Para Asian Games: बैडमिंटन और पॉवरलिफ्टिंग में भारत को मिला पदक

Para Asian Games: बैडमिंटन और पॉवरलिफ्टिंग में भारत को मिला पदक

| Updated: 07 Oct 2018, 05:07:56 PM (IST) अन्य खेल

पैरा एशियन गेम्स 2018 में भारत को बैडमिंटन और पावरलिफ्टिंग में पदक मिला है। फरमान बाशा ने रजत पदक जीता।

नई दिल्ली। जकार्ता में जारी पैरा एशियन गेम्स 2018 में रविवार को भारतीय पुरुष बैडमिटन टीम ने टीम स्पर्धा का कांस्य पदक अपने नाम किया है। भारतीय पुरुष टीम सेमीफाइनल तक पहुंचने में सफल रही और उसने कांस्य पदक पक्का किया। सेमीफाइनल में उसे मलेशिया से 2-1 से हार का सामना करना पड़ा। मलेशिया के खिलाफ सेमीफाइनल मैच में एकल स्पर्धा में भारत के सुहास लालिनाकेरे यथिराज ने बाकरी ओमार को 21-8, 21-7 से मात देकर भारत को अच्छी शुरुआत दी।

इसके बाद, मलेशिया ने पुरुष युगल में चीह लिएक होउ और हेरुल फोजी साबा द्वारा कुमार राज और तरुण के खिलाफ 21-9, 21-8 से मिली जीत के साथ स्कोर 1-1 से बराबर कर लिया। पुरुष एकल वर्ग के एक अन्य मैच में मलेशिया ने सफलता हासिल करते हुए सेमीफाइनल मैच जीत लिया। इस मैच में मोहम्मद फारिस अहमद ने भारतीय खिलाड़ी बारेथा चिराग को 21-14, 21-15 से हराया।

बैडमिंटन के साथ ही पावरलिफ्टर फरमान बाशा ने पुरुषों की 49 किलोग्राम भारवर्ग स्पर्धा का रजत पदक अपने नाम किया। इसके अलावा, इसी स्पर्धा में भारत के ही परमजीत कुमार ने कांस्य पदक जीता। इस स्पर्धा में फरमान ने दूसरी बारी में बेहतरीन प्रदर्शन कर 128 किलोग्राम का भार उठाकर रजत पदक जीता। वह स्वर्ण पदक भी जीत सकते थे, लेकिन 133 किलोग्राम का भार उठाने में असफल रहे। लाओस के लाओपाखडी पिया ने स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया। परमजीत ने तीसरी बारी में 127 किलोग्राम का भार उठाकर कांस्य पदक हासिल किया। यह तीनों कोशिशों में उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन था।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned