36 साल बाद दिलाई 'उड़न परी' की याद, दुती ने किया रियो के लिए क्वालीफाई

भारतीय महिला फर्राटा धाविका दुती चंद ने शनिवार को रियो ओलंपिक की 100 मीटर दौड़ के लिए क्वालीफाई कर लिया

नई दिल्ली। भारतीय महिला फर्राटा धाविका दुती चंद ने शनिवार को रियो ओलंपिक की 100 मीटर दौड़ के लिए क्वालीफाई कर लिया। कजाकिस्तान के अलमाटी में आयोजित अंतरराष्ट्रीय एथलेटिक्स प्रतियोगिता में दुती चंद ने ओलम्पिक में जगह बनाने के साथ अपने राष्ट्रीय रिकॉर्ड में भी सुधार किया। ओडिशा की 20 वर्षीय दुती ने कजाकिस्तान की प्रतियोगिता में महिलाओं की 100 मीटर दौड़ 11.30 सैकंड में पूरी की। रियो ओलम्पिक के लिए क्वालीफाइंग मार्क 11.32 सैकंड था।



एक साल बैन झेला, पंचाट से मिली अनुमति
दुती को 2014 में प्रतिबंधित कर दिया गया था और राष्ट्रमंडल खेलों से हटा दिया गया था, क्योंकि अंतरराष्ट्रीय एथलेटिक्स फैडरेशन की नीति के अनुसार उनमें टेस्टोस्टेरॉन (पुरुष हार्मोन) का स्तर अधिक पाया गया था। दुती एक साल तक अभ्यास या किसी प्रतियोगिता में हिस्सा नहीं ले पाईं, लेकिन उन्होंने स्विट्जरलैंड में खेल पंचाट में प्रतिबंध के खिलाफ अपील की। पिछले साल जुलाई में खेल पंचाट ने उन्हें करियर फिर से शुरू करने की अनुमति दी।

अपना ही राष्ट्रीय रिकॉर्ड 2 माह बाद तोड़ा
दुती ने 11.33 सैकंड का अपना राष्ट्रीय रिकार्ड भी तोड़ा जो उन्होंने अप्रेल में फेडरेशन कप राष्ट्रीय चैम्पियनशिप में बनाया था। वह रियो खेलों के लिए क्वालीफाई करने वाली भारत की 20वीं ट्रैक एंड फील्ड एथलीट हैं। दुती 100 मीटर क्वालिफिकेशन प्रणाली लागू किए जाने के बाद इस स्पद्र्धा में क्वालीफाई करने वाली पहली भारतीय महिला भी हैं।

उषा का हुआ था चयन
उडऩ परी पीटी उषा ओलंपिक की 100 मीटर में भाग लेने वाली आखिरी भारतीय महिला एथलीट थीं। उन्होंने मॉस्को ओलम्पिक में 1980 में हिस्सा लिया था, लेकिन तब क्वॉलिफिकेशन प्रणाली नहीं थी।
भूप सिंह Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned