Pakistan: लगातार बारिश के बाद कराची में बाढ़ से जिन्दगी बेहाल, शहर में 4 दिनों से बिजली गुल, लोगों में भड़का गुस्सा

HIGHLIGHTS

  • पाकिस्तान में लगातार हो रहे बारिश के बाद बाढ़ और भूस्खलन ( Landslide ) समेत अलग-अलग घटनाओं में अब तक 137 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि हजारों लोग बेघर हो चुके हैं।
  • पाकिस्तान का सबसे बड़ा शहर कराची बाढ़ से जूझ रहा है। लगातार बारिश की वजह से शहर की गलियों और सड़कों पर पानी भर गया है। इतना ही नहीं, बीते चार दिनों से पूरे शहर में बिजली गुल है।

By: Anil Kumar

Updated: 01 Sep 2020, 04:24 PM IST

कराची। पड़ोसी देश पाकिस्तान में लगातार कई दिनों से हो रही मूसलाधार बारिश ( Torrential Rain In Pakistan ) के बाद कई शहरों में बाढ़ ने भारी तबाही मचाई है। बारिश के बाद बाढ़ और भूस्खलन समेत अलग-अलग घटनाओं में अब तक 137 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि हजारों लोग बेघर हो चुके हैं। देश के राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ( NDMA ) ने अपनी एक रिपोर्ट में ये जानकारी दी है।

इधर भारी बारिश के बाद बाढ़ के हालात के बीच कई शहरों में प्रशासन की लापरवाही भी सामने आ रही है। ऐसे में प्रशासन के खिलाफ लोगों में भारी गुस्सा भी देखने को मिल रहा है। दरअसल, पाकिस्तान का सबसे बड़ा शहर कराची बाढ़ से जूझ रहा है। लगातार बारिश की वजह से शहर की गलियों और सड़कों पर पानी भर गया है। इतना ही नहीं, बीते चार दिनों से पूरे शहर में बिजली गुल है।

Pakistan में मूसलाधार बारिश के बाद Flood, अब तक 125 की मौत और 71 घायल

इसके अलावा सीवरेज लाइन ओवर फ्लो होकर लोगों के घरों में पानी भर गया, जिससे लोग काफी गुस्से में हैं। प्रशासन की ओर से इसपर ध्यान नहीं दिए जाने से कराची के पॉश इलाकों तक के लोग खफा हैं। प्रशासन के इस लचर रवैये के विरोध में अब भारी संख्या में लोग सड़कों पर उतर आए हैं।

कराची के डिफेंस हाउसिंग अथॉरिटी में रहने वाले लोगों ने कैंटोनमेंट बोर्ड क्लिफटन के सामने विरोध प्रदर्शन किया। लोगों ने सवाल उठाया कि आखिर ऐसे इलाके में, जहां लोग लाखों रुपये का टैक्स देते हैं, वहां ऐसी बदहाल व्यवस्था है तो शहर के बाकी जगहों की हालत क्या होगी। इस दौरान गुस्साए लोगों ने प्रशासन के कार्यालय पर पथराव भी किया।

PTI नेता ने उठाए सवाल

आपको बता दें कि कराची के इस बुरे हाल को देखते हुए भी प्रशासन की तरफ से लोगों को कोई सुविधा मुहैया नहीं कराया जा रहा है। ऐसे में अब प्रधानमंत्री इमरान खान की पार्टी तहरीक-ए-इंसाफ के नेता ही कई तरह के गंभीर सवाल उठाने लगे हैं।

PTI नेता शहजाद कुरैशी ने कहा कि स्थानीय प्रशासन लोगों तक मदद नहीं पहुंचा पा रही है। लोगो के घरों में सीवरेज का पानी घुस रहा है, शहर में चार दिन से बिजली नहीं है और लोगों की शिकायत के बावजूद भी इसपर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। वहीं, विपक्षी पार्टी मुस्लिम लीग-कैद ( PML-Q ) के अध्यक्ष चौधरी शुजात हुसैन ने भी सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री इमरान खान को हालत का जायजा लेने के लिए कराची का दौरा करना चाहिए और लोगों तक हर संभव मदद पहुंचाने का आदेश देना चाहिए।

दक्षिण एशियाई देशों में बाढ़ का कहर, भारत समेत नेपाल, बांग्लादेश व पाकिस्तान में लाखों लोग प्रभावित

हालांकि शहजाद के तीखे सवाल पर सिंध राज्य के मुख्यमंत्री मुराद अली शाह ने सरकार का बचाव करते हुए कहा है कि प्रशासन लोगों की मदद करने में जुटा है। लोगों के घरों से पानी निकालने का काम किया जा रहा है। इसको लेकर सिंध सरकार के प्रवक्ता मुर्तजा वहाब ने पानी निकालने से जुड़ा एक वीडियो ट्वीट किया है, जिसमें शहर के कई इलाकों में म्युनिसिपल स्टाफ पंपिंग सेट से पानी निकालने में जुटे दिखाई दे रहे हैं।

50 सालों में रिकॉर्ड बारिश दर्ज

आपको बता दें कि पाकिस्तान में बीते कई दिनों से मानसूनी बारिश लगातार हो रही है। इस मूसलाधार बारिश के कारण की शहरों में बाढ़ और भूस्खलन के कारण जनजीवन प्रभावित हुआ है। बीते गुरुवार को कराची में 1967 के बाद से एक दिन में सबसे अधिक बारिश दर्ज की गई थी।

Pakistan में भारी बारिश के बाद Flood ने मचाई तबाही, अब तक 58 लोगों की मौत

पाकिस्तानी मीडिया डॉन न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, गुरुवार को मौसम विभाग ने सिर्फ 12 घंटे में 223.5 मिलीमीटर बारिश दर्ज की, जो कि कराची में एक दिन में हुई सबसे अधिक बारिश है। इससे पहले 26 जुलाई, 1967 को एक दिन में सबसे अधिक बारिश का रिकॉर्ड दर्ज किया गया था। उस समय मसरूर बेस में 211.3 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई थी।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned