पंचर गाड़ी के साथ भी रैना ने दिखाई गजब की संघर्ष शक्ति, अगले चार दिनों तक वह गिल तथा दूसरे चालकों को देंगे चुनौती

पंचर गाड़ी के साथ भी रैना ने दिखाई गजब की संघर्ष शक्ति, अगले चार दिनों तक वह गिल तथा दूसरे चालकों को देंगे चुनौती

Prabhanshu Ranjan | Publish: Sep, 03 2018 08:18:07 PM (IST) अन्य खेल

एसएस1 पर रैना की गाड़ी पंक्चर हो गई और इससे उनके सात मिनट बेकार हुए। रैना ने पंक्चर लगाने के बाद वापसी की कोशिश की लेकिन वह सफल नहीं हो सके। वह दिन की समाप्ति पर चौथे स्थान पर रहे लेकिन अगले चार दिनों तक वह गिल तथा दूसरे चालकों को गम्भीर चुनौती पेश करते नजर आएंगे।

नई दिल्ली।देश के अग्रणी रैली चालक गौरव गिल ने सोमवार को शानदार प्रदर्शन करते हुए 10वीं मारुति सुजुकी दक्षिण डेयर रैली के पहले दिन बढ़त बना ली है। महेंद्रा एडवेंचर टीम के चालक गौरव ने अपने सह-चालक मुसा शरीफ के साथ दिन में आयोजित तीन स्पेशल स्टेजों को 2.25.47 घंटे में पूरा किया।गौरव और मूसा अपनी ही टीम के साथी फिलिपोस मथाई तथा उनके नेवीगेटर वीवीएस मूर्थी से पांच मिनट कम समय लिया। मथाई और मूर्थी ने 2.30.19 घंटे का समय लिया।अपने सह-चालक अश्विन नाइक के साथ अमित्राजीत घोष ने 2.30.24 घंटे का समय निकाला जो दूसरे स्थान पर रही टीम से पांच मिनट अधिक है।

चालकों को 129 किलोमीटर की दूरी तय करनी है
टू-व्हीलर कटेगरी में युवा कुमार ने पहले दिन अपना जलवा दिखाया। युवा ने 1.43.30 घंटे समय के साथ पहला स्थान हासिल किया जबकि विश्वास एसडी ने 1.48.22 घंटे के साथ दूसरे और आकाश ऐथल ने 1.49.29 घंटे के साथ तीसरा स्थान पाया।दक्षिण डेयर रैली के पहले राउंड में डर्ट और ग्रावेल की तीन स्पेशल स्टेज बनाए गए हैं और इस दौरान चालकों को 129 किलोमीटर की दूरी तय करनी है जबकि बाइकर्स को दो स्पेशल स्टेज के दौरान कुल 86.42 किलोमीटर की दूरी तय करनी थी।

सुरेश रैना को शुरुआती झटका, फिर वापसी नहीं कर पाएं
गिल ने पहले स्पेशल स्टेज की शुरुआत धीमी गति से सावधानीपूर्वक की। गिल ने स्वीकार किया कि शुरुआत में ट्रैक ने काफी चुनौती पेश की और इसी कारण कार चलाना आसान नहीं था।गिल ने कहा, "हम टैरेन के बारे में अधिक नहीं जानते थे और साथ ही इस ट्रैक पर ग्रावेल थे। इस कारण मुझे अतिरिक्त सावधानी बरतनी पड़ी। मोड़ों पर ज्यादा सावधानी बरती।"मौजूदा चैम्पियन मारुति सुजुकी के सुरेश रैना को शुरुआती झटका लगा लेकिन इसके बावजूद उन्होंने शानदार संघर्ष शक्ति दिखाई और वापसी करने की कोशिश की लेकिन दूसरे चालक उनसे काफी आगे निकल चुके थे।

पंचर गाड़ी की वजह से मिला चौथा स्थान
एसएस1 पर रैना की गाड़ी पंक्चर हो गई और इससे उनके सात मिनट बेकार हुए। रैना ने पंक्चर लगाने के बाद वापसी की कोशिश की लेकिन वह सफल नहीं हो सके। वह दिन की समाप्ति पर चौथे स्थान पर रहे लेकिन अगले चार दिनों तक वह गिल तथा दूसरे चालकों को गम्भीर चुनौती पेश करते नजर आएंगे।2000 किलोमीटर लम्बी दक्षिण डेयर रैली कर्नाटक और महाराष्ट्र से गुजरते हुए 7 सितम्बर की शाम को गोवा में समाप्त होगी।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned