पिछले 16 वर्षों से हर शुक्रवार को दुल्हन की तरह सजती है ये महिला, कारण जानकर हैरान रह जाएंगे आप

HIGHLIGHTS

  • पाकिस्तान ( Pakistan ) में लाहौर के पंजाब प्रांत की रहने वाली 42 वर्षीय हीरा जीशान ( Heera Zeeshan ) हर शुक्रवार को दुल्हन की तरह सजती-संवरती है।
  • हीरा जीशान यह काम पिछले 16 सालों से लगातार करती आ रही हैं।

 

By: Anil Kumar

Updated: 09 Jan 2021, 07:37 PM IST

इस्लामाबाद। शानदार और भव्य तरीके से शादी करना हर किसी का ख्वाइश होता है। दुल्हन तरह-तरह से खुद को संवारती है और अपनी शादी को यादगार बनाने की हर कोशिश करती है। लेकिन क्या आपको पता है एक महिला हर शुक्रवार को दुल्हन की तरह सजती-संवरती है। सबसे बड़ी बात कि महिला ये काम पिछले 16 सालों से कर रही है। अब आप हैरान हो गए न और ये जानने के लिए काफी उत्सुक हैं कि महिला ऐसा क्यों करती है? चलिए आपको बताते हैं..

दरअसल, यह महिला पाकिस्तान ( Pakistan ) की रहने वाली है और दुल्हन की तरह हर शुक्रवार को सजने-संवरने के कारण इन दिनों सोशल मीडिया पर काफी चर्चा में बनी हुई है। इस महिला का नाम है हीरा जीशान।

हाईकोर्ट: धर्म बदलकर शादी करने वाली युवती के नाम पति को 3 लाख की एफडी कराने का आदेश

42 वर्षीय हीरा जीशान ( Hira Zeeshan ) लाहौर के पंजाब प्रांत में रहती है। वह हर शुक्रवार को दुल्हन की तरह सजती संवरती है। जब लोगों को ये बात मालूम चली तो सब सुनकर हैरान रह गए। जब इस बारे में हीरा से पूछा गया तो उन्होंने पूरी कहानी बताई कि वह ऐसा क्यों करती हैं।

16 साल से बन रही हैं दुल्हन

हीरा ने बताया कि 16 साल पहले उनकी मां काफी बीमार थीं। इलाज कराने के लिए उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। लेकिन उनके स्वास्थ्य में सुधार नहीं हुआ और उनकी तबीयत और भी बिगड़ती चली गई। तब उनकी मां ने अपनी अंतिम इच्छा जताई कि मरने से पहले वह अपनी बेटी (हीरा जीशान) की शादी करवानी चाहती है।

अब हीरा की मां की इस अंतिम इच्छा को पूरा करने के लिए एक शख्स आगे आया। वह वही शख्स तो जिन्होंने उन्हें खून दान किया था। अस्पताल में ही दोनों की शादी करा दी गई। इसके बाद रिक्शे में हीरा की विदाई हुई। हीरा ने कहा कि उनकी शादी तो हो गई, लेकिन वह श्रृंगार नहीं कर सकी थी।

शादी के अगले दिन हीरा की मां की मौत

हीरा ने बताया कि शादी के अगले दिन उनकी मां की मौत हो गई। इससे उनक गहरा धक्का लगा। उन्होंने बताया कि इसके बाद उनके 6 बच्चे हुए। दो बच्चों की पैदा होते ही मौत हो गई। इससे वह अवसाद (डिप्रेशन) में चली गई।

बिना तलाक के महिला ने कर ली दूसरी शादी, पति के 9 लाख देने के बाद हो जाएंगे अलग

इसके बाद वह इस अवसाद यानी डिप्रेशन से बाहर आने के लिए हर शुक्रवार को दुल्हन की तरह सजती-संवरती है। दुल्हन बनने से उन्हें काफी खुशी मिलती है और अकेलापन भी कटता है। हीरा ने बताया कि उनके पति लंदन में रहते हैं और वह अपने बच्चों के साथ पाकिस्तान में रहती हैं।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned