Chess : शीर्ष-20 विश्व रैंकिंग में अधिक भारतीयों को शामिल करने की योजना

अधिकारी ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय शतरंज दिवस पर तुमकुर और कर्नाटक के राष्ट्रीय टूर्नामेंटों के दो स्थलों और कोलकाता में राष्ट्रीय सब-जूनियर अंडर-15 प्रतियोगिता की शुरुआत से पहले दो केक काटे जाएंगे। इस प्रतियोगिता की शुरुआत शुक्रवार से हो रही है।

By: Siddharth Rai

Published: 20 Jul 2018, 01:27 PM IST

नई दिल्ली। अखिल भारतीय शतरंज महासंघ (एआईसीएफ) जल्द ही विश्व रैंकिंग में शीर्ष-20 खिलाड़ियों की सूची में अधिक से अधिक भारतीय ग्रैंड मास्टर्स को शामिल करने के लिए एक कार्यक्रम शुरू करने की योजना बना रहा है। इस कार्यक्रम के तहत 2020 तक इस लक्ष्य को हासिल करने की उम्मीद है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने इसकी जानकारी दी।

शुरुआत से पहले दो केक काटे जाएंगे
अधिकारी ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय शतरंज दिवस पर तुमकुर और कर्नाटक के राष्ट्रीय टूर्नामेंटों के दो स्थलों और कोलकाता में राष्ट्रीय सब-जूनियर अंडर-15 प्रतियोगिता की शुरुआत से पहले दो केक काटे जाएंगे। इस प्रतियोगिता की शुरुआत शुक्रवार से हो रही है। अंतर्राष्ट्रीय शतरंज दिवस हर साल 20 जुलाई को मनाया जाता है। इसी दिन 1924 में अंतर्राष्ट्रीय शतरंज महासंघ की स्थापना की गई थी। एआईसीएफ के सचिव भरत सिंह चौहान ने गुरुवार को आईएएनएस से कहा, "हर साल 20 जुलाई को जहां कहीं भी टूर्नामेंट होते हैं, वहां केक काटा जाता है।" हाल ही में आयोजित एक समारोह में एआसीएफ के अध्यक्ष पी.आर. वेंकटरामा राजा ने कहा कि महासंघ एक नई रणनीति बना रहा है, ताकि दो या तीन शतरंज के खिलाड़ी विश्व रैंकिग में शीर्ष-10 में तथा पांच से छह भारतीय शीर्ष-20 में स्थान हासिल कर सकें।

हमारा पहला लक्ष्य आगामी ओलम्पियाड-ए में पदक जीतना
राजा ने कहा कि देश में युवा शतरंज खिलाड़ी निखर कर आ रहे हैं। शीर्ष-20 में स्थान हासिल करने के लिए युवा खिलाड़ियों को प्रशिक्षित करने की एआईसीएफ की रणनीति के बारे में चौहान ने कहा, "हम शीर्ष स्तर के खिलाड़ियों से उनकी जरूरतों के बारे में चर्चा करेंगे। हमारा पहला लक्ष्य आगामी ओलम्पियाड-ए में पदक जीतना है। इसका आयोजन जॉर्जिया में सितम्बर माह में बाटुमी में होगा।" पूर्व विश्व चैम्पियन जीएम विश्वनाथन आनंद शीर्ष-20 की सूची में 11वें स्थान पर हैं, वहीं जीएम पी. हरिकृष्ण 22वें तथा विदित संतोष गुजराथी 29वें स्थान पर हैं। भारत में चौथे शीर्ष स्तरीय खिलाड़ी जीएम बी. अधिबान हैं। वह विश्व स्तर पर 69वें स्थान पर हैं।

2020 अभियान में खर्च भी लगेगा
चौहान ने कहा कि तीन अच्छे खिलाड़ी हरीकृष्ण गुराथी और अधिबान हैं, जो शीर्ष-20 में स्थान हासिल कर सकते हैं। आनंद पहले से ही इस स्तर पर हैं। उन्होंने कहा, "हम इस रैंकिंग के लिए ईएलओ रेटिंग में 2,700 या 2,650 से अधिक वाले खिलाड़ियों को तैयार करेंगे।" ईएलओ रेटिंग में 22,650 से अधिक खिलाड़ी जीएम के. ससिकिरण, एस.पी. सेथुरमन, परिमारंजन नेगी और सूर्य शेखर गांगुली हैं। चौैहान ने इस बात को भी स्पष्ट किया है कि 2020 अभियान में खर्च भी लगेगा। उन्होंने कहा कि शीर्ष स्तरीय खिलाड़ियों ने अपनी क्षमता को साबित किया है और उन्हें प्रायोजक मिलना मुश्किल नहीं होगा। इस स्तर पर खिलाड़ियों के लिए एक विदेशी कोच प्रति दिन 500 यूरो लेता है। इसमें अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उसकी यात्रा के खर्चे अलग हैं।

इसके साथ ही खिलाड़ियों को हर चीज में तैयार करने हेतु प्रौद्योगिकी में भी खर्च होगा। चौहान ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय टूर्नामेंटों में खेलने के विकल्प के तहत खिलाड़ियों की सहायता की जाएगी, ताकि वह अच्छी रेटिंग हासिल कर सकें। इसके लिए भारत में अच्छे स्तर पर राउंड-रोबिन मैचों के आयोजन पर विचार भी किया जा रहा है।

Siddharth Rai Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned