CWG 2018: मोहम्मद अनस ने नेशनल रिकॉर्ड तोड़ इतिहास रचा, 0.20 सेकेंड से गंवाया मेडल

CWG 2018: मोहम्मद अनस ने नेशनल रिकॉर्ड तोड़ इतिहास रचा, 0.20 सेकेंड से गंवाया मेडल

Akashdeep Singh | Publish: Apr, 11 2018 03:04:41 PM (IST) अन्य खेल

CWG 2018 में पुरुषों की 400 दौड़ में भारत के अनस मोहम्मद चौथे स्थान पर रहे और उन्होंने इस प्रयास में राष्ट्रीय रिकॉर्ड भी तोड़ा।

नई दिल्ली। गोल्ड कोस्ट कामनवेल्थ खेलों में भारतीय धावक अनस ने पुरुषों की 400 मीटर स्पर्धा में राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाकर चौथा स्थान हांसिल किया। उन्होंने 45.31 सेकेंड का समय निकाला, जो कि नया राष्ट्रीय रिकॉर्ड भी है । स्पर्धा का स्वर्ण बोट्सवाना के इसाक माकवाला के नाम रहा, जिन्होंने 44.35 सेंकेंड का समय निकाला। स्पर्धा का रजत भी इसाक के हमवतन बाबोलोकी थेबे को नाम रहा जिन्होंने 45.09 सेकेंड का समय निकाला। जमैका के जेवान फ्रांसिस सीजन का अपना सर्वश्रेष्ठ समय निकालते हुए कांस्य जीतने में सफल रहे। उन्होंने 45.11 सेकेंड का समय निकाला।


अनस ने बताया उनको अपने प्रदर्शन पर गर्व है
मुहम्मद अनस इस रेस में हिस्सा भी नहीं लेने वाले थे और कहा उन्होंने तीसरे सबसे तेज समय के साथ फाइनल में जगह बनाई। फाइनल में अनस चौथे स्थान पर रहकर पदक से चूक गए। अनस ने अपने इस प्रयास में राष्ट्रीय रिकॉर्ड को और बेहतर किया।अनस 400 मीटर फाइनल में जगह बनाने वाले मिल्खा सिंह के बाद दूसरे खिलाड़ी हैं। रेस खत्म होने पर मेडल से चूक जाने के बाद भी अनस काफी उत्साहित थे और उनको अपने आप पर गर्व है। अनस ने रेस खत्म होने पर "मैं बहुत गौरवांतित हूं कि मैं फाइनल रेस में दौड़ सका।"


400 मीटर रेस के लिए अनस ने नहीं किया था क्वालीफाई
23 साल के अनस ने 45.31 सेकेंड का समय निकाला जो कि कांस्य पदक जीतने वाले जमैका के धावक जेवान से मात्र 0.20 सेकेंड कम था। अनस गोल्ड कोस्ट पुरुषों की 4*400 मीटर रिले रेस में हिस्सा लेने गए थे। 400 मीटर रेस के लिए उन्होंने क्वालीफाई भी नहीं किया था और ऐसे में उन्होंने रेस में हिस्सा लेते हुए राष्ट्रीय रिकॉर्ड तोड़ा और चौथा स्थान भी हांसिल किया। अनस ने बताया "मैं इस स्पर्धा में एक मौका चाहता था और मैंने AFI से इसके लिए निवेदन किया। मैं उनका शुक्रिया करना चाहता हूं कि उन्होंने मुझे मौका दिया और मैं कुछ हद तक उनकी आशाओं पर खरा भी उतरा हूं।"


मिल्खा सिंह से तुलना पर अनस का ध्यान भी नहीं गया
मिल्खा सिंह से उनकी तुलना होने पर उन्होंने बताया मैंने इसपर बिलकुल भी ध्यान नहीं दिया और अपना सर्वश्रेष्ठ करने की पूरी कोशिश की। अनस ने यह भी कहा कि मिल्खा सिंह से तुलना के बारे में उन्होंने पेपर में ही पढ़ा।उनकी रेस के समय बारिश हो जाने के कारण अनस को नुक्सान हुआ और उनको आखिरी 50 मीटर में क्रैम्पिंग से भी जूझना पड़ा।


पिता के गुजर जाने के बाद अनस ने खेल को गंभीरता से लिया
यह उम्मीद थी कि केरल का यह धावक टॉप तीन में अपनी जगह बनाएगा लेकिन आखिरी 50 मीटर में क्रैम्पिंग से जूझने के कारण वो ऐसा नहीं कर सके। अनस ने बताया कि उनके पिता की मृत्यु ने उनको खेल को गंभीरता से लेने के लिए मजबूर किया। उन्होंने कहा कि "मैं यह तक पहुंचने के लिए काफी संघर्ष किया है। मैं जब स्कूल में था तभी मेरे पिता गुजर गए थे तभी से मैंने अपने आपको उठाया और कुछ बड़ा करने की ठान ली और मैंने खेल को चुना। मेरा मानना है कि सही समय पे अच्छा कोच मिल जाने से मैं यहाँ पहुंच सकें हूं।" अनस आपको नया राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाने के लिए बधाई। देश को आप पर गर्व है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned