पाकिस्तान: पूर्व PM खाकान अब्बासी की मुश्किलें बढ़ी, कोर्ट ने 15 अगस्त तक बढ़ाई रिमांड

  • Shahid Khaqan Abbasi Arrest: राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो ने अब्बासी को टोल प्लाजा से गिरफ्तार किया था
  • अब्बासी पर NAB अध्यादेश, 1999 की धारा 9 (ए) के तहत भ्रष्टाचार और भ्रष्ट आचरण के अपराध का आरोप है

By: Anil Kumar

Published: 01 Aug 2019, 10:00 PM IST

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री व पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज ( pml-n ) नेता शाहिद खाकान अब्बासी को एक बड़ा झटका लगा है। जवाबदेही अदालत ने गुरुवार को अब्बासी की रिमांड 15 अगस्त तक के लिए बढ़ा दी।

अब्बासी एक लिक्विफाइड नेचुरल गैस ( LNG ) कंपनी को अरबों रुपए का ठेका देने में भ्रष्टाचार के मामले में जेल में बंद हैं। जियो न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, न्यायाधीश मोहम्मद बशीर ने मामले की सुनवाई करते हुए यह फैसला सुनाया है।

अमरीका में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी की तौहीन, एयरपोर्ट पर उतरवाए कपड़े

राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो ( NAB ) ने अब्बासी को अदालत के समक्ष पेश किया और उनकी रिमांड को बढ़ाए जाने का आग्रह किया।

शाहिद खाकान अब्बासी

LNG केस में पूर्व PM शाहिद खाकान अब्बासी गिरफ्तार

बता दें कि पाकिस्तान के पूर्व PM शाहिद खाकान अब्बासी को बीते महीने 18 जुलाई को राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो ( National Accountability Bureau ) ने गिरफ्तार कर लिया था। अब्बासी को लाहौर के एक टोल प्लाजा से गिरफ्तार किया गया था। अब्बासी को LNG केस के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

शाहिद खाकान अब्बासी को उस वक्त गिरफ्तार किया गया था जब वे पीएमएल-एन के अध्यक्ष शहबाज शरीफ द्वारा आयोजित एक समाचार सम्मेलन में भाग लेने के लिए लाहौर जा रहे थे।

पाकिस्तान के पूर्व PM शाहिद खाकान अब्बासी LNG केस में गिरफ्तार

NAB के गिरफ्तारी वारंट के अनुसार, अब्बासी पर राष्ट्रीय जवाबदेही अध्यादेश, 1999 की धारा 9 (ए) के तहत भ्रष्टाचार और भ्रष्ट आचरण के अपराध का आरोप है।

अब्बासी का नाम भी एक्जिट कंट्रोल सूची में है। वह उन कई हाई-प्रोफाइल राजनेताओं में शमिल हैं, जिन्हें प्रधानमंत्री इमरान खान के 'जवाबदेही' मुहिम के तहत गिरफ्तार किया गया है।

पेट्रोलियम मंत्री के रूप में अब्बासी ने एलएनजी गैस के आयात पर कतर के साथ समझौता किया था। जिसमें अब्बासी को एक कंपनी को 220 बिलियन का टेंडर सौंपने के आरोप का लगा था। इस समझौते में वे खुद एक शेयरधारक थे। अब्बासी उस समय पेट्रोलियम व प्राकृतिक संसाधन मंत्री थे।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned