scriptWhat will be the effect of linking Aadhaar with voter card? | आपकी बात, मतदाता कार्ड से आधार जोड़ने का क्या असर होगा? | Patrika News

आपकी बात, मतदाता कार्ड से आधार जोड़ने का क्या असर होगा?

पत्रिकायन में सवाल पूछा गया था। पाठकों की मिलीजुली प्रतिक्रियाएं आईं, पेश हैं चुनिंदा प्रतिक्रियाएं।

Published: December 27, 2021 04:50:04 pm

एक नाम कई जगह होने की समस्या का हल
एक ही व्यक्ति का नाम विभिन्न स्थानों की मतदाता सूचियों में दर्ज होने की समस्या का समाधान होगा। काफी हद तक सूची को ठीक करने में मदद मिलेगी। जिन मतदाताओं के नाम एक से अधिक स्थानों पर मतदाता सूची में या एक ही मतदाता सूची में एक से अधिक बार हैं, उन्हें हटाया जा सकता है। इससे डुप्लीकेट मतदाता पहचान पत्र गायब हो जाएंगे। विदेशी घुसपैठियों को पकड़ने में मदद मिलेगी।
-राजेन्द्र कुमावत, जयपुर
...............
आपकी बात, मतदाता कार्ड से आधार जोड़ने का क्या असर होगा?
आपकी बात, मतदाता कार्ड से आधार जोड़ने का क्या असर होगा?
रुकेगा फर्जी मतदान
मतदाता कार्ड को आधार कार्ड से जोड़ने पर मतदाता सूची में दोहराव और फर्जी मतदान रोकने का काम होगा। दोनों कार्डों का आपस में लिंक होने से फर्जीवाड़ा रोकने में सहायता मिलेगी।
- राधे सुथार भादसोड़ा, चित्तौडग़ढ़
................
सुधार के लिए कदम
मतदाता कार्ड से आधार जोड़ना सही कदम है। चुनाव प्रक्रिया में समय-समय पर सुधार के नए कदम उठाए जाते है । इसी शृंखला में मतदाता कार्ड से आधार कार्ड जोड़ना एक उचित और सटीक कदम है, जिससे कोई भी मतदाता एक से अधिक मतदाता कार्ड नहीं रख पाएगा। फर्जी मतदान पर भी अंकुश लग पाएगा।
-गणपत लाल पंवार, पाली
......................
पात्र लोगों के नाम ही नहीं
वोटर लिस्ट अभी अद्यतन नहीं है। कई स्थानीय निवासियों के नाम अब भी विभिन्न खामियों के कारण वोटर लिस्ट में दर्ज नहीं हो पाए हैं। कई दशकों तक अपने ही क्षेत्र में रहने वाले लोगों के नाम वोटर लिस्ट में अभी तक शामिल नहीं हो पाए हैं। सरकार पहले वोटर लिस्ट को दुरुस्त करे, तब मतदाता कार्ड को आधार से लिंक करे, तो बेहतर है।
-सतीश उपाध्याय, मनेंद्रगढ़ कोरिया, छत्तीसगढ़
....................
जरूरी है पारदर्शिता
चुनाव की सफलता उसकी निष्पक्षता और पारदर्शिता में ही है। अगर मतदाता कार्ड आधार से जोड़ने से फायदा है, तो कोई बुराई नहीं। वैसे भी फोटोयुक्त मतदाता पहचान पत्र से चुनाव प्रक्रिया में काफी सुधार हो चुका है।
-साजिद अली, इंदौर
................
फर्जी नाम हटाना आसान
मतदाता कार्ड आधार से लिंक होने से कितने मतदाता वास्तविक रूप से किसी बूथ पर हैं , इसका स्पष्ट पता चल जाएगा। फर्जी नाम आसानी से हटाए जा सकेंगे। इसलिए मतदाता सूची को आधार से जोड़ना बहुत ही जरूरी है ।
-मदन लाल रैगर
............................
उचित कदम
मतदाता कार्ड से आधार जोड़ने से चुनाव के दौरान फर्जीवाड़ा में बहुत अधिक कमी आएगी। सरकार जो योजना जनता को लाभान्वित करने के लिए बनाती है, उसमें भी भ्रष्टाचार पर अंकुश लगेगा। निवास स्थान बदलने के बावजूद भी कई बार वोटर आइडी कार्ड बना ही रह जाता है। इससे फर्जी वोटिंग की आशंका रहती है। फर्जीवाड़े को रोकने के लिए आधार कार्ड को मतदाता पहचान पत्र से जोड़ना उचित कदम है।
