khelo india : महाराष्ट्र ने जीते 85 स्वर्ण, कुल 228 पदकों के साथ पहले स्थान पर

khelo india : महाराष्ट्र ने जीते 85 स्वर्ण, कुल 228 पदकों के साथ पहले स्थान पर

Siddharth Rai | Publish: Jan, 21 2019 03:57:16 PM (IST) | Updated: Jan, 21 2019 03:57:17 PM (IST) अन्य खेल

उसके हिस्से 85 स्वर्ण, 62 रजत और 81 कांस्य पदक आए। केआईवाईजी का रविवार को यहां समापन हुआ। महाराष्ट्र के खिलाड़ियों को केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, महाराष्ट्र के खेल मंत्री विनोद तावड़े ने यहां शिव छत्रपति स्पोटर्स कॉम्पलेक्स के बैडमिंटन हॉल में आयोजित समापन समारोह में ट्रॉफी देकर सम्मानित किया।

नई दिल्ली। खेलो इंडिया यूथ गेम्स (केआईवाईजी)-2019 में मेजबान प्रदेश महाराष्ट्र ने कुल 228 पदक हासिल करते हुए खेलों का अंत पदकतालिका में पहले स्थान के साथ रहते हुए किया। उसके हिस्से 85 स्वर्ण, 62 रजत और 81 कांस्य पदक आए। केआईवाईजी का रविवार को यहां समापन हुआ। महाराष्ट्र के खिलाड़ियों को केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, महाराष्ट्र के खेल मंत्री विनोद तावड़े ने यहां शिव छत्रपति स्पोटर्स कॉम्पलेक्स के बैडमिंटन हॉल में आयोजित समापन समारोह में ट्रॉफी देकर सम्मानित किया।

जावड़ेकर ने इस मौके पर कहा कि खिलाड़ियों के इस प्रदर्शन ने प्रधानमंत्री के 'पांच मिनट और' के संदेश को सार्थक किया है। साथ ही कहा कि सरकार हर स्कूल में एक घंटे के गेम पीरियड को लाने को लेकर प्रतिबद्ध है। वहीं, तावड़े ने कहा कि वह 'सिर्फ पांच मिनट' नहीं चाहते बल्कि 50 मिनट चाहते हैं। उन्होंने खिलाड़ियों की हौसलाअफजाई भी की।

श्री शिव छत्रपति शिवाजी स्पोटर्स कॉम्पलेक्स का बैडमिंटन हॉल खिलाड़ियों से पूरा भरा हुआ था। इस बीच, भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) की महानिदेशक नीलम कपूर ने भारत सरकार के केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावेड़कर और महाराष्ट्र के खेल मंत्री विनोद तवाड़े सहित खेलो इंडिया यूथ गेम्स के सीईओ संदीप प्रधान का स्वागत किया।

नीलम कपूर ने सभी के प्रयासों का धन्यवाद देते हुए कहा कि महाराष्ट्र सरकार ने सराहनीय प्रयास किया और हजारों स्वंयसेवकों ने इस केआईवाईजी-2019 को सफल बनाया। इन खेलों में तकरीबन 10,000 लोगों ने हिस्सा लिया, जिनमें 5,925 एथलीटों, 1,096 सपोर्ट स्टाफ, 893 तकनीकी अधिकारी, 36 चेफ दे मिशन, 1010 स्वंयसेवक और 1,500 अधिकारी शामिल थे।

यह संख्या पिछले साल केआईएसजी-2018 से लगभग दोगुनी है। अंतिम दिन 15 स्वर्ण पदक दांव पर थे, जिनमें से आठ पदक तीरंदाजी में थे, जहां मेजबान महाराष्ट्र, झारखंड और हरियाणा ने दो-दो पदक जीते, दिल्ली और पंजाब ने एक-एक पदक जीते।

हरियाणा ने महिलाओं के अंडर-21 वर्ग के फाइनल में स्वर्ण पदक अपने नाम किया। यह हरियाणा का हॉकी में तीसरा स्वर्ण है जबकि उत्तर प्रदेश, बंगाल, तमिलनाडु और केरल ने वॉलीबाल में एक-एक स्वर्ण पदक अपने नाम किए। टेबल टेनिस में गुजरात के मानुश शाह ने अंडर-21 वर्ग में स्वर्ण अपने नाम किया जबकि सुरभि पटवारी ने महिलाओं के अंडर-21 वर्ग में सोने का तमगा हासिल किया।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned