मलेशिया को हराकर भारत अजलान शाह कप के फाइनल में पहुंचा

मलेशिया को हराकर भारत अजलान शाह कप के फाइनल में पहुंचा
Indian hockey team

Kamal Singh Rajpoot | Publish: Apr, 15 2016 10:52:00 PM (IST) अन्य खेल

भारतीय हॉकी टीम ने 'करो या मरो' के मैच में मेजबान मलेशिया को 6-1 से हराते अजलान शाह कप हॉकी टूर्नामेंट के फाइनल में प्रवेश कर लिया।

इपोह। भारतीय हॉकी टीम ने 'करो या मरो' के मैच में मेजबान मलेशिया को 6-1 से हराते सातवीं बार सुल्तान अजलान शाह कप हॉकी टूर्नामेंट के फाइनल में प्रवेश कर लिया। भारत को फाइनल में पहुंचने से पहले इस मैच में उसे हर हाल में जीत हासिल करनी थी। अब शनिवार को होने वाले फाइनल मुकाबले में भारत को विश्व चैम्पियन ऑस्ट्रेलिया से होगा। आस्ट्रेलिया ने अपने आखिरी लीग मैच में कनाडा को 3-0 से हराया था।

एस वी सुनील ने दागा पहला गोल
भारत के लिये एस वी सुनील ने दूसरे मिनट में पहला गोल दागा। इसके बाद  हरजीत सिंह ने 7वें मिनट में टीम के दूसरा गोल दागा। इनके अलावा रमनदीप सिंह ने दो गोल (25वें और 39वें मिनट), दानिश मुज्तबा एक गोल (27वें मिनट), तलविंदर सिंह एक गोल (50वें मिनट) किया। मेजबान मलेशिया के लिये एकमात्र गोल शाहरिल सबा 46वें मिनट में दागा।  

भारत 2010 में पहुंचा था फाइनल में
इससे पहले भारत 2010 में इस टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचा था। उस समय फाइनल में बारिश के कारण भारत और दक्षिण कोरिया को संयुक्त विजेता घोषित किया गया था। न्यूजीलैंड की टीम अब कांस्य पदक के मैच में मेजबान मलेशिया से खेलेगी। मलेशिया अंकतालिका में चौथे स्थान पर रहा। उसे अंकतालिका में न्यूजीलैंड से आगे जाने के लिये भारत को सात गोल से हराना था लेकिन वे विश्व हॉकी लीग सेमीफाइनल में भारत से मिली हार का बदला चुकता नहीं कर सके। अजलन शाह कप में भारत के खिलाफ मलेशिया को पिछली बार जीत पिछले साल लीग मैच में मिली थी।

आस्ट्रेलिया आठ बार जीत चुका है ये खिताब
भारत की शुरूआत धीमी रही और शुरूआती पांच मिनट में गोल करने के चार मौके भारत ने गंवाये लेकिन दूसरे मिनट में निकिन थिमैया के पास पर सुनील ने गोल दागा। भारत अगले मिनट में दूसरा गोल कर सकता था जब रमनदीप को सर्कल के भीतर गेंद मिली लेकिन उसका निशाना चूक गया। हरजीत ने मेजबान डिफेंडरों की चूक का फायदा उठाकर दूसरा गोल किया। आपको बता दें कि ऑस्ट्रेलिया रिकॉर्ड आठ बार यह खिताब जीत चुका है और पिछले साल फाइनल में न्यूजीलैंड से हारा था जबकि भारत ने कांस्य पदक जीता था।
 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned