विश्व मुक्केबाजी चैम्पियनशिप : हारकर भी अमित पंघल ने रचा इतिहास, रजत जीतने वाले पहले भारतीय

विश्व मुक्केबाजी चैम्पियनशिप : हारकर भी अमित पंघल ने रचा इतिहास, रजत जीतने वाले पहले भारतीय

Mazkoor Alam | Updated: 21 Sep 2019, 09:09:54 PM (IST) अन्य खेल

अमित पंघल को कड़े मुकाबले में उन्हें उज्बेकिस्तान के बॉक्सर शाखोबिदीन जोइरोव के हाथों फाइनल मुकाबले में 5-0 की हार झेलनी पड़ी।

एकातेरिनबर्ग : रुस में चल रहे विश्व मुक्केबाजी चैम्पियनशिप के 52 किलोग्राम भारवर्ग के फाइनल में भारत के पुरुष मुक्केबाज अमित पंघल शनिवार को हार रक रजत पदक से संतोष करना पड़ा। एक कड़े मुकाबले में उन्हें रियो ओलम्पिक 2016 में स्वर्ण जीतने वाले उज्बेकिस्तान के शाखोबिदीन जोइरोव के हाथों 5-0 की हार झेलनी पड़ी। इसके बावजूद अमित पंघल इतिहास रचने में कामयाब हो गए। वह भारत के पहले पुरुष मुक्केबाज हैं, जो विश्व बॉक्सिंग चैम्पियनशिप के फाइनल में पहुंचा है। अमित से पहले भारत का कोई पुरुष मुक्केबाज फाइनल तक भी नहीं पहुंच सका था।

उज्बेकी खिलाड़ी का किया जमकर सामना

इस टूर्नामेंट में अमित जिस फॉर्म में चल रहे थे, उससे भारतीय प्रशंसकों को यह उम्मीद बंध गई थी वह भारत को इस टूर्नामेंट में पहला स्वर्ण दिलाएंगे। उन्होंने जोइरेव को टक्कर भी बराबरी की दी, लेकिन जोइरेव को पछाड़ नहीं सके। उन्होंने हमेशा की तरह डिफेंसिव शुरुआत की। वह विपक्षी को तौल रहे थे तो जोइरेव भी अमित की गलती का इंतजार करते रहे। दोनों ने कुछ पंच भी लगाए। लेकिन अमित के पंच सही जगह नहीं पड़े, जबकि जोइरेव ने राइट जैब का अच्छा इस्तेमाल करते हुए कुछ सटीक पंच अमित को जड़े। दूसरे दौर की शुरुआत दोनों खिलाड़ियों ने आक्रमक अंदाज में की। अमित ने जल्दबाजी दिखाई। इसका पूरा फायदा उज्बेकी खिलाड़ी ने उठाया। उज्बेकिस्तान के खिलाड़ी ने अमित से दूरी बनाकर रखी और काउंटर अटैक के जरिये प्वांयट अर्जित किए। अमित ने राउंड के आखिरी में बाएं जैब से सटीक पंच लगाए।

तीसरे राउंड ने अमित ने दिखाया अच्छा खेल

तीसरे राउंड में दोनों खिलाड़ी और आक्रामक हो गए। इस दौरान दोनों ने एक-दूसरे को पंच मारने के प्रयास में एक-दूसरे से लिपट भी गए। इसके लिए रेफरी से दोनों को चेतावनी मिली। आखिरी राउंड में जोइरेव जल्दबाजी कर रहे थे, लेकिन उनके कुछ पंच सही ठिकाने पर लगे। अमित ने भी आखिरी मिनटों में सतर्कता दिखाई और डिफेंस को मजबूत करते हुए पंच मारे, लेकिन यह काफी नहीं था।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned