Pakistan: करतारपुर कॉरिडोर खोलने पर लाहौर हाई कोर्ट ने इमरान सरकार पर उठाए सवाल

HIGHLIGHTS

  • लाहौर-नरोवाल सड़क निर्माण ( Lahore-Narowal Road Construction ) में हुई देरी को लेकर दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए लाहौर उच्च न्यायालय ( Lahore High Court ) ने इमरान सरकार पर सवाल उठाए।

By: Anil Kumar

Updated: 16 Oct 2020, 09:14 PM IST

लाहौर। करतारपुर कॉरिडोर ( Pakistan Kartarpur Corridor ) खोलने को लेकर पाकिस्तान की एक अदालत ने इमरान सरकार पर सवाल उठाए हैं। अदालत ने संघीय सरकार के अधिकारियों से पूछा कि क्या यह परियोजना यह प्रांतीय सरकार के मामलों में हस्तक्षेप नहीं है।

दरअसल, लाहौर-नरोवाल सड़क निर्माण ( Lahore-Narowal Road Construction ) में हुई देरी को लेकर याचिका दायर की गई थी। इस याचिका पर सुनवाई करते हुए गुरुवार को लाहौर उच्च न्यायालय ( Lahore High Court ) ने संघीय सरकार पर सवाल उठाए। मुख्य न्यायाधीश मुहम्मद कासिम खान ने एक संघीय विधि अधिकारी से पूछा कि सड़क के निर्माण के लिए संघीय या प्रांतीय सरकार में से कौन जिम्मेदार था?

Pakistan: इमरान सरकार ने करतारपुर कॉरिडोर को फिर से खोला, भारत ने कहा- प्रतिबंधों में दी जाएगी ढील

इसपर विधि अधिकारी ने जवाब देते हुए कहा कि सड़क निर्माण के लिए धनराशि जारी करने का मामला संघीय सरकार के अधीन नहीं आता है। इसपर जस्टिस खान ने कहा कि यदि सड़क निर्माण का विषय प्रांतीय सरकार का है तो फिर संघीय सरकार ने करतापुर गलियारे का निर्माण कैसे किया। मुख्य न्यायाधीश ने कहा कि देश की सरकारें अपनी इच्छाओं पर काम कर रही हैं या कानून के हिसाब से।

प्रधानमंत्री को भेजा जा सकता है नोटिस

लाहौर हाईकोर्ट ने विधि अधिकारी को निर्देश दिया कि अगली सुनवाई में आप अदालत को बताएं कि क्या संघीय सरकार की ओर से लाई गई करतारपुर परियोजना पंजाब प्रांत के मामलों में हस्तक्षेप नहीं है या नहीं?

कोर्ट ने कहा कि यदि यह प्रमाणित हो जाता है कि संघीय सरकार ने प्रांती सरकार के मामलों में हस्तक्षेप किया है तो फिर प्रधानमंत्री को भी नोटिस भेजा जा सकता है। चीफ जस्टिस खान ने कहा कि आवश्यकता पड़ने पर हम प्रधानमंत्री को भी नोटिस भेज सकते हैं। अब इस मामले की सुनवाई दो हफ्ते बाद होगी। कोर्ट ने तब तक अतिरिक्त महान्यायवादी इश्तियाक खान को इस मामले में जवाब देने के लिए निर्देश दिया है।

'करतारपुर कॉरिडोर के जरिए आर्टिकल 370 का बदला लेने के फिराक में पाकिस्तान, फैलाएगा हिंसा'

आपको बता दें कि इससे पहले कुछ दिन पहले ही इमरान सरकार ने एक बड़ा फैसला लेते हुए करतारपुर कॉरिडोर को फिर से खोलने की घोषणा की थी। इमरान सरकार ने घोषणा की थी कि चूंकि हमारे यहां (पाकिस्तान) कोरोना के मामलों में सुधार हुआ है, इसलिए उसकी ओर से गुरुद्वारा करतारपुर साहिब कॉरिडोर को फिर से खोल दिया गया है।

इससे पहले कोरोना महामारी के कारण इस साल मार्च से करतारपुर कॉरिडोर को बंद कर दिया गया था। हालांकि जून में महाराजा रणजीत सिंह की पुण्यतिथि मनाने के लिए संक्षित रूप से फिर से इस गलियारे को शुरू किया गया था, जिसमें भारत ने पाकिस्तान की पेशकश को खारिज करते हुए कॉरिडोर को खोलने से इनकार कर दिया था। बता दें कि 4.7 किलोमीटर लंबा यह कॉरिडोर भारत के गुरदासपुर में डेरा बाबा नानक साहिब और पाकिस्तान के करतारपुर गुरुद्वारा दरबार साहिब को जोड़ता है।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned