scriptआपकी बात…राजनीति में सुधार कैसे हो सकता है? | Patrika News
ओपिनियन

आपकी बात…राजनीति में सुधार कैसे हो सकता है?

पाठकों की मिलीजुली प्रतिक्रियाएं मिलीं, पेश है चुनींदा प्रतिक्रियाएं…

जयपुरMay 12, 2024 / 04:15 pm

विकास माथुर

Lok Sabha election

Lok Sabha election

स्वच्छ छवि के प्रत्याशी को ही टिकट दे पार्टी
राजनिति में सुधार के लिए राजनीतिक पार्टी को स्वच्छ छवि के व्यक्ति को ही टिकिट देना चाहिए। आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों को टिकट देने से बचना चाहिए। ऐसा व्यक्ति सत्ता मिलने पर समाज व देश का नुकसान करेगा व अपनी जेबें भरेगा। स्वच्छ छवि के सदन में आने पर वह लोगों की भलाई के बारे में सोचेगा व गलत काम करने से डरेगा।
— अजीतसिंह सिसोदिया, खारा, बीकानेर
……………………………………………………..
दलबदल पर लगे अंकुश
लोकतंत्र में राजनीति अपनी राह भटक चुकी है। राजनीति सेवा का नहीं मेवा कमाने का साधन बन गई है। इसके लिए राजनीति का अपराधी करण रोकना होगा। दलबदल पर पर अंकुश लगाना जरूरी है। धनबल बाहुबल पर नियंत्रण करना भी आवश्यक है। किसी पार्टी से टिकट न मिलने पर प्रत्याशी पार्टी बदल लेता है। वहीं दूसरी पार्टी उसे तुरंत अपनी पार्टी में शामिल कर लेती है। उसे उसमें जीत की संभावनाएं नजर आती हैं। इससे भ्रष्ट आचरण को बढ़ावा मिलता है। तभी राजनीति में सुधार हो सकता है।
—संध्या रामकृष्ण बायवार, इंदौर
………………………………………………..
आपराधिक पृष्ठभूमि वाले व्यक्तियों को टिकट नहीं
राजनीतिक पार्टियों को आपराधिक पृष्ठभूमि वाले व्यक्तियों को टिकट नहीं देना चाहिए। जिनके खिलाफ न्यायालय में कोई केस चल रहा हो, ऐसे लोगों पर प्रतिबंध लगाना चाहिए। जनता को भी ऐसे लोगों नहीें चुनना चाहिए, चाहे वह आपकी पसंदीदा पार्टी का प्रत्याशी ही क्यों न हो।
— अरविंदर सिंह, कोटपुतली
…………………………………………
जनता जागरूक बने एवं जनभागीदारी बढ़े
देश में अधिकांश लोग अपने आसपास होेने वाली घटनाओं के प्रति उदासीन रवैया रखते हैं। जनता का जागरूक होना जरूरी है। आजकल सोशल मीडिया के माध्यम से इतना झूठ फैलाया जाता है कि वह सच सा लगता है। किसी अच्छे व्यक्ति के बारे में उसकी अच्छाइयों का कम प्रसार होता है। चुनावों में जनभागीदारी होनी आवश्यक है। गलत प्रत्याशी को टिकट देने पर उसका खुलकर विरोध होना चाहिए।
—कैलाश कुमार, दंतेवाड़ा, छत्तीसगढ़
……………………………………………………
एक देश-एक चुनाव लागू हो
राजनीति में सुधार के लिए एक व्यक्ति के दो जगहों से चुनाव लड़ने पर प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए। एक देश-एक चुनाव लागू हो। प्रत्याशियों द्वारा जनता को प्रलोभन देने पर इनके सभी चुनाव लड़ने पर प्रतिबंध लगाया जाए। दलबदल कानून को अधिक सख्त बनाया जाना चाहिए।
  • आलोक वालिम्बे, बिलासपुर, छत्तीसगढ़
    …………………………………………………….
राजनीति के मापदंड तय हो
राजनीति में शुद्धता की पहल जनता से हो। विभिन्न स्वतंत्र संस्थाएं और न्यायपालिका उन कदाचार के दोषी नेताओं और दलों पर पैनी नजर रखे । साथ ही नेताओं पर दर्ज केसों की जांच और सुनवाई त्वरित हो। उच्च स्तरीय नेताओं को भी अपने उत्कृष्ट व्यवहार और उचित कार्यशैली से समाज को बेहतर सन्देश दिया जाना चाहिए।
—जितेश कुमार शर्मा, रोशनपुरा बनेडिया,दूदू
…………………………………………………………
पहले स्वयं में करें सुधार
राजनीति में लोग समाज से ही आते हैं। जैसे लोग, वैसा ही जनप्रतिनिधि। लोग स्वयं तो सुधरना चाहते नहीं हैं लेकिन जनप्रतिनिधियों से आदर्शवाद की उम्मीद लगाते हैं। ऐसा संभव नहीं है। राजनीति में धनबल व बाहुबल नहीं होना चाहिए।
डॉ माधव सिंह, श्रीमाधोपुर
…………………………………………………..
महिलाओं की भागीदारी बढ़े
राजनीति में महिलाओं की भागीदारी बढ़ानी चाहिए। महिलाओं की राजनीतिक सक्रियता से देश की राजनीति में बदलाव आएगा। इससे लैंगिक समानता को बल मिलेगा। महिलाओं की सामाजिक और आर्थिक स्थिति भी मजबूत होगी। जिससे लोकसभा और विधानसभा में महिलाएं समाज में महिलाओं के साथ हो रहे अत्याचारों के विरूद्ध अपनी आवाज उठा सके।
—प्रकाश भगत, कुचामन सिटी, नागौर

Hindi News/ Prime / Opinion / आपकी बात…राजनीति में सुधार कैसे हो सकता है?

ट्रेंडिंग वीडियो