बैडमिंटन : थाईलैंड ओपन के फाइनल में पहुंची रैंकीरेड्डी और चिराग की जोड़ी

बैडमिंटन : थाईलैंड ओपन के फाइनल में पहुंची रैंकीरेड्डी और चिराग की जोड़ी

Mazkoor Alam | Publish: Aug, 03 2019 10:53:35 PM (IST) | Updated: Aug, 03 2019 10:54:13 PM (IST) अन्य खेल

रैंकीरेड्डी और चिराग की जोड़ी ने सेमीफाइनल मुकाबले में दक्षिण कोरिया के को सुंग ह्युन और शिन बाएक चेयोल को मात दी।

बैंकॉक : भारत के सात्विकसाइराज रैंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी की जोड़ी ने शनिवार को बीडब्लूएफ वर्ल्ड टूर थाईलैंड ओपन बैडमिंटन के पुरुष युगल के फाइनल में पहुंच गई। रैंकीरेड्डी और चिराग की जोड़ी ने सेमीफाइनल मुकाबले में दक्षिण कोरिया के को सुंग ह्युन और शिन बाएक चेयोल को मात दी। भारतीय जोड़ी ने दक्षिण कोरियाई जोड़ी को तीन सेट तक चले कड़े संघर्षपूर्ण मुकाबले में 22-20, 22-24, 21-19 से मात दी। यह मुकाबला इतना रोमांचक था कि आखिरी सेकंड तक यह नहीं कहा जा सकता था कि कौन-सी जोड़ी विजयी होगी।

भारतीय जोड़ी का फाइनल में चीनी जोड़ी से होगा सामना

अब रैंकीरेड्‌डी और शेट्‌टी का फाइनल में चीनी जोड़ी ली जुन हुई और लियू यू चेन से होगा। चीनी जोड़ी ने जापान के हिरोयुकी एंडो और युटा वाटानाबे को 21-13, 22-20 से हराकर फाइनल में कदम रखा है।
बता दें कि इस टूर्नामेंट में भारत के स्टार खिलाड़ियों का प्रदर्शन बेहद खराब रहा है। सायना नेहवाल, पारुपल्ली कश्यप, किदाम्बी श्रीकांत जैसे भारत के दिग्गज एकल खिलाड़ी टूर्नामेंट के पहले दौर में ही हार कर बाहर हो गए थे। वहीं, पीवी सिंधू ने आखिरी वक्त में इस टूर्नामेंट से अपना नाम वापस ले लिया था।

शेट्‌टी ने जताई खुशी, कहा- हम शांत हुए हैं

मैच जीतने के बाद चिराग शेट्‌टी ने कहा कि उन्हें लगता है कि वे और रैंकीरेड्‌डी दोनों पहले से कहीं ज्यादा शांत हुए हैं। यह उनके खेल में बहुत बड़ा सुधार है। दूसरे गेम में हमारे पास दो मैच प्वाइंट थे। हम निर्णायक अंक को बेहद आसानी से इसलिए अपने नाम करने में सफल रहे, क्योंकि हम धैर्य के साथ खेल रहे थे। अंक लेने में जल्दबाजी नहीं दिखाई। उन्होंने कहा कि मैच का आखिरी अंक सबसे अहम था, क्योंकि सेमीफाइनल में शिन को की जोड़ी को हराना आसान काम नहीं था। ये ऐसी जोड़ी है, जिसे अतीत में हमने अच्छा करते देखा है।

रैंकीरेड्डी ने कहा, शांत रहने से मिली मदद

रैंकीरेड्डी ने कहा कि वे अपने प्रदर्शन से काफी खुश हैं। उन्होंने कहा कि सकारात्मक सोचच के शांत रहते हुए धैर्य के साथ खेलने से हमें काफी मदद मिली है। उन्होंने कहा कि हमें विश्वास है कि रविवार को फाइनल में भी हम अच्छा खेलेंगे और जीतेंगे। हम अपने पहले फाइनल को लेकर काफी उत्साहित हैं। हम अपना सर्वश्रेष्ठ देने की कोशिश करेंगे और भारत को गर्व का मौका उपलब्ध कराएंगे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned