पाकिस्तान: बलूचिस्तान में एक यात्री बस पर हमला, 14 लोगों को वाहन से उतारकर गोली मारी

पाकिस्तान: बलूचिस्तान में एक यात्री बस पर हमला, 14 लोगों को वाहन से उतारकर गोली मारी

Mohit Saxena | Publish: Apr, 18 2019 12:24:21 PM (IST) | Updated: Apr, 18 2019 02:12:11 PM (IST) पाकिस्तान

  • स्टल हाईवे पर एक बस को रोका गया
  • गोली मारने से पहले सभी का पहचान पत्र जांचा गया
  • हमले के बाद गंभीर चिंता जताई गई

लाहौर। पाकिस्तानी बंदूकधारियों के एक समूह ने पाक दक्षिणी प्रांत बलूचिस्तान में एक बस पर हमला किया, जिसमें कम से कम 14 यात्री मारे गए। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार मकरान कोस्टल हाईवे पर कई बसों को रोका गया, जिसमें 14 यात्रियों को उतार दिया गया। सभी की पहचान पत्र जांचने के बाद उन्हें गोली मार दी गई।बताया जा रहा है कि हमलावर सेना की वर्दी में थे। गौरतलब है कि पाकिस्तान में आतंकवाद को लेकर इमरान सरकार ने पिछले दिनों कुछ सख्ती दिखाई है।बीते दिनों क्वेटा में हजारा समुदाय पर हुए हमले के बाद गंभीर चिंता जताई गई थी। एक बैठक में इसे लेकर चर्चा की गई और कार्रवाई की बात कही गई थी।

 

 

पांच से छह बसों को रोक लिया था

पाकिस्तानी मीडिया के अनुसार पुलिस ने बताया कि 15-20 अज्ञात हमवावरों ने कराची और ग्वादर के बीच पांच से छह बसों को रोक लिया था। दोपहर का वक्त था बंदूकधारियों ने बस को रोका और 16 यात्रियों के पहचान पत्र देखकर उन्हें बस से उतार लिया था। यह एक सुनियोजित हमला था। पहले पहचान पत्र के जरिए पीड़ितों की पहचान की गई। इसके बाद करीब से गोली मारी दी गई। इस हमले में 14 लोगों की मौत हो गई। वहीं दो यात्री भागने में कामयाब रहे। उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। गृह सचिव ने कहा कि मृतकों में एक नौसेनिक अधिकारी और तट रक्षक सदस्य भी शामिल था।

खास समुदाय को लगातार निशाना बनाया जा रहा

बताया जा रहा है कि पाकिस्तान में एक खास समुदाय को लगातार निशाना बनाया जा रहा है। इस हमले की अभी तक किसी ने जिम्मेदारी नहीं ली है। हजारा समुदाय पर लगातार हमले किए जा रहे हैं। माना जा रहा है कि मामला इससे जुड़ा हो सकता है। पिछले चार दशकों से हिंसा से बचने के लिए अफगानिस्तान से भागकर आए करीब पांच लाख हजारा समुदाय के लोग क्वेटा और कई जगहों पर बसे हुए हैं। हजारा समुदाय के लोग छोटे-मोटे व्यापारी होते हैं। उन्हें हजारीगंज से आने-जाने के दौरान सुरक्षा मुहैया कराई जाती है, क्योंकि ये लगातार निशाने पर रहते हैं।

 

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned