Pakistan: इमरान खान ने यौन हिंसा के लिए 'अश्लीलता' को बताया जिम्मेदार, बोले- कुछ तो साइड इफेक्ट होगा

पाकिस्तान में लगातार बढ़ते रेप की घटनाओं और महिलाओं के खिलाफ यौन हिंसा के कारण देश की बिगड़ती कानून-व्यवस्था के लिए प्रधानमंत्री इमरान खान ने 'अश्लीलता' को दोषी बताया है।

By: Anil Kumar

Updated: 05 Apr 2021, 07:10 PM IST

इस्लामाबाद। देश-दुनिया में हर दिन सैंकड़ों लड़कियों के साथ यौन हिंसा की घटनाएं होती है। अलग-अलग देशों में तमाम तरह के सख्त कानून बने हैं, लेकिन इसके बावजूद भी इस तरह की घटनाएं नहीं थम रही हैं। पड़ोसी देश पाकिस्तान में यौन हिंसा की घटनाओं को रोकने के लिए पिछले साल एक सख्त कानून बनाया गया, फिर भी ऐसी घटनाओं में लगाम नहीं लग पा रहा है।

अब पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने यौन हिंसा की घटनाओं को लेकर एक बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि यौन हिंसा के लिए 'अश्लीलता' जिम्मेदार है। पाकिस्तान में लगातार बढ़ते रेप की घटनाओं और महिलाओं के खिलाफ यौन हिंसा के कारण देश की बिगड़ती कानून-व्यवस्था के लिए प्रधानमंत्री इमरान खान ने 'अश्लीलता' को दोषी बताया है।

यह भी पढ़ें :- Pakistan: 6 साल में 22 हजार रेप की घटनाएं दर्ज, सिर्फ 77 दोषियों को मिली सजा

इमरान खान ने रविवार को फोन कॉल्स के जरिए आम नागरिकों से बात कर रहे थे। इसी दौरान एक कॉलर ने पूछा कि देश में तेजी से बढ़ रहे यौन हिंसा खासकर बच्चियों के साथ हो रही घटनाओं और रेप की वारदात को रोकने को लेकर सरकार की क्या योजना है?

इसपर इमरान खान ने जवाब देते हुए कहा कि समाज में कुछ ऐसी लड़ाइयां है जिन्हें सरकार और कानून के सहारे नहीं जीता जा सकता है, बल्कि इसके लिए समाज को मिलकर आगे आना होगा।

तलाक के मामले 70 फीसदी बढ़े: इमरान

जियो न्यूज के अनुसार, इरमान खान ने कहा कि समाज के लिए जरूरी है कि वह खुद को अश्लीलता (फताशी) से बचाए। जिस तरह की रेप व यौन हिंसा की खबरें मीडिया रिपोर्ट्स में आती है वैसी खौफनाक घटनाएं वास्तव में सिर्फ एक फीसदी ही होता है।

इमरान खान ने कहा कि आजकल 70 फीसदी से अधिक तलाक के मामले बढ़ गए हैं और इसकी मूल वजह है समाज में फैली अश्लीलता। उन्होंने कहा कि 70 के दशक में ऐसी अश्लीलता देखने को मिलती थी, जब मैं इंग्लैंड क्रिकेट खेलने गया था।

यह भी पढ़ें :- Pakistan: बलात्कारियों पर इमरान सरकार सख्त, दोषियों को नपुंसक बनाने वाले दो अध्यादेशों को दी मंजूरी

इमरान ने कहा कि इस्लाम धर्म में पर्दा प्रथा का एक मकसद था, जो आज के समाज में नहीं है। पर्दा प्रथा का मकसद था 'प्रलोभन को काबू में रखें'। लेकिन आज कई लोग ऐसे हैं जो काबू नहीं रख सकते हैं। यही कारण है कि इसका कुछ न कुछ साइड इफैक्ट तो आना ही था।

बता दें कि इससे पहले पिछले साल रेप की घटनाओं को रोकने के लिए पाकिस्तान में सख्त सजा का प्रावधान किया गया है। रेप के दोषियों को इंजेक्शन देकर नपुंसक बनाने का प्रावधान किया गया है।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned