉलेजों की फीस कम होनी चाहिए, ताकि छात्रों को मेडिकल शिक्षा के लिए विदेश न जाना पड़े। सभी राज्यों में ज्यादा से ज्यादा मेडिकल कॉलेज खोले जाने चाहिए। निजी कॉलेजों की मनमानी पर अंकुश लगाया जाना चाहिए।
-रजनी वर्मा, श्रीगंगानगर
...............
सस्ती की जाए मेडिकल शिक्षा
मेडिकल शिक्षा सस्ती हो। जनरल फिजिशियन की संख्या ज्यादा हो, ताकि सामान्य बीमारी के लिए सरलता से डॉक्टर उपलब्ध हों और कम खर्च में लोग अपना इलाज करा सकें। अनेक लोग सिर्फ महंगे इलाज के कारण नीम हकीमों के चक्कर में पड़ जाते हैं।
-राजेश सराफ, जबलपुर
...................

गांवों में मेडिकल कॉलेज खोले जाएं
देश में सैकड़ों मेडिकल कॉलेज हैं, लेकिन ये गांवों से बहुत दूर हैं। गांवों में भी मेडिकल कॉलेज खोले जाने चाहिए और वहां योग्य शिक्षकों की नियुक्ति होनी चाहिए। इससे गांव के लोगों को भी लाभ होगा।
-विभा गुप्ता, बैंगलुरु
.............
गुणवत्ता में सुधार की जरूरत
देश में चिकित्सा शिक्षा संस्थानों की संख्या बढऩी चाहिए, जो सरकारी एवं सुलभ हों, ताकि इनमेंं निर्धन बच्चों को आसानी से प्रवेश मिल जाए। शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार हो।
प्रहलाद यादव, महू,मध्यप्रदेश
..........
अपेक्षित बदलाव
कोरोना महामारी के कारण चिकित्सा शिक्षा के स्वरूप में भी बदलाव अपेक्षित है। ई - लर्निंग यानी दूरस्थ शिक्षण से सीखने और एक दूसरे से आपस में जुडऩे को बढ़ावा मिलने के मौके पैदा हो रहे हैं। उन्नत डिजिटल शिक्षा तकनीक, शिक्षकों और छात्रों के विकास में सहायक बनेगी। ई - लर्निंग के सहारे, समाधान जल्द होने के साथ शिक्षा के प्रति दृष्टिकोण में बदलाव लाए जा सकते हैं। पाठ्य सामग्री को डिजिटल माध्यम से उपलब्ध करवाया जा सकता है।
-नरेश कानूनगो, देवास, मध्यप्रदेश

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

यहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतियूपी में घर बनवाना हुआ आसान, सस्ती हुई सीमेंट, स्टील के दाम भी धड़ामName Astrology: पिता के लिए भाग्यशाली होती हैं इन नाम की लड़कियां, कहलाती हैं 'पापा की परी'इन 4 राशियों के लड़के अपनी लाइफ पार्टनर को रखते हैं बेहद खुश, Best Husband होते हैं साबितजून में इन 4 राशि वालों के करियर को मिलेगी नई दिशा, प्रमोशन और तरक्की के जबरदस्त आसारमस्तमौला होते हैं इन 4 बर्थ डेट वाले लोग, खुलकर जीते हैं अपनी जिंदगी, धन की नहीं होती कमी1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्ससंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजर

बड़ी खबरें

पंजाब CM भगवंत मान ने स्वास्थ्य मंत्री को भ्रष्टाचार के आरोप में किया बर्खास्त, मामला दर्जकहां रहता है मोस्ट वांटेड दाऊद इब्राहिम? भांजे अलीशाह ने ED के सामने किया खुलासाकांग्रेस की Task Force-2024 और पॉलिटिकल अफेयर्स कमिटी का ऐलान, जानिए सोनिया गांधी ने किन को दिया मौकापाकिस्तान ने भेजी है विषकन्या: राजस्थान इंटेलिजेंस ने सेना को तस्वीरें भेज कर किया अलर्टकुतुब मीनार केसः साकेत कोर्ट में दोनों पक्षों की दलीलें पूरी, 9 जून को अदालत सुनाएगी फैसलाPooja Singhal Case: झारखंड की 6 और बिहार के मुजफ्फरपुर में ED की एक साथ छापेमारी, अहम सुराग मिलने की उम्मीदश्रीलंका में फिर बढ़ी पेट्रोल-डीजल की कीमत, पेट्रोल 420 तो डीजल 400 रुपए प्रति लीटरकर्नाटक के पूर्व सीएम सिद्धारमैया का विवादित बयान, 'मैं हिंदू हूं, चाहूं तो बीफ खा सकता हूं..'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.