एयर स्ट्राइक के बाद पहली बार बालाकोट पहुंचा मीडिया, पाक सेना ने अब भी कई जगहों पर जाने से रोका

  • 32 दिन बाद मीडिया को मौके पर ले गई पाक सेना
  • पत्रकारों को नहीं मिली कुछ अहम जानकारी
  • करीब साढ़े पांच घंटों तक घटनास्थल पर रहे मीडियाकर्मी

By: Kaushlendra Pathak

Updated: 30 Mar 2019, 08:28 AM IST

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के पुलावामा में आतंकी हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान के बालाकोट पर एयर स्ट्राइक किया था। भारत सरकार ने इस कार्रवाई में कई आतंकी ठिकानों को ध्वस्त करने और आतंकियों के मारे जाने की जानकारी दी थी। हालांकि, पाकिस्तान हमेशा इस कार्रवाई पर खुलकर बोलने से बचता रहा। इतना ही नहीं पाक सेना ने किसी मीडिया समूह या पत्रकारों को मौके पर जाने तक नहीं दिया। लेकिन, घटना के 32 दिन बाद पाक सेना कुछ पत्रकारों को लेकर बालाकोट पहुंची।

पत्रकारों को बालाकोट ले गई पाक सेना

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, जो भी पत्रकार पाक सेना के साथ बालाकोट पहुंचे थे उन्हें निराशा ही हाथ लगी है। पाक सेना ने अभी भी बालाकोट के कुछ इलाकों को घेर रखा है और वहां पर किसी को जाने की इजाजत नहीं दी। रिपोर्ट्स की मानें तो बालाकोट स्थित मदरसे में अभी भी 300 बच्चे मौजूद हैं। पत्रकारों को बच्चों से बात करने और वीडियो बनाने की इजाजत दी गई। बताया जा रहा है कि 28 मार्च को हेलिकॉप्टर से पत्रकारों को मौके पर ले जाया गया। पत्रकार 10 बजे सुबह से लेकर शाम साढ़े तीन बजे तक बालाकोट स्थित घटनास्थल पर मौजूद रहे। लेकिन, कुछ अहम जानकारी पत्रकारों को नहीं मिल पाई। गौरतलब है कि एयर स्ट्राइक के तुरंत बाद एक इंटरनेशनल न्यूज एजेंसी टीम तीन बार मौके पर जाने की कोशिश की, लेकिन उन्हें रोक दिया गया।

26 फरवरी को देर रात भारत ने किया था एयर स्ट्राइक

गौरतलब है कि 26 फरवरी को देर रात साढ़े तीन बजे भारत ने पाकिस्तान के अंदर बालाकोट में एयर स्ट्राइक किया था। वायुसेना के लड़ाकू विमान मिराज द्वारा इस हमले में तकरीबन 1000 किलो बम गिराए गए थे। भारत की इस कार्रवाई में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का ठिकाना तबाह हो गया था। साथ ही कहा गया था कि इस कार्रवाई में करीब तीन सौ आतंकी मारे गए हैं।

Show More
Kaushlendra Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned