सर्वोच्च न्यायालय ने खारिज की कबड्डी महासंघ की याचिका

सर्वोच्च न्यायालय ने खारिज की कबड्डी महासंघ की याचिका

| Publish: Aug, 31 2018 02:51:20 PM (IST) अन्य खेल

सर्वोच्च न्यायालय ने शुक्रवार को एमेच्योर कबड्डी महासंघ (एकेएफआई) और इसकी पूर्व अध्यक्ष मृदुल भदोरिया द्वारा दायर की गई याचिकाओं को खारिज कर दिया है। एकेएफआई और मृदुल ने दिल्ली उच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ सर्वोच्च न्यायालय में याचिका दायर की थी।

नई दिल्ली। सर्वोच्च न्यायालय ने शुक्रवार को एमेच्योर कबड्डी महासंघ (एकेएफआई) और इसकी पूर्व अध्यक्ष मृदुल भदोरिया द्वारा दायर की गई याचिकाओं को खारिज कर दिया है। एकेएफआई और मृदुल ने दिल्ली उच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ सर्वोच्च न्यायालय में याचिका दायर की थी।आपको बता दें दिल्ली उच्च न्यायालय ने नए सिरे से एकेएफआई चुनाव कराने के आदेश दिए और तब तक इसका कामकाज देखने के लिए पूर्व आईएएस अधिकारी सनत कौल को प्रशासक नियुक्त किया था।

यह भी पढ़ें :- Eng vs Ind: इंग्लैंड की पहली पारी हुई समाप्त, 250 का आंकड़ा भी नहीं छू सकी मेजबान टीम

उच्च न्यायालय ने एकेएफआई के चुनावों को अवैध करार दिया
उल्लेखनीय है कि दिल्ली उच्च न्यायालय ने 3 अगस्त को एकेएफआई के चुनावों को अवैध करार दिया था और इसके साथ ही एकेएफआई के आजीवन अध्यक्ष जनार्दन सिंह गहलोत और एकेएफआई की अध्यक्ष मृदुल भदोरिया को उनके पदों से तत्काल प्रभाव से हटा दिया था। इसके साथ ही दिल्ली उच्च न्यायालय ने नए सिरे से एकेएफआई चुनाव कराने के आदेश दिए और तब तक इसका कामकाज देखने के लिए पूर्व आईएएस अधिकारी सनत कौल को प्रशासक नियुक्त किया है।

यह भी पढ़ें :- धोनी के शिमला दौरे को लेकर कांग्रेस ने उठाये सवाल, मुख्यमंत्री ने कहा धोनी के आने से टूरिज्म को फायदा

गहलोत व उनकी पत्नी की पदों पर रहने की अवधि समाप्त
न्यायालय की कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश गीता मित्तल और न्यायमूर्ति सी हरि शंकर की एक खंडपीठ एकेएफआई के आजीवन अध्यक्ष जनार्दन सिंह गहलोत और एकेएफआई की अध्यक्ष मृदुल भदोरिया के खिलाफ दायर एक याचिका पर सुनवाई करते हुए यह फैसला सुनाया था।सर्वोच्च न्यायालय ने माना है कि गहलोत का परिवार अपने पदों को बनाए रखना चाहता है, जिसके कारण इन पदों का दुरुपयोग हो रहा है और ऐसे में न्यायालय ने गहलोत व उनकी पत्नी की इन पदों पर रहने की अवधि को समाप्त कर दिया है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned