पाकिस्तान: रिपोर्ट में खुलासा, बीते 3 महीने में महिलाओं के खिलाफ 200 फीसदी बढ़ी हिंसा

HIGHLIGHTS

  • पाकिस्तान में लॉकडाउन के दौरान घरेलू हिंसा के मामले अन्य देशों की तरह बढ़े हैं
  • हाल के महीनों में पाकिस्तान में कुल अपराध का 90 फीसदी हिस्सा महिलाओं व बच्चों से संबंधित रहा है
  • सस्टेनेबल सोशल डेवलपमेंट आर्गनाइजेशन ( SSDO) की इस साल की जनवरी से मार्च तक की रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है

By: Anil Kumar

Updated: 12 May 2020, 10:51 PM IST

इस्लामाबाद। कोरोना संकट के बीच पाकिस्तान से एक ऐसी खबर सामने आई है, जो बहुत ही शर्मनाक है। एक रिपोर्ट में ये खुलासा हुआ है कि पाकिस्तान में बीते तीन महीने में महिलाओं के खिलाफ हिंसा के मामलों में 200 फीसदी की वृद्धि हुई है।

सस्टेनेबल सोशल डेवलपमेंट आर्गनाइजेशन ( SSDO) की इस साल की जनवरी से मार्च तक की रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है। गौरतलब है कि रिपोर्ट में जिस अवधि का उल्लेख किया गया है, वह कोरोना महामारी के फैलने से पहले की है। इस महामारी के दौरान लगे लॉकडाउन में घरेलू हिंसा के मामले अन्य देशों की तरह पाकिस्तान में भी बढ़े हैं। लेकिन, एसएसडीओ की रिपोर्ट में इस अवधि के बजाए उस समय का जिक्र है जिसे आमतौर से 'सामान्य' कहा जाता है।

Lockdown बेरोज़गार होकर लौटे कामगारों को जल्द मिलेगा काम काम, रेलवे कर रहा है इंतज़ाम

'द न्यूज' में प्रकाशित रिपोर्ट में कहा गया है कि एसएसडीओ की रिपोर्ट राष्ट्रीय व प्रांतीय स्तर पर प्रकाशित समाचारों पर आधारित है। यह स्पष्ट है कि घटनाएं जितनी सामने आई हैं, उससे कहीं अधिक हो सकती हैं क्योंकि देश में महिलाओं पर हिंसा या अन्य अपराधों की खबरें कभी भी पूरी तरह से सामने नहीं आतीं।

कुल अपराध का 90 फीसदी महिलाओं व बच्चों से संबंधित

एसएसडीओ की रिपोर्ट में बाल विवाह, बच्चियों ब बच्चों का यौन शोषण, बाल श्रम, घरेलू हिंसा, अपहरण, दुष्कर्म व हत्या की वारदात को शामिल किया गया है। इसमें कहा गया है कि हाल के महीनों में पाकिस्तान में कुल अपराध का 90 फीसदी हिस्सा महिलाओं व बच्चों से संबंधित रहा है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि पहले के महीनों की तुलना में फरवरी-मार्च 2020 में महिलाओं के खिलाफ हिंसा में 200 फीसदी की बढ़ोतरी हुई। मार्च के महीने में दुष्कर्म की घटनाओं में भारी बढ़ोतरी दर्ज की गई।

भारतीय रेल ने पैसेंजर ट्रेनें की बहाल, नई दिल्ली से पहली स्पेशल ट्रेन छत्तीसगढ़ के बिलासपुर के लिए चली

इसके मुताबिक, साल 2020 के जनवरी-फरवरी महीने की तुलना में मार्च के महीने में पाकिस्तान में हत्या की घटनाओं में 142 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई।

coronavirus
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned