विश्व एथलेटिक्स चैम्पियनशिपः जिन्सन, दुती से भारत को पदक की उम्मीद

हिमा दास और नीरज चोपड़ा के बाहर जाने से भारत की पदकों की उम्मीद को लगा झटका

By: Manoj Sharma Sports

Published: 26 Sep 2019, 06:14 PM IST

दोहा (कतर)। विश्व एथलेटिक्स चैम्पियनशिप की शुरुआत शुक्रवार से खलीफा स्टेडियम में हो रही है। विश्व के दिग्गज एथलीट इस टूर्नामेंट में हिस्सा ले रहे हैं।

भारत के लिए हालांकि अभी तक यह टूर्नामेंट बेहद खराब रहा है, हालांकि दुती चंद, जिन्सन जॉनसन जैसे खिलाड़ियों की रहते उम्मीद की जा सकती है कि भारत अपने पुराने प्रदर्शन से बेहतर करेगा।

अभी तक भारत के हिस्से इस चैम्पियनशिप में सिर्फ एक पदक है, वो भी कांस्य जो 2003 में अंजू बॉबी जॉर्ज ने लम्बी कूद में दिलाया था।

दुती ने विश्व यूनिवर्सिटी चैम्पियनशिप में स्वर्ण जीत बड़ी सफलता हासिल की थी। आईएएएफ के निमंत्रण पर उन्हें भारतीय टीम में शामिल किया गया। दुती 100 मीटर में हिस्सा लेंगी और जिस तरह की फॉर्म में हैं, उम्मीद की जा सकती है कि वह पदक जीतकर लौटेंगी।

भारत को हालांकि हिमा दास और नीरज चोपड़ा के बाहर जाने से पदक की उम्मीदों को झटका लगा है। हिमा और नीरज दोनों चोट के कारण विश्व चैम्पियनशिप में हिस्सा नहीं ले पाएंगी।

हिमा को पीठ में चोट है तो वहीं नीरज को कोहनी में चोट है। एशियाई खेलों में इन दोनों ने बेहतरीन प्रदर्शन किया था और तब से यह दोनों देश के लिए पदक की उम्मीद बनकर उभरे हैं। हिमा को चार गुणा 400 मीटर महिला और मिश्रित रिले टीम में जगह मिली थी।

भाला फेंक खिलाड़ी नीरज के नहीं होने से शिवापाल सिंह पर भार आ गया है। नीरज की जगह वह टीम की जिम्मेदारी संभालेंगे। महिलाओं में भालाफेंक में अन्नू रानी को चुना गया है। ऊंची कूद खिलाड़ी तेजस्वनी शंकर ने भी विश्व चैम्पियनशिप में हिस्सा लेने में असमर्थता जताई है। भारत के लिए यह भी एक नुकसान है।

पदक की उम्मीदों की बात की जाए तो, एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेता और हाल में बर्लिन में 1500 मीटर दौड़ में रजत पदक जीतने वाले धावक जॉनसन से काफी उम्मीदें हैं। जॉनसन इस समय अपने कोच स्कॉट सिमंस के साथ अमेरिका में अभ्यास कर रहे हैं। महिलाओं में इस वर्ग में पीयू चित्रा भारत का प्रतिनिधित्व करेंगी।

लंबी कूद धावक एम श्रीशंकर चोट के बाद अपना शानदार प्रदर्शन करना चाहेंगे। उन्होंने पिछले साल भुवनेश्वर में हुए राष्ट्रीय ओपन चैम्पियनशिप में 8.11 और 8.20 मीटर की छलांग के साथ राष्ट्रीय रिकार्ड कायम किया था।

श्रीशंकर ने पिछले महीने ही पांचवीं इंडियन ग्रां प्री में आठ मीटर की लंबी छलांग लगाकर सीजन का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया था।

पुरुष चार गुणा 400 मीटर और मिश्रित रिले की बात की जाए तो यहां मोहम्मद अनस, निर्मल नोह, एलेक्स एंटनी, अमोज जैकब, केएस. जीवन, धरुण अय्यासामी और हर्ष कुमार को चुना गया है।

शॉट पुट में एशियाई खेलों में स्वर्ण जीतने वाले तेजिंदर पाल सिंह तूर भी पदक के दावेदार के रूप में देखे जा सकते हैं।

टीमें इस प्रकार हैं:

पुरुष टीम: जाबिर एमपी (400 मीटर बाधा दौड़), जिन्सन जॉनसन (1500 मीटर), अविनाश सेबल (3000 मीटर स्टीपलचेज), के.टी इरफान और देवेंद्र सिंह (20 किमी पैदल चाल), टी. गोपी (मैराथन), एम. श्रीशंकर (लंबी कूद), तजिंदर पाल सिंह तूर (शॉट पुट), शिवपाल सिंह (भाला फेंक), मोहम्मद अनस, निर्मल नाओ टॉम, एलेक्स एंटनी, अमोज जैकब, केएस जीवन, धारुन अय्यास्वामी और हर्ष कुमार (चार 400 मीटर पुरुष और मिश्रित रिले टीम)।

महिला टीम: पी यू चित्रा (1500 मीटर), अन्नू रानी (भाला फेंक), हिमा दास, विस्मया वीके, पूवम्मा एमआर, जिस्ना मैथ्यू, रेवती वी, सुभावनकत्सन, विथ्या आर (चार गुणा 400 मीटर महिला और मिश्रित रिले)।

Manoj Sharma Sports
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned