शूटर मनु भाकर ने अपने ईनाम की राशि मांगी तो हरियाणा के खेलमंत्री ने कहा- विभाग से बात करो

शूटर मनु भाकर ने अपने ईनाम की राशि मांगी तो हरियाणा के खेलमंत्री ने कहा- विभाग से बात करो

Mazkoor Alam | Publish: Jan, 05 2019 05:14:40 PM (IST) | Updated: Jan, 05 2019 05:21:37 PM (IST) अन्य खेल

मनु भाकर ने ओलंपिक पदक विजेता पहलवान योगेश्वर दत्त के पुराने ट्वीट को भी रीट्वीट किया है।

 

चंडीगढ़ : निशानेबाज मनु भाकर गुरुवार की देर रात ट्वीट के जरिये हरियाणा के खेल मंत्री अनिल विज को याद दिलाया कि उन्‍होंने इस शूटर को युवा ओलंपिक में स्‍वर्ण पदक जीतने पर दो करोड़ रुपए के नकद पुरस्कार की घोषणा की थी, इस घोषणा के करीब दो महीने से ज्‍यादा हो गए, लेकिन उन्‍हें अभी तक ईनाम की राशि नहीं मिली है। जब ट्वीट कर इसकी याद उन्‍होंने हरियाणा के खेल मंत्री अनिज को दिलाई तो उन्‍होंने मनु भाकर को अनुशासनहीन बता डाला।

ये है पूरा मामला
मनु भाकर ने अनिज विज के ईनाम की घोषणा के ट्वीट का स्‍क्रीन शॉट अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर कर उनसे पूछा कि सर प्लीज यह कन्फर्म करिए कि क्या यह सही है या सिर्फ जुमला है। टैग अनिल विज के ट्वीट पर लिखा है- हरियाणा सरकार इस गोल्ड के लिए मनु भाकर को दो करोड़ रुपए की राशि इनाम देगी। पिछली सरकारों में यह राशि मात्र 10 लाख रुपए हुआ करती थी।

 

योगेश्‍वर के ट्वीट को भी किया टैग
इतना ही नहीं, मनु भाकर ने ओलंपिक पदक विजेता पहलवान योगेश्वर दत्त के उस पुराने ट्वीट को भी रीट्वीट किया, जिसमें योगेश्‍वर ने लिखा था- ऐसे अफसर से राम बचाए, जब से खेल विभाग में आए है तब से बिना सिर-पैर के तुगलकी फरमान जारी किए जा रहे हैं। हरियाणा के खेल-विकास में आपका योगदान शून्‍य है, किंतु ये दावा है मेरा इसके पतन में आप शत-प्रतिशत सफल हो रहे हैं। अब हरियाणा के नए खिलाड़ी बाहर पलायन करेंगे और साहब आप इसके लिए जिम्मेदार होंगे।
योगेश्वर ने तब यह ट्वीट कर हरियाणा सरकार के खेल एवं युवा विभाग के प्रमुख सचिव अशोक खेमका के एक फैसले पर सवाल उठाया था। यह वही अशोक खेमका हैं, जो रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ कार्रवाई कर चर्चा में आए थे। इस ट्वीट को रीट्वीट कर मनु भाकर ने लिखा है कि उस वक्त वक्‍त वह यह समझने के लिए काफी छोटी थी, लेकिन आज समझ गई हैं कि वह क्या साबित करना चाहते थे। कुछ लोग खुद को हमेशा सही साबित करना चाहते हैं, जबकि वह जानते हैं वह गलत हैं। हरियाणा की बदकिस्मती।

 

अनिल विज का जवाब
अनिल विज ने मनु भाकर को मामला सार्वजनिक करने के लिए फटकार लगाई। उन्‍होंने ट्वीट कर लिखा कि मनु भाकर को सार्वजनिक तौर पर इस विवाद को खड़ा कर राज्य सरकार को अपमानित करने से पहले खेल विभाग से बात करनी चाहिए थी। उनका दो करोड़ रुपए का इनाम जरूर मिलेगा।
इसके बाद एक और ट्वीट कर मनु भाकर पर अनुशासनहीन होने का आरोप लगाया है। उन्होंने लिखा कि खिलाड़ियों में अनुशासन की भावना होनी चाहिए। मनु भाकर को इस विवाद के लिए माफी मांगनी चाहिए। उन्हें अभी बहुत लंबा खेलना है, इसलिए अपने खेल पर फोकस करना चाहिए।

भाकर ने फिर कहा, नहीं मिली ईनाम की राशि
अनिल विज के इस ट्वीट के बाद मनु भाकर ने एक मीडिया से बातचीत में कहा कि शुरुआत में यह ईनाम 10 लाख रुपए का था। खेल मंत्री अनिल विज ने इसे दो करोड़ रुपए का बना दिया। बाद में एक करोड़ रुपए का कर दिया गया। जबकि मैंने उसी हिसाब से अपनी निवेश की योजना बना ली थी। यह अच्छी बात है कि अब उन्होंने इस फिर से दो करोड़ रुपए का कर दिया है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned