दूती चंद को 1.5 करोड़ का इनाम देगी उड़ीसा सरकार, CM नवीन पटनायक ने किया ऐलान

दूती चंद को 1.5 करोड़ का इनाम देगी उड़ीसा सरकार, CM नवीन पटनायक ने किया ऐलान

| Updated: 27 Aug 2018, 02:43:35 PM (IST) अन्य खेल

20 साल बाद एशियाड में भारत को पदक दिलाने वाली महिला एथलीट दूती चंद को उड़ीसा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक 1.5 करोड़ का इनाम देंगे।

नई दिल्ली। इंडोनेशिया में जारी 18वें एशियाई गेम्स में भारत को रजत पदक दिलाने वाली दूती चंद को उड़ीसा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक 1.5 करोड़ का इनाम देंगे। दूती ने 100 मीटर दौड़ में भारत को रजत पदक दिलाया है। एशियाड में दूती चंद की यह जीत इस मायने से बहुत बड़ी मानी जा रही है क्योंकि उन्होंने 20 साल बाद भारत को इस वर्ग में पदक दिलाया। दूती के इस प्रदर्शन से उड़ीसा सरकार काफी खुश है। उड़ीसा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने अपने आधिकारिक ट्वीटर अकाउंट पर पोस्ट लिखते हुए हिमा दास को बधाई दी थी।

सरकार से मिलेगा 1.5 करोड़ का इनाम-
दूती की इस कामयाबी पर उड़ीसा सरकार ने उन्हें 1.5 करोड़ का इनाम देने का फैसला लिया है। इस बात की पुष्टि समाचार एजेंसी एएनआई ने ट्वीट करते हुए दी। बताते चले दूती चंद उड़ीसा की रहने वाली है। दूती को साल 2014 में इंटरनेशनल एसोसिएशन ऑफ एथलीट फेडरेशन (आईएएएफ) ने हाइपरएंड्रोगेनिजम नीति के तहत निलंबित कर दिया था। कॉमनवेल्थ गेम्स से ठीक पहले हुए निलंबन के इस फैसले से दूती का करियर खतरे में दिख रहा था।

दूती ने ऐसे की वापसी-
अपने निलंबन के विरोध में दूती चंद ने खेल पंचाट में अपील दायर की थी। जहां लंबी जिरह के बाद दूती को जीत मिली। जिसके बाद उन्होंने ट्रैक पर वापसी की। हालांकि इस बेक्र के बाद दूती को फॉम में लौटने में काफी मेहनत करनी पड़ी। लेकिन अब दूती चंद ने अपने पहले ही एशियाई गेम्स में भारत को रजत पदक दिलाया है।

टोक्यो ओलंपिक में स्वर्ण की आस-
अब दूती चंद से भारत को टोक्यो ओलपिंक में स्वर्ण पदक की उम्मीद है। बताते चले कि वो अपने दमदार प्रदर्शन के दम पर दूती ने रियो ओलंपिक में भी क्वालिफाई किया था। भारत से ओलंपिक में प्रवेश करने वाली वो दूसरी महिला एथलीट है। दूती से पहले पीटी ऊषा ने साल 1980 में 100 मीटर की रेस के लिए क्‍वालिफाई किया था।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned