पाकिस्तान: हेल्थ वर्कर्स को सिंध के स्वास्थ्य मंत्री की धमकी, चीनी कोरोना वैक्सीन नहीं लगाने पर जाएगी नौकरी

Pakistan Corona Vaccine: सिंध प्रांत के स्वास्थ्य मंत्री अजरा पेचुहो ने एक वीडियो संदेश जारी करते हुए कहा है कि यदि आप (स्वास्थ्यकर्मी) टीकाकरण नहीं करवाते हैं तो अपनी नौकरी खो सकते हैं।

By: Anil Kumar

Updated: 27 Mar 2021, 08:20 PM IST

इस्लामाबाद। कोरोना महामारी से जूझ रही पूरी दुनिया में एक बार फिर से तेजी से संक्रमण फैल रहा है। कई देशों में धीमा पड़ चुका कोरोना संक्रमण का खतरा अब फिर से बढ़ने लगा है और भारी संख्या में लोग संक्रमित हो रहे हैं। इन सबके बीच 100 से अधिक देशों में टीकाकरण अभियान भी चलाया जा रहा है। इसके बावजूद कोरोना संक्रमण की रफ्तार बढ़ती दिख रही है।

इसी कड़ी में जहां एक ओर भारत के कई राज्यों में कोरोना संक्रमण के मामलों में तेजी देखी जा रही है, वहीं पड़ोसी देश पाकिस्तान में भी कोरोना कहर बरपा रहा है। पाकिस्तान में कोरोना महामारी की तीसरी लहर के मद्देनजर टीकाकरण अभियान में तेजी लाया गया है। लेकिन, आम लोग से लेकर स्वास्थ्यकर्मी तक वैक्सीन लगवाने से कतरा रहे हैं।

यह भी पढ़ें :- पाकिस्‍तान: वैक्सीन लगवाने के बाद इमरान खान हुए कोरोना संक्रमित

लिहाजा, पाकिