Women’s World Boxing Championships: मैरीकॉम का पंच विपक्षियों पर भारी, झमाझम मुक्कों की बारिश कर 4 भारतीय क्वार्टर फाइनल में

देश की राजधानी में जारी 10वीं आईबा विश्व महिला मुक्केबाजी चैम्पियनशिप में भारत का शानदार प्रदर्शन जारी है और प्रशंसकों को कई पदकों की आस भी बंध गई है।

By: Akashdeep Singh

Published: 19 Nov 2018, 09:00 AM IST

नई दिल्ली। भारत की अनुभवी मुक्केबाज एम सी मैरीकॉम ने दिल्ली में चल रही 10वीं आईबा विश्व महिला मुक्केबाजी चैम्पियनशिप के क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया जबकि अनुभवी मुक्केबाज सरिता देवी को हारकर बाहर हो जाना पड़ा। इसी के साथ भारत की 3 और महिला मुक्केबाजों ने क्वार्टर-फाइनल में जगह बना ली है। देश की राजधानी में जारी इस विश्व चैंपियनशिप में भारत का शानदार प्रदर्शन जारी है और प्रशंसकों को कई पदकों की आस भी बंध गई है।

 

मैरीकॉम क्वार्टर-फाइनल में-
पांच बार की विश्व चैम्पियन मैरीकॉम ने 48 किग्रा में कजाखस्तान की ऐजरिम कासेनायेवा को 5-0 से मात दी। मणिपुर की मैरीकॉम का क्वार्टर फाइनल में मंगलवार को चीन की वू यू से सामना होगा। चीन की इस खिलाड़ी ने इससे पहले फिलिपिंस की जोसी गाबुओ को मात दी।मैच के बाद मैरी कॉम ने कहा, "मैं अच्छा महसूस कर रही हूं। दवाब हट गया। मैंने हमेशा मुक्केबाजी का लुत्फ उठाया है। मुक्केबाजी मेरी जिंदगी रही है, चाहे मैं मुक्केबाजी करूं या टूर्नामेंट में खेलूं।" ओलिम्पक पदक विजेता ने कहा, "मैं खुश हूं कि उम्मीदों पर खरा उतर सकी। जिस तरह से प्रशंसकों का समर्थन मिला, उसने मेरे अंदर दोगुना उत्साह भर दिया।"


सरिता की हार-
सरिता देवी को लाइटवेट 60 किग्रा में आयरलैंड की कैली हैरिंगटन से 2-3 से हार का सामना करना पड़ा। यूरोपियन विजेता 28 साल की केली की जीत की वजह तीसरा राउंड रही, जहां आयरलैंड की इस मुक्केबाज ने भारत की अनुभवी खिलाड़ी को पूरी तरह से बैकफुट पर रखा। 36 साल की सरिता हालांकि पहले दो राउंड में पूरी तरह से अपनी विपक्षी पर हावी थीं। पांच में से तीन जजों ने आयरलैंड की मुक्केबाज के पक्ष में 29-28 अंक दिए। सरिता ने कहा, "मुझे लगता है कि मैं थोड़ी दुर्भाग्यशाली रही। कुछ अंक मेरे पक्ष में नहीं आए, लेकिन मुझसे जब तक बन पड़ेगा मैं तब तक मुक्केबाजी करूंगी।"


मनीषा भी क्वार्टर में-
इससे पहले दोपहर में खेले गए मुकाबले में मनीषा ने 54 किलोग्राम भारवर्ग में मौजूदा विश्व विजेता कजाकिस्तान की डिना झोलामैन को 5-0 से मात देते हुए क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया। यह मनीषा की कजाकिस्तान की मुक्केबाज के ऊपर लगातार दूसरी जीत है। इससे पहले, मनीषा ने डिना को पोलैंड में हराया था। डिना के खिलाफ पहले ही जीतने का अनुभव हासिल कर चुकी मनीषा ने इस मुकाबले को 5-0 से जीता। मनीषा ने कहा, "मैं उन्हें पहले ही हरा चुकी हूं। मैंने अपनी स्पीड पर ध्यान दिया और अपने लक्ष्यों पर नजर रखी। पहले दो राउंड में मैंने अच्छा किया लेकिन तीसरे राउंड में हम दोनों लगभग बराबरी पर थे।" क्वार्टर फाइनल में मनीषा का सामना टॉप सीड स्टोयका झेलयाकोवा से होगा जिन्होंने उज्बेकिस्तान की तुरसुनोय राखिमोवा को 4-1 से हराया।


लवलिना की शानदार जीत-
वहीं, लवलिना ने भी शानदार प्रदर्शन करते हुए 69 किलोग्राम भारवर्ग के क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया। उन्होंने प्री-क्वार्टर फाइनल में पनामा की अथेयना बायलोन को मात दी। जेजू में 2014 में खेली गई विश्व चैम्पियनशप में स्वर्ण पदक जीतने वाली खिलाड़ी के खिलाफ जीत से भारतीय खिलाड़ी का आत्मविश्वास बढ़ा होगा। लवलिना ने यह मुकाबला 27-30, 27-30, 27-30, 27-30, 27-30 से जीता। अगले दौर में उनका सामना आस्ट्रेलिया की काये फ्रांसेस से होगा।


क्वार्टर में पहुंचने वाली चौथी भारतीय भाग्यबती रहीं-
दोपहर के आखिरी मुकाबले में भाग्यबती कचारी ने 81 किलोग्राम भारवर्ग के मुकाबले में जर्मनी की इरिना निकोलेटा स्कोनबेर्गर पर 4-1 से जीत हासिल की। जजों ने जो अंक (29-28, 29-28, 29-28, 29-28, 29-28) दिए उनमें भारतीय खिलाड़ी को बढ़त हासिल थी।

Show More
Akashdeep Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned