स्वर्ण पदक जीतने से चूके जीतू, रजत से करना पड़ा संतोष

रियो ओलंपिक में भारत की सबसे बड़ी पदक उम्मीद जीतू राय ने विश्वकप निशानेबाजी टूर्नामेंट में शनिवार को जबर्दस्त प्रदर्शन करते हुए पुरुषों की 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में रजत पदक जीत लिया

By: भूप सिंह

Published: 26 Jun 2016, 08:50 AM IST

बाकू। रियो ओलंपिक में भारत की सबसे बड़ी पदक उम्मीद जीतू राय ने विश्वकप निशानेबाजी टूर्नामेंट में शनिवार को जबर्दस्त प्रदर्शन करते हुए पुरुषों की 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में रजत पदक जीत लिया। जीतू राय शुक्रवार को पुरुषों की 50 मीटर पिस्टल स्पर्धा के फाइनल में नहीं पहुंच पाए थे, लेकिन उन्होंने 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में रजत पदक जीत लिया। वह मामूली अंतर से स्वर्ण पदक जीतने से चूक गए।

ब्राजील के फेलिप अल्मीदा वू ने स्वर्ण पदक हासिल किया जो सत्र का उनका दूसरा स्वर्ण पदक था। फेलिप ने बैंकाक में सत्र के पहले विश्वकप चरण में भी स्वर्ण पदक जीता था। 24 वर्ष ब्राजीली निशानेबाज ने फाइनल में 200.0 का स्कोर कर स्वर्ण पदक जीता जबकि 28 वर्षीय जीतू ने 199.5 अंकों के साथ रजत अपने नाम किया। तीन बार के ओलंपिक चैम्पियन कोरिया के जिन जोंगोह को 178.8 के स्कोर के साथ कांस्य पदक मिला। जिन ने 50 मीटर पिस्टल स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता था।

भारत का पहला पदक
इस विश्वकप में भारत का यह पहला पदक है। भारत को विश्वकप के चौथे दिन जाकर टूर्नामेंट में सफलता हासिल हुई। अभिनव बिंद्रा और गगन नारंग जैसे अनुभवी निशानेबाज तथा कीनन चेनाई जैसे युवा निशानेबाज फाइनल में पहुंचकर कोई पदक नहीं जीत पाए थे। पूजा घाटकर महिलाओं की दस मीटर एयर राइफल स्पर्धा के फाइनल में पहुंचकर कांस्य पदक जीतने से चूक गईं और उन्हें चौथा स्थान मिला था। 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में जीतू 580 के स्कोर के साथ क्वालिफाइंग दौर में छठे स्थान पर रहकर फाइनल में पहुंचे थे। अल्मीदो को 583 के स्कोर के साथ क्वालिफाइंग में तीसरा और जिन को 586 के स्कोर के साथ पहला स्थान मिला था।

विश्व के नंबर दो निशानेबाज जीतू ने फाइनल में अपनी आखिरी सीरीज में रजत जीता। जीतू ने पहली सीरीज में 30.5 व दूसरी सीरीज में 30.2 का स्कोर किया। उन्होंने एलिमिनेशन पदक राउंड में आखिरी दो शॉट में 10.2 और 10.6 के बेहतरीन स्कोर किए। एलिमिनेशन में उन्होंने 138.8 अंक जुटाए।

ब्राजीली निशानेबाज ने पहली दो सीरीज में कुल 59.6 का स्कोर किया और एलिमिनेशन में 140.4 का स्कोर कर स्वर्ण जीत लिया। उनके और जीतू के कुल स्कोर में 0.5 अंकों का मामूली फासला रहा। इस स्पर्धा में भारत के ओमकार सिंह 575 के स्कोर के साथ 28वें और गुरप्रीत 569 के स्कोर के साथ 42वें स्थान पर रहे। 
Show More
भूप सिंह Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned