पाकिस्तान का पलटवार, हाफिज सईद पर कार्रवाई को लेकर नहीं अमरीकी दबाव में

सईद 2008 में हुए मुंबई आतंकी हमलों के लिए साजिश रचने का आरोपी है जिसमें विदेशी नागरिक समेत 160 से ज्यादा लोग मारे गए थे।

By: Mohit sharma

Published: 04 Jan 2018, 03:27 PM IST

नई दिल्ली। पाकिस्तान के रक्षा मंत्री खुर्रम दस्तगीर ने बुधवार को इस बात से इंकार किया कि हाफिज सईद के विरुद्ध कार्रवाई अमेरिकी दबाव में की जा रही है और कहा कि सईद के खिलाफ सभी कार्रवाई देश के अपने आतंकवाद-रोधी अभियान के तहत की जा रही है। दस्तगीर ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कई संगठनों पर प्रतिबंध लगाया गया है, पाकिस्तान स्थिति की समीक्षा करता है और उसी के अनुसार कदम उठाता है। दस्तगीर ने साक्षात्कार के दौरान कहा कि जमात-ऊद-दावा पर कार्रवाई सुरक्षित पाकिस्तान के लिए रणनीति के तहत उठाया गया है जहां आतंकवादी दोबारा कभी स्कूली छात्रों पर हमला न कर सकें। उन्होंने कहा कि इसका मतलब यह नहीं है कि हम अपने देश के खिलाफ बंदूक उठाएंगे, वह समय चला गया। पाकिस्तान अब सुनियोजित तरीके से कदम उठाएगा।

झूठ और धोखे' का आरोप

सईद 2008 में हुए मुंबई आतंकी हमलों के लिए साजिश रचने का आरोपी है जिसमें विदेशी नागरिक समेत 160 से ज्यादा लोग मारे गए थे। हाल ही में पाकिस्तान और अमरीका के बीच तनाव की स्थिति पर रक्षा मंत्री ने ट्रंप के ट्वीट को उनका 'नजरिया' बताया। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान से आतंकवाद रोधी कार्रवाई सीखने के स्थान पर, अमेरिका हमें धिक्कार रहा है। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ महीनों में पाकिस्तान और अमरीका के बीच सकारात्मक वार्ता हुई है लेकिन आम स्तर पर इस संबंध को नकारात्मक रंग दिया गया है। दस्तगीर ने भारत पर पाकिस्तान और अमेरिका के संबंध बिगाड़ने के लिए अप्रत्यक्ष भूमिका का आरोप लगाया। रक्षा मंत्रालय का यह बयान ऐसे समय आया है जब वाशिंगटन ने एक दिन पहले ही पाकिस्तान को दी जाने वाली 25.5 करोड़ डॉलर की सैन्य सहायता पर रोक लगा दी। ट्रंप ने सोमवार को ट्वीट कर पाकिस्तान पर 'झूठ और धोखे' का आरोप लगाया था।

मुंबई हमले का मास्टरमाइंड

अमरीका काफी दिनों से हाफिज सईद की जमात-उद-दावा और फलाह-ए-इंसानियत फाउंडेशन को लश्कर-ए-तैयबा का मुखौटा बताता रहा है। अमरीका ने हाफिज के सिर पर 10 मिलियन का इनाम घोषित कर रखा है। संयुक्त राष्ट्र ने भी कहा है कि मुंबई में 2008 आतंकी हमले का मास्टरमाइंड है। इस हमले में 166 निर्दोष लोगों की मौत हुई थी।

Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned