पाकिस्तान में मिला 1300 साल पुराने प्राचीन हिंदू मंदिर का ढांचा, पानी का कुंड और मीनारें भी मौजूद

HIGHLIGHTS

  • पाकिस्तान ( Pakistan ) में 1300 साल पुराने एक प्राचीन हिन्दू मंदिर ( Hindu Temple ) मिला है।
  • उत्तर पश्चिमी पाकिस्तान के स्वात जिले के एक पहाड़ में पाकिस्तानी और इतालवी पुरातात्विक विशेषज्ञों ने इस मंदिर को खोजा है।

By: Anil Kumar

Updated: 20 Nov 2020, 06:23 PM IST

इस्लामाबाद। पाकिस्तान ( Pakistan ) में लगातार हिन्दुओं और अन्य अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों को प्रताड़ित किया जा रहा है। हिन्दू धर्म के पूजा स्थलों को निशाना बनाया जा रहा है। इस बीच एक बड़ी खबर सामने आई है।

पाकिस्तान में 1300 साल पुराने एक प्राचीन हिन्दू मंदिर ( Hindu Temple in Pakistan ) का ढांचा मिला है। 1300 साल पुराने इस प्राचीन मंदिर को उत्तर पश्चिमी पाकिस्तान के स्वात जिले के एक पहाड़ में पाकिस्तानी और इतालवी पुरातात्विक विशेषज्ञों ने खोजा है।

Pakistan: इस्लामाबाद में कृष्ण मंदिर निर्माण पर रोक के बाद अब राम मंदिर में पूजा पर लगा प्रतिबंध

पुरातात्विक विशेषज्ञों की टीम ने बारिकोट घुंडई में खुदाई की जहां पर इस मंदिर का पता चला। गुरुवार को खैबर पख्तूनख्वा के पुरातत्व विभाग के फजले खलीक ने इसकी पुष्टि करते हुए जानकारी दी कि यह मंदिर 1,300 साल पहले हिंदू शाही काल के दौरान बनाया गया था। उन्होंने बताया कि यह मंदिर भगवान विष्णु का है।

पास में पानी का कुंड भी मौजूद

आपको बता दें कि विशेषज्ञों को मंदिर के पास में ही पानी का कुंड भी मिला है। पुरातत्वविदों को खुदाई के दौरान मंदिर स्थल के पास छावनी और पहरे के लिए मीनारें आदि भी मिले हैं। खलीक ने कहा कि इलाके में पहली बार हिंदू शाही काल के निशान मिले हैं।

बता दें कि हिंदू शाही या काबुल शाही एक हिंदू राजवंश था जिसने काबुल घाटी (पूर्वी अफगानिस्तान), गंधार (आधुनिक पाकिस्तान) और वर्तमान उत्तर पश्चिम भारत में शासन किया था। इनका शासन काल 850-1026 ई तक रहा था।

Pakistan: इस्लामाबाद में बनने वाले पहले कृष्ण मंदिर के खिलाफ फतवा जारी, कहा- इस्लाम इजाजत नहीं देता

विशेषज्ञों का मानना है कि पास में मिले पानी के कुंड का इस्तेमाल संभवत: श्रद्धालु पूजा से पहले स्नान करने के लिए करते थे। इटली के पुरातत्व मिशन के प्रमुख डॉ लुका ने कहा है कि स्वात जिले में मिला गंधार सभ्यता का यह पहला मंदिर है। इससे पहले स्वात जिले में कई प्राचीन आकृतियां व स्ट्रक्चर पाए गए हैं। इस जिले में बौद्ध धर्म के कई पूजा स्थल स्थित हैं।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned