जसपाल के पदचिह्नों पर चले उनके बेटा-बेटी

जसपाल राणा के बेटे और बेटी ने भी उनके पदचिह्नों पर चलना शुरू कर दिया है।

By: Nikhil Sharma

Published: 18 Sep 2017, 07:47 PM IST

नई दिल्ली। देश के लिए कई कॉमनवेल्थ गेम्स और एशियन गेम्स में पदकों के ढेर लगाने वाले मशहूर निशानेबाज और पद्मश्री से सम्मानित जसपाल राणा के बेटे और बेटी ने भी उनके पदचिह्नों पर चलना शुरू कर दिया है।

जीता मिक्स्ड डबल ट्रैप निशानेबाजी में स्वर्ण

वर्तमान में भारतीय जूनियर निशानेबाजी टीम के कोच जसपाल के बेटे युवराज सिंह राणा और बेटी देवांशी राणा ने दिल्ली की डॉ. कर्णी सिंह शूटिंग रेंज पर पलिन्दर सिंह बेदी मेमोरियल शॉटगन शूटिंग चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता है। उनका प्रदर्शन भारत के लिए एक अच्छी खबर है। राणा के निर्देशन में अनेक निशानेबाज भविष्य में भारत का नाम रौशन करेंगे। 
पहली बार मिक्स्ड ट्रैप शूटिंग
दिल्ली स्टेट राइफल एसोसिएशन ने देश में पहली बार मिक्स्ड डबल ट्रैप शूटिंग स्पद्र्धा का आयोजन किया। मिक्स्ड डबल ट्रैप को हाल ही में ओलंपिक स्पद्र्धाओं में शामिल किया गया है, जो टोक्यो-2020 ओलंपिक में पहली बार खेला जाएगा। युवराज और देवांशी ने प्रतियोगिता के जूनियर वर्ग में 22 अंकों के स्कोर पर स्वर्ण पदक पर कब्•ाा किया तो आर्यमन और रितु की जोड़ी ने 20 अंकों के साथ रजत जीता।
सीनियर वर्ग में किस्मत और कथा को स्वर्ण
सीनियर वर्ग में किस्मत चोपड़ा और कथा कपूर ने 67 अंकों का बेहतरीन स्कोर करके स्वर्ण अपने नाम किया। सुभाष राणा और नैना राणा की जोड़ी ने 48 के स्कोर पर रजत जीता। कार्णिक राज शर्मा और पूजा शर्मा ने 42 अंकों के स्कोर पर कांस्य पदक हासिल किया। दिल्ली स्टेट राइफल एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष और नेशनल राइफल एसोसिएशन ऑफ इंडिया के उपाध्यक्ष रहे स्वर्गीय पलिन्दर सिंह बेदी के नाम पर इस प्रतियोगिता की शुरुआत की गई है। इस मौके पर दिल्ली स्टेट राइफल एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष और पलिन्दर  बेदी के बेटे हरिन्दर सिंह बेदी ने पदक विजेताओं को सम्मानित किया। इस मौके पर दिल्ली स्टेट राइफल एसोसिएशन के चेयरमैन के रूप में जसपाल राणा, सचिव राजीव शर्मा, कोषाध्यक्ष जेएस मारवाह और अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे।

Nikhil Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned