आपकी बात, पानी निकासी की समुचित व्यवस्था क्यों नहीं होती?

पत्रिकायन में सवाल पूछा गया था। पाठकों की मिलीजुली प्रतिक्रियाएं आईं, पेश हैं चुनिंदा प्रतिक्रियाएं।

By: Gyan Chand Patni

Published: 04 Oct 2021, 06:42 PM IST

प्रशासन के साथ जनता भी जिम्मेदार
पानी निकासी के लिए समुचित व्यवस्था न हो पाने के लिए प्रशासन के साथ जनता भी जिम्मेदार है, क्योंकि अतिक्रमण के कारण भी पानी निकासी की समस्या आती है। साथ ही प्रशासन भी इसे अनदेखा कर देता है, जिसका खामियाजा सभी को भुगतना पड़ता है
-बिहारी लाल बालान, लक्ष्मणगढ, सीकर
........................

अतिक्रमण बना समस्या
लोग अतिक्रमण करके रास्ते को संकड़ा करते जाते हैं और पानी निकासी का विशेष ध्यान नहीं रखते। इससे आम रास्तों तथा घर के आगे कीचड़ बना रहता है। यह वाहन चालकों व आम लोगों के लिए परेशानी कारण बनता है। पानी के इक_ा होने से मच्छर पनपेंगे। इससे डेंगू तथा मलेरिया जैसी घातक बीमारी का सामना करना पड़ सकता है।
-आशीष पचार, चिड़ावा, झुंझुनूं
..........................

नहीं दिया जाता ध्यान
पानी निकासी की समुचित व्यवस्था नहीं होती और पानी सड़कों पर फैलता रहता है। सड़क निर्माण के पहले पानी निकासी के लिए व्यवस्थित पाइप लाइन बिछाई जाए। भवन निर्माण की स्वीकृति के समय पानी निकासी की व्यवस्था भी देखी जाए।
-सतीश उपाध्याय, मनेंद्रगढ़ कोरिया, छत्तीसगढ़
..............................

नहीं होती सफाई
सड़कों पर पानी भर जाने की परेशानी को देश के सभी बड़े शहरवासी झेल रहें हैं। पॉलिथीन सहित अन्य प्रकार के कचरों से नालियों में पानी का निकास अवरुद्ध हो जाता है। नालियों पर छोटी-बड़ी दुकानों का अतिक्रमण होने से नियमित रूप से उनकी सफाई नहीं हो पाती है। प्रतिवर्ष ड्रेनेज सिस्टम के रख-रखाव, और सफाई करवाने का टेंडर पास होता है, लेकिन काम कागजी होता है।
-विभा गुप्ता, बैंगलूरु
...........................

प्रबंधन की अनदेखी
प्राय: बस्तियां बनाते समय पानी की निकासी की समस्या को नजरअंदाज किया जाता है। कई बार जल्दबाजी में नालों के ऊपर ही बस्तियों के निर्माण कर दिया जाता है। इसकी पोल तब खुलती है जब बारिश के दौरान जगह जगह पानी भर जाता है। जल निकासी के लिए जगह ही नहीं बचती। दूसरी ओर कई स्थानों पर मकान बहुत ही पास-पास बने होते हैं। गालियां भी बहुत तंग होती है तथा जल निकासी के भी पुख्ता इंतजाम नहीं होते। इसलिए थोड़ी सी बारिश में ही बस्ती जलमग्न हो जाती हैं। इन सभी समस्याओं से निजात पाने के लिए स्थानीय निकाय को शहरी प्रबंधन की ओर अधिक ध्यान देना चाहिए।
- अजिता शर्मा, उदयपुर
..........................

ठेके पर होते हैं काम
पानी निकासी की समुचित व्यवस्था इसलिए नहीं हो पाती कि ऐसे काम ठेके पर दिए जाते हैं। काम का निरीक्षण नहीं होता। इसलिए जब बारिश होती है तो हर जगह पानी भरने की समस्या होती है। स्थानीय कर्मचारियों के सही निरीक्षण नहीं करने के कारण यह समस्या होती है।
कमलेश राजपुरोहित, इंद्राणा
.................................

अधिकारियों की लापरवाही
पानी निकासी की समुचित व्यवस्था नहीं होने का कारण संबंधित विभाग के अधिकारी की लापरवाही होती है। जब भी नालों की सफाई या पानी की निकासी से संबंधित कोई भी टेंडर पास होता है, तो संबंधित अधिकारियों को एक तय राशि रिश्वत के रूप में दे दी जाती है। फिर ठेकेदार काम के नाम पर खानापूर्ति करता है।
-लता अग्रवाल, चित्तौडग़ढ़
.................................

नाले-नालियों की सफाई नहीं
नाले-नालियों में दुकानदार और निवासी कचरा फेंक कर जाम करते रहते हैं। निगमों के कर्मचारी इस सत्य को जानते हुए भी नाले-नालियों की सफाई नहीं करते। स्थानीय पार्षदों, विधायकों और सांसदों का ध्यान बस्तियों में जलजमाव के बाद ही जाता है। भूमिगत जल निकासी तंत्र दिखता नहीं। कर्मचारियों को समय पर सफाई का विचार सूझता नहीं।
-मुकेश भटनागर, वैशालीनगर, भिलाई
......................................

कॉलोनियों की अनियोजित बसावट
-कॉलोनियों की अनियोजित बसावट के कारण पानी की सही ढंग से निकासी नहीं होती। पक्की नालियों का अभाव और अतिक्रमण पानी की समुचित व्यवस्था में बाधक है।
- राजेंद्र बांगड़ा, जायल
.......................

ऊंची सड़कों ने बढ़ाई समस्या
शहरों के बेतरतीब विकास के दौरान पानी निकासी पर ध्यान नहीं दिया गया। यह बात अब सामान्य रूप से सभी जानते हैं, पर अब पानी की निकासी नहीं होने का एक बड़ा कारण यह भी बनता जा रहा है कि शहरों में सड़कों के ऊपर सड़कें बन रही हैं। यही नहीं शहरों के बाहर चारों तरफ बड़े- बड़े हाईवे बनते जा रहे हंै, जो जमीन से काफी ऊंचे होते हैं। शहरों में तो ऊंची सड़कों के कारण सीमित हुई जगहों में भी सीमेंट कंक्रीट के जाल ने पानी जमीन में जाने की जगह ही खत्म कर दी और ना निकासी के पर्याप्त उपाय हंै।
-संजय पाटोदी, कोटा

Gyan Chand Patni
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned