scriptWhat will be the impact of virtual campaigning in elections? | आपकी बात, चुनावों में वर्चुअल प्रचार का क्या असर होगा? | Patrika News

आपकी बात, चुनावों में वर्चुअल प्रचार का क्या असर होगा?

पत्रिकायन में सवाल पूछा गया था। पाठकों की मिलीजुली प्रतिक्रियाएं आईं, पेश हैं चुनिंदा प्रतिक्रियाएं।

Published: January 11, 2022 05:26:43 pm

असरदार कदम
अभी कोरोना का इतना असर हो रहा है कि चुनावी रैलियां कोरोना विस्फोट का कारण बन सकती हैं। जब स्कूल और दूसरी अनेक संस्थाएं वर्चुअल मोड पर चल रही हैं, तो चुनाव प्रचार वर्चुअल क्यों नहीं हो सकता? मतदाता अपनी समस्याओं का समाधान चाहता है। प्रचार के मोड से विशेष मतलब नहीं है। ग्रामीण क्षेत्रों में ,जहां कोरोना के जीरो केस हों, वहां सोशल डिस्टेंसिंग रख कर प्रचार की अनुमति दी जा सकती है। बाकी सभी जगह रैलियों को वर्चुअल करने के लिए चुनाव आयोग को तुरंत कदम उठाने होंगे, ताकि तीसरी लहर की भयावहता को कम किया जा सके।
-मधुरा व्यास, उदयपुर
.................................
आपकी बात, चुनावों में वर्चुअल प्रचार का क्या असर होगा?
आपकी बात, चुनावों में वर्चुअल प्रचार का क्या असर होगा?
उम्मीदवार को लाभ मिलेगा
वर्चुअल प्रचार से उम्मीदवारों को ज्यादा लाभ मिलेगा। रैली व आम सभा में सीमित संख्या तक ही लोग आ पाते हैं। आजकल हर हाथ में मोबाइल है, तो समर्थक अधिक से अधिक पोस्ट करेंगे। प्रचार-प्रसार की चेन बनती जाएगी। इसका लाभ उम्मीदवार को मिलेगा।
-लता अग्रवाल चित्तौडग़ढ़
............................
डिजिटल प्रचार ही ठीक
पांच राज्यों में चुनाव ऐसे समय हो रहे हैं, जब कोरोना तेजी से फैल रहा है। ऐसे में जरूरी है कि चुनाव प्रचार में भीड़ न हो। इसके लिए डिजिटल प्रचार किया जाना चाहिए। वर्चुअल रैलियां प्रचार का अच्छा माध्यम हो सकती हंै। छोटे दलों का भी ध्यान रखा जाए।
-साजिद अली चंदन नगर इंदौर
.................
भीड़ रोकना जरूरी
वर्चुअल प्रचार बेहद ही उम्दा विचार है। कोरोना की तीसरी लहर से बचने के लिए भीड़ को रोकना आवश्यक है। यह अलग बात है कि कुछ राजनीतिक दलों को इसका फायदा मिलेगा।
- पवन कुमावत, जयपुर
.................

किसी को फायदा, किसी को नुकसान
जिन दलों ने पहले से ऑनलाइन प्रचार में अपनी पकड़ बना रखी है, आइटी सेल विकसित कर रखे हैं, उन्हें इन चुनावों में फायदा होगा। दूसरी तरफ जिन्होंने डिजिटल कनेक्टिविटी का सहारा नहीं लिया वे मुश्किल में पड़ेंगे।
सिद्धार्थ शर्मा, गरियाबंद, छत्तीसगढ़
.....................
मिलेगा सकारात्मक संदेश
महामारी के इस दौर में बिना खतरा मोल लिए वर्चुअल प्रचार के माध्यम से राजनीतिक दल और नेतागण जनता के सामने अपनी बात रख सकते हैं। इससे जनता में सकारात्मक संदेश जाएगा।
अनमोल तिवारी, रायपुर
................................
सभी हैं परिचित
ज्यादातर राजनीतिक दल पहले से ही ऑनलाइन प्रचार भी कर रहे हैं। इसलिए अब वर्चुअल प्लेटफॉर्म किसी के लिए भी नया नहीं है। चुनाव में वर्चुअल प्रचार बहुत अच्छा माध्यम है। ऑफलाइन की तुलना में ऑनलाइन द्वारा हर जानकारी अति शीघ्र अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचती है। हां, फर्जी संदेशों से बचा जाना चाहिए।
-मधु भूतड़ा, जयपुर
...................
जनता की रुचि नहीं
यूं भी नेताओं की रैलियों और भाषणों में आम लोगों की कोई रुचि नहीं होती। अधिकांश सभाओं और रैलियों को सफल बनाने के लिए लोगों को जबरन और लालच देकर राजनीतिक पार्टियां बुलाती हैं। ऐसी हालत में वर्चुअल प्रचार में आम जनता दिलचस्पी क्यों लेगी?
-शकुंतला महेश नेनावा, इंदौर, मध्य प्रदेश
...............
जरूरी है भीड़ को रोकना
भारत में पहली बार ऐसा देखने को मिल रहा है जहां चुनावी रैलियों पर रोक लगा कर वर्चुअल माध्यम से चुनाव प्रचार पर जोर दिया जा रहा है। चुनाव आयोग ने कहा है कि 15 जनवरी तक रैलियों पर रोक रहेगी और वर्चुअल रैलियों के निर्देश दिए गए। कोरोना वायरस को रोकने के लिए भीड़ को रोकना जरूरी है।
-सुमन जीनगर बदनोर , भीलवाड़ा
........................
सोशल मीडिया से मिलेगी मदद
चुनावो में वर्चुअल प्रचार से जहां एक ओर कोरोना के प्रसार पर पाबंदी लगेगी, तो दूसरी ओर डिजिटल तकनीक का उपयोग हो सकेगा। फेसबुक, इंस्टाग्राम, ट्विटर व अन्य साइट्स के माध्यम से राजनीतिक दल प्रचार कर सकेंगे। अभी का समय न तो पदयात्रा का है, न ही जान सभाओं का और न ही शक्ति प्रदर्शन का है।
-खुशवंत कुमार हिंडोनिया, चित्तौडग़ढ़

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

हार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैंधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजप्रदेश में कल से छाएगा घना कोहरा और शीतलहर-जारी हुआ येलो अलर्टEye Donation- बेटी को जन्म दे, चल बसी मां, लेकिन जाते-जाते दो नेत्रहीनों को दे गई रोशनीयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

विश्व के सबसे लोकप्रिय नेता बने PM Modi, ग्लोबल सर्वे में बाइडेन और ट्रूडो जैसे दिग्गजों को पछाड़ाCorona Update: कोरोना ने बनाया नया रिकॉर्ड, 24 घंटे में 3 लाख 47 हजार नए केस, 2.51 लाख रिकवरदिल्ली में घटते कोरोना मामलों के बीच वीकेंड कर्फ्यू हटाने का फैसला, CM अरविन्द केजरीवाल ने उपराज्यपाल को भेजा पत्र50 साल से जल रही ‘अमर जवान ज्योति’ आज से इंडिया गेट पर नहीं, राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर जलेगीT20 World Cup: टीम इंडिया का पूरा शेड्यूल, जानें कब और किस टीम से होगा मुकाबलाकेरल में एक दिन में सामने आए 46 हजार नए मामले, अब लगेगा कम्प्लीट लॉकडाउनप्रधानमंत्री 5 फरवरी को हैदराबाद में रामानुजाचार्य की 216 फुट ऊंची प्रतिमा का करेंगे अनावरण, 120 किलो सोने से बनी है ये प्रतिमातीन तलाक मामला-फोन पर बोला और तोड़ दिया रिश्ता
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.