scriptWhat should India do to deal with China's threat? | आज का सवाल: भारत चीन के खतरे से निपटने के लिए क्या करे ? | Patrika News

आज का सवाल: भारत चीन के खतरे से निपटने के लिए क्या करे ?

पत्रिकायन में सवाल पूछा गया था। पाठकों की मिलीजुली प्रतिक्रियाएं आईं, पेश हैं चुनिंदा प्रतिक्रियाएं।

Published: May 18, 2022 04:27:03 pm

आर्थिक घरेबंदी जरूरी
चीन जिस भाषा को समझता है उसी में उसे समझाना होगा। चीन की आर्थिक घेरेबंदी से पीड़ित और प्रताड़ित हर देश को चीन के खिलाफ खड़ा करना उसकी कमर तोडऩे के समान होगा।
आज का सवाल: भारत चीन के खतरे से निपटने के लिए क्या करे ?
आज का सवाल: भारत चीन के खतरे से निपटने के लिए क्या करे ?
-माधव सिंह, श्रीमाधोपुर

.............

टिकाऊ ढांचा जरूरी
भारत को सुरक्षा चिंताओं को गंभीरता से लेने के लिए प्रतिबद्ध रहना चाहिए। सुरक्षा का संतुलित, प्रभावी, और टिकाऊ ढांचा का निर्माण करना चाहिए।

-उपेंद्र मिश्रा, जयपुर
...................

जरूरी हैं आधुनिक हथियार

सेना को आधुनिकतम हथियार और उपकरण देने के साथ ही सीमा की सुरक्षा के लिए आवश्यक इंफ्रास्ट्रक्चर मजबूत करना होगा। आर्थिक मोर्चे पर चीन से टक्कर लेने के लिए अवसर की पहचान कर लपकना होगा। चीन के आसपास के देशों से कूटनीतिक सम्बन्ध मजबूत करने होंगे। हम सामरिक दृष्टि से सक्षम देशों के संगठन में शामिल हो सकते हैं।
-भुवनेश्वर प्रसाद, जोधपुर

....................

जवाब दिया जाए
भारत को न केवल सीमा सुरक्षा पर ध्यान देना है, वरन चीन की वैश्विक सुरक्षा पहल के जवाब में क्वाड के विस्तार पर ध्यान देना चाहिए।
-कन्हैया जांगू , चूरू

.....................
पड़ोसी देशों से अच्छे संबंध बनाए जाएं
चीन के खतरे से निपटने के लिए भारत को अपने सभी पड़ोसी देशों के साथ संबंधों को मजबूत करना चाहिए। सीमा पर एडवांस्ड टेक्नोलॉजी वाले उपकरणों का इस्तेमाल करना चाहिए। भारत को अपने देश की अर्थव्यवस्था को नियंत्रित करना चाहिए। आयात को कम करना चाहिए जिससे देश का पैसा देश में ही रहे।
-मोहित सोलंकी, जोधपुर

................

सैन्य ताकत में वृद्धि जरूरी
चीन के खतरे से बचने के लिए बहुआयामी योजनाओं पर काम करना होगा। अपनी सैन्य ताकत में वृद्धि के साथ ही आत्मनिर्भरता में वृद्धि पर ध्यान दिया जाए।
-शिव नारायण आर्य , देवास, मप्र

................

आत्मनिर्भर होना है जरूरी भारत को चीन के खतरे से बचने के लिए पूर्णत: आत्मनिर्भर होने की जरूरत है। हालत यह है कि चीन का भारत के बाजार पर कब्जा हो गया है। भारतीय बाजार में तकनीकी उपकरण भी चीन के नजर आते हैं। यह भारत केे लिए बडा़ खतरा है।
ज्योति गिरि, रायपुर

...............

भारत दिखाए साहस

चीन के खतरे से निपटना आवश्यक है। राजनीति और कूटनीति में शठे शाठ्यं समाचरेत् की नीति जरूरी है। भारत यात्रा के दौरान चीन के राष्ट्रपति का स्वागत, झूला झूलना सदाशयता का प्रतीक था, लेकिन उन्होंने इसे कमजोरी मान लिया। इसलिए भारत को चीन के खतरे से निपटने के लिए साहस दिखाना चाहिए।
नरसाराम फलवाडिया, सुजानगढ़

................

स्वदेशी पर रहे जोर
भारत-चीन के बीच बिगड़े संबंधों ने सीमा-विवाद के साथ, अन्य आयामों पर भी असर डाला है। ये सब बातें भारत के लिए खतरा बनी हुई हैं। भारत में चीन में निर्मित बहुत सी सामग्रियों का आयात होता है। इन्हें देश में ही निर्माण कर नए उद्योगों को प्रोत्साहित किया जाना चाहिए।
-नरेश कानूनगो, देवास, मध्यप्रदेश

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

जम्मू-कश्मीर: अमरनाथ यात्रा के बीच अनंतनाग में आतंकी हमला, आतंकियों ने पुलिसकर्मी को मारी गोलीकोपनहेगन के शॉपिंग मॉल में ताबड़तोड़ फायरिंग, 7 लोगों की मौत, कई घायलसीढ़ियां से उतरने के दौरान गिरे राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव, कंधे की हड्डी टूटीदिल्ली और पंजाब में दी जा रही मुफ्त बिजली, गुजरात में क्यों नहीं?: केजरीवालहैदराबाद में बोले PM मोदी- 'तेलंगाना में भी जनता चाहती है डबल इंजन की सरकार, जनता खुद ही बीजेपी के लिए रास्ता बना रही'पीएम मोदी ने लंबे समय तक शासन करने वाली पार्टियों का मजाक उड़ाने के खिलाफ चेताया, कहा - 'मजाक मत उड़ाएं, उनकी गलतियों से सीखें'IND vs ENG: पुजारा के पचासे की बदौलत इंग्लैंड पर बढ़त 257 रनों की, तीसरा दिन रहा भारत के नामRajasthan: वाहन स्क्रैपिंग सेंटर के लिए एक एकड़ जमीन जरूरी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.