-मधु भूतड़ा, जयपुर
.............................
नहीं होगी परेशानी
मतदाता कार्ड को आधार से जोड़ने से उन लोगों को कोई परेशानी नहीं होगी, जो ईमानदारी से अपने मताधिकार का प्रयोग करते हैं। उन लोगों तथा उन पार्टियों को नुकसान होगा, जो फर्जी मतदान के सहारे अपने उम्मीदवार को जिताने का प्रयास करते हंै।
-सुरेन्द्र कुमार त्रिपाठी, रतलाम, मप्र
...............................
चुनाव में पारदर्शिता
मतदाता कार्ड से आधार जोड़ने से चुनाव में पारदर्शिता रहेगी और फर्जी तरीके से वोट डालने वालों की तत्काल पहचान की जा सकेगी और उन्हें वोट देने से रोका जा सकेगा।
-आलोक वालिम्बे, बिलासपुर, छत्तीसगढ़
.....................
निष्पक्ष चुनाव की गारंटी
सरकार द्वारा मतदाता कार्ड से आधार जोड़ने का असर बहुत ही अच्छा होगा। इससे निष्पक्ष चुनाव की गारंटी होगी। साथ ही फर्जी वोटिंग नहीं होगी। वोटर लिस्ट से जो नाम बार-बार गायब हो जाते हैं, उन समस्याओं से निजात मिलेगी। वोटर लिस्ट पारदर्शी बनेगी तथा मतदाता से ज्यादा वोटर कार्ड नहीं बना पाएंगे।
-सुरेंद्र बिंदल, जयपुर
..................
उपयोगी और लाभकारी
निश्चित रूप से आधार को मतदाता कार्ड से जोड़ना उपयोगी एवं लाभकारी सिद्ध होगा। एक तो फर्जी मतदान रोकेगा, साथ ही मतदाता सूची में दोहराव की स्थिति उत्पन्न नहीं होगी। इससे आम आदमी को सुविधा होगी।
महेश आचार्य, नागौर
........................
नहीं होगा फर्जी मतदान
आज भी फर्जी मतदाता कार्ड और फर्जी आधार कार्ड अस्तित्व में हैं। मिलीभगत से अवैध घुसपैठियों के भी आधार कार्ड बने हुए हैं। दोनों कार्डों को लिंक करने से फर्जी वोटर कार्ड या फर्जी आधार कार्डों के रहस्य खुल जाएंगे।
-मुकेश भटनागर, भिलाई
...................
निष्पक्ष चुनाव होगा
देश में डुप्लीकेट वोटर कार्ड बनाने वालों की संख्या बहुत ज्यादा है। एक ही व्यक्ति के पास अलग-अलग नामों से कई वोटर कार्ड हैं। मतदाता कार्ड से आधार को जोड़ देने से तुरन्त उस व्यक्ति की पूरी जानकारी मिल जाने से निष्पक्ष चुनाव होगा। लोग अपने कीमती मत का सही उपयोग कर सकेंगे। डुप्लीकेट वोटर कार्ड बनाने वालों पर भी नकेल कसी जाएगी।
-विभा गुप्ता, बैंगलुरु

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Maharashtra Nagar Panchayat Election Result: 106 नगरपंचायतों के चुनावों की वोटों की गिनती जारी, कई दिग्‍गजों की प्रतिष्‍ठा दांव परOBC Reservation: ओबीसी राजनीतिक आरक्षण पर आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, आ सकता है बड़ा फैसलाUP Election 2022: यूपी चुनाव से पहले मुलायम कुनबे में सेंध, अपर्णा यादव ने ज्वाइन की बीजेपीकेशव मौर्य की चुनौती स्वीकार, अखिलेश पहली बार लड़ेंगे विधानसभा चुनाव, आजमगढ के गोपालपुर से ठोकेंगे तालकोरोना के नए मामलों में भारी उछाल, 24 घंटे में 2.82 लाख से ज्यादा केस, 441 ने तोड़ा दमCameron Boyce ने BBL में रचा इतिहास, 4 गेंद में 4 बल्लेबाजों को किया आउटखत्म हुआ इंतज़ार! आ गया Tata Tiago और Tigor का नया CNG अवतार शानदार माइलेज के साथकोरोना का कहर : सुप्रीम कोर्ट के 10 जज कोविड पॉजिटिव, महाराष्ट्र में 499 पुलिसकर्मी भी संक्रमित
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.