टाइगर वुड्स ने ड्रग्स लेकर सिर्फ कानून ही नहीं ,ओलम्पिक संस्थापक के सपने को भी तोड़ा

टाइगर वुड्स ने ड्रग्स लेकर सिर्फ कानून ही नहीं ,ओलम्पिक संस्थापक के सपने को भी तोड़ा

Kuldeep Panwar | Updated: 15 Aug 2017, 05:15:00 PM (IST) अन्य खेल

टाइगर वुड्स जैसे खिलाडियों ने पियरे द कुबर्तिन के सपने को तोडा है,आज पैसा और दवा ,ड्रग्स कुछ भी इस्तेमाल कर खेल जीतना चाहते हैं। 

नई दिल्ली । आज के समय में खेल का मायने बदल गया है । खेल का मतलब सिर्फ और सिर्फ जीतना रह गया है ।कभी आधुनिक ओलम्पिक के जनक रहे पियरे द कुबर्तिन ने 1896 में कहा था कि -जीवन में सबसे जरूरी जीतना नहीं बल्कि अच्छे तरीके से लड़ना है ।आज चाहे जिस भी खेल की बात हम करें परिस्थतियां बदली ही नहीं बल्कि बिलकुल ही विपरीत हो गयी है ।टाइगर वुड्स जैसे खिलाडियों ने पियरे द कुबर्तिन के सपने को तोडा है । आज प्रतिस्पर्धा मायने नहीं रखता है और ना ही आज के समय में खेलों में प्रदर्शन मायने रखता है ।यही वजह है कि आज पैसा और दवा ,ड्रग्स कुछ भी इस्तेमाल कर हर हाल में खेल जीतना चाहते हैं।

दुनिया के पूर्व नंबर एक गोल्फर टाइगर वुड्स को मई में नशे में गाड़ी चलाने के संदेह में गिरफ्तार किया गया था तो उनके शरीर में 5 ड्रग्स थी जिसमें दर्द निवारक हाइड्रोकोडोन भी शामिल है। मूत्र परीक्षण में विकोडिन ब्रांड नाम के अंतर्गत बिकने वाली हाइड्रोकोडेन के अलावा चार अन्य दवाओं के उनके शरीर में मिलने का खुलासा हुआ है।

इसके अलावा उनके शरीर में काफी असरदार दर्द निवारक हाइड्रोमोर्फोन, अल्प्राजोलम, नींद की दवा जोलपिडम और टीएचसी भी मिला है जो गांजे का रायायनिक घटक है। पाम बीच काउंटी शेरिफ के कार्यालय ने सोमवार को परीक्षण के नतीजे सार्वजनिक किए।

वुड्स को 29 मई को तड़के फ्लोरिडा के जुपिटर में गिरफ्तार किया गया था । वह जब पुलिस को मिले तो अपने घर के समीप सड़क के किनारे अपनी मर्सीडीज बेंज कार में सो रहे थे। वुड्स ने तब कहा था कि उन्होंने डाक्टर के कहने पर कुछ दवाएं ली थी जिसके कारण उनकी यह हालत हुई। हालांकि अभी यह नहीं पता चला है कि उनके शरीर में जितनी दवाएं मिली हैं उन सभी को लेने का डाक्टर ने निर्देश दिया था या नहीं।

TIGER WOODS

इससे पहले भी खेलों में होता रहा है ड्रग्स का इस्तेमाल
इससे पहले भी कई बार ड्रग्स के मामले सामने आए हैं । सन 1998 के ओलम्पिक में जमैका के खिलाडी बेन जॉनसन ने महान धावक कार्ल लुइस को 100 मीटर के दौड़ में हराकर दुनिया भर के खेल प्रेमियों को आश्चर्य में डाल दिया । आपको बता दें कि जॉनसन ने यह दूरी महज 9.79 सेकंड में पूरा कर लिया था । बाद में जब लोगों को यह मालूम हुआ कि जॉनसन ने थकान दूर करने की दवा लेकर यह दौड़ जीता था तो लोगों का खेल और खिलाडियों के ऊपर से विश्वास उठना शुरू हो गया ।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned