पाकिस्तान में सिंध प्रांत के सीएम ने दिए निर्देश, टीका लगवाने वाले को ही मिलेगा वेतन

पाकिस्तान में सिंध प्रांत के सीएम मुराद अली शाह ने संक्रमण को लेकर एक बैठक के दौरान यह आदेश पारित किया।

By: Mohit Saxena

Published: 04 Jun 2021, 09:01 PM IST

लाहौर। पाकिस्तान में सिंध प्रांत के सीएम ने गुरुवार को अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए हैं कि अगर सरकारी कर्मी कोरोना वायरस का टीका नहीं लगवाते हैं तो जुलाई से उनका वेतन रोक लिया जाएगा। सीएम मुराद अली शाह ने संक्रमण को लेकर एक बैठक के दौरान यह आदेश पारित किया।

Read More: इजराइल: आठ दलों वाले गठबंधन को सरकार बनाने का मौका, क्या खत्म होगा राजनीतिक गतिरोध?

शाह के अनुसार जो सरकारी कर्मी टीका नहीं लगवाएंगे, उनका जुलाई माह का वेतन काट लिया जाएगा। अधिकारियों के अनुसार इससे संबंधित वित्त मंत्रालय को निर्देश जारी कर दिए गए हैं। सिंध सरकार पहले ही प्रांत के सभी शिक्षकों के लिए टीका लगवाने की समय सीमा पांच जून तक तय कर चुकी है ताकि सात जून से सभी शैक्षणिक संस्थानों को खोल दिया जाए।

घरेलू वैक्सीन बनाने का दावा

पाकिस्तान का दावा है कि उसने कोरोना वायरस की घरेलू वैक्सीन बना ली है। इसका नाम पाकवैक (PakVac) है। मंगलवार को एक समारोह के दौरान इसे लॉन्च भी कर दिया गया है। इस वैक्सीन की जानकारी डॉक्टर फैसल सुल्तान ने दी। सुल्तान पाक पीएम इमरान खान के स्वास्थ्य सलाहकार भी हैं। इससे पहले पाक चीन और रूस से वैक्सीन खरीद रहा था। हालांकि अभी तक वैक्सीन के प्रभावी होने के मापदंड सामने नहीं आए हैं।

Read More: अमरीका के राष्ट्रपति जो बाइडेन का ऐलान, कोरोना वैक्सीन लगवाने पर मिलेगी फ्री बीयर

सुल्तान के अनुसार हमने अपनी वैक्सीन तैयार कर ली है। कुछ ही दिनों में हम इसका बड़े पैमाने पर उत्पादन भी शुरू कर देंगे। वैक्सीन लॉन्च के मौके पर मीडिया से बातचीत में डॉक्टर फैसल सुल्तान ने कहा- हमारे देश के लिए यह जरूरी था कि हम अपनी घरेलू वैक्सीन तैयार कर लें। हम जल्द ही इसका बड़े पैमाने पर उत्पादन शुरू कर देंगे।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned