राष्ट्रीय साइिकल चैम्पियनशिप 5 नवम्बर से

राष्ट्रीय साइिकल चैम्पियनशिप 5 नवम्बर से

Lalit Sharma | Publish: Oct, 13 2017 10:10:06 PM (IST) अन्य खेल

राष्ट्रीय साइकिल चैम्पियनशिप का आयोजन पांच नवम्बर को होगा। शुक्रवार को इसकी घोषणा की गई। इस प्रतियोगिता में 150 साइकिलिस्ट हिस्सा लेंगे।

नई दिल्ली, राष्ट्रीय साइकिल चैम्पियनशिप का आयोजन पांच नवम्बर को होगा। शुक्रवार को इसकी घोषणा की गई। इस प्रतियोगिता में 150 साइकिलिस्ट हिस्सा लेंगे। भारतीय साइकिलिंग संघ (सीएफआई) के महासचिव ओनकार सिंह ने इसका जानकारी दी।

राष्ट्रीय साइकिल चैम्पियनशिप की घोषणा
सिंह ने कहा कि सक्षम पैदल दिल्ली में राष्ट्रीय साइकिल चैम्पियनशिप की घोषणा की जाएगी। इस चैम्पियनशिप के जरिए दिल्ली-एनसीआर में कई साइकिलिंग क्लबों के नए साइकिलि चालकों को चार लाख रुपये की पुरस्कार राशि के लिए प्रतिस्पर्धा करने का मौका मिलेगा। इन चालकों को दो भागों में विभाजित किया गया है। चालकों को उनकी साइकिल के अनुरूप विभाजित किया गया है। ये सभी 30 किलोमीटर रेस में हिस्सा लेंगे। सीएफआई के साथ, सक्षम पेडल दिल्ली के तकनीकी पहलुओं का प्रबंधन मेरी साइकिल का चयन करेंगे, जिसका विशेषज्ञता, कार्यक्रम के दिन पर भागीदार अनुभव को बढ़ाने में मदद करेगा।
साइकिलंग सामुदायिक खेल
साइकिलिंग एक सामुदायिक खेल है और परिवहन का एक गैर-मशीनीकृत मोड भी है। खासकर कम दूरी के लिए और दिन-प्रतिदिन की गतिविधियों के लिए। यह न केवल ईंधन/पैसे की बचत करती है, बल्कि लोगों को स्वस्थ और फिट रखता है। यह भीड़ को कम करने और यातायात प्रवाह को बेहतर बनाने और वाहनों के उत्सर्जन में कमी में भी योगदान देता है। वर्तमान में जहां चारों ओर जहां प्रदूषण से हाहाकार मचा हुआ है ऐसे में साइकिलिंग से इस प्रदूषण रूपी जहरसे बचा जा सकता है। इसके अलावा नित नई फैल रही बीमारियों से भी बचाव संभव है जिनका समाधान हर किसी के बस में संभव नहीं है। परन्तु साइकिलिंग एक खेल के साथ-साथ स्वास्थ्य के लिए हितकर साधन है। दिल्ली में रहने वाले 45 वर्षीय विलियम लाल बताते हैं, मैं 20 सालों से साइकिल चला रहा हूं. मुझे ऑफि़स पहुंचने में डेढ़ घंटे लगते हैं."वो कहते हैं, यहां सड़कों पर लोग अक्सर यातायात के नियमों का पालन नहीं करते. कार वालों का व्यवहार हमारे साथ अच्छा नहीं होता. लेकिन साइकिल हमारे लिए सबसे सस्ता साधान है। साधन

Ad Block is Banned