किसान आंदोलन पर पाकिस्तान ने जहर उगला, कहा- भारत के खिलाफ दुनिया को उठानी चाहिए आवाज

HIGHLIGHTS

  • पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने बयान देते हुए कहा कि भारत सरकार आंदोलनरत किसानों की आवाज को दबाने में नाकाम रही है। अब पूरा भारत किसानों के साथ खड़ा है।
  • पाकिस्तान के विज्ञान एवं तकनीक मंत्री फवाद चौधरी ने भी मंगलवार को एक ट्वीट करते हुए किसान आंदोलन को लेकर टिप्पणी की और कहा कि दुनिया को भारत की दमनकारी सरकार के खिलाफ आवाज उठानी चाहिए।

By: Anil Kumar

Updated: 26 Jan 2021, 10:01 PM IST

इस्लामाबाद। पाकिस्तान ( Pakistan ) अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। भारत में बीते 2 महीनों से तीन कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। जहां एक ओर मंगलवार का भारत ने अपना 72वां गणतंत्र दिवस ( India Republic Day ) मनाया, तो दूसरी और अब किसानों के इस प्रदर्शन को लेकर पाकिस्तान ने टिप्पणी की है।

मंगलवार को पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ( Pakistan Foreign Minister Shah Mahmood Qureshi ) ने बयान देते हुए कहा कि भारत सरकार आंदोलनरत किसानों की आवाज को दबाने में नाकाम रही है। अब पूरा भारत किसानों के साथ खड़ा है। कुरैशी के अलावा, पाकिस्तान के विज्ञान एवं तकनीक मंत्री फवाद चौधरी ( Fawad Chaudhry ) ने भी मंगलवार को एक ट्वीट करते हुए किसान आंदोलन को लेकर टिप्पणी की और कहा कि दुनिया को भारत की दमनकारी सरकार के खिलाफ आवाज उठानी चाहिए।

Tractor Rally : हिंसा को लेकर किसान नेताओं ने मांगी माफी, खुद को उपद्रवियों से किया अलग

इससे पहले भारत ने कई बार पाकिस्तान को ये चेतावनी दी है कि हमारे आंतरिक मामलों में टिप्पणी न करें। भारत सरकार ने ये स्पष्ट किया है कि किसी भी दूसरे देश को हमारे आंतरिक मामलों में टिप्पणी करने का अधिकार नहीं है।

कुरैशी ने फिर छेड़ा कश्मीर राग

बता दें कि शाह महमूद कुरैशी ने एक बार फिर से कश्मीर का राग अलापा है। पाकिस्तान के प्रमुख अखबार एक्सप्रेस ट्रिब्यून के मुताबिक, विदेश मंत्री कुरैशी ने सवाल उठाया कि यदि कश्मीर मुद्दे पर भारत का पक्ष मजबूत है तो फिर चर्चा से क्यों डर रहा है? उन्होंने कहा कि भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की शांतिपूर्ण वार्ता की पेशकश पर ध्यान नहीं दिया। इसके उलट ऐसे कदम उठाए हैं, जिसकी वजह से हालात तनावपूर्ण हो गए हैं।

 Farmers protest violence : खुफिया सूचना मिलने के बाद अर्द्धसैनिक बलों की 15 अतिरिक्त टुकडिय़ां तैनात

कुरैशी ने कहा कि दोनों देश परमाणु संपन्न हैं, ऐसे में कश्मीर मामले का समाधान निकालने की जरूरत है। जब उनसे कश्मीर मुद्दे के समाधान के लिए सैन्य ताकत के इस्तेमाल पर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि ऐसा करना आत्महत्या करने के बराबर होगा।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned