भारोत्तोलन में चीन ने बनाया विश्व रिकॉर्ड

चीन के भारोत्तोलक लोंग किंगकुआन ने रियो ओलंपिक के भारोत्तोलन स्पर्धा के 56 किग्रा भार वर्ग में स्वर्ण जीतने के साथ ओलंपिक चैंपियन दक्षिण कोरिया के ओम यून चेाल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है

रियो डि जिनेरियो। चीन के भारोत्तोलक लोंग किंगकुआन ने रियो ओलंपिक के भारोत्तोलन स्पर्धा के 56 किग्रा भार वर्ग में स्वर्ण जीतने के साथ ओलंपिक चैंपियन दक्षिण कोरिया के ओम यून चेाल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है।

रविवार रात रियो सेंट्रो रोरड में चार हजार से भी अधिक दर्शकों के सामने ओम ने फाइनल में क्लीन एंड जर्क वर्ग में 169 किग्रा भार का वजन उठाया। लेकिन इसके बाद बीजिंग ओलंपिक चैंपियन चीनी खिलाड़ी किंगकुआन ने फाइनल में 170 किग्रा भार उठाकर स्वर्ण पदक अपने नाम कर लिया।

25 वर्षीय किंगकुआन पहले भारोत्तोलक बन गये हैं जिन्होंने आठ साल के अंतराल पर अपना दूसरा पदक जीता है। चीनी भारोत्तोलक ने कुल 307 किग्रा भार उठाने के साथ ही हलील मुतलु के रिकॉर्ड को भी तोड़ दिया है। मुतलु ने 2000 में सिडनी ओलंपिक में कुल 305 किग्रा भार उठाया था।

वियतनाम के किम तुआन थाच को कांस्य पदक मिलने की संभावना थी लेकिन वह क्लीन एंड जर्क वर्ग के अपने तीनों ही प्रयासों में एक भी बार भार नहीं उठा सके। थाईलैंड के 20 वर्षीय क्रुराइथोंग सिनफेट को तीसरा स्थान हासिल हुआ जिन्होंने ङ्क्षकगकुआन से 18 किग्रा कम भार उठाया। 
Show More
भूप सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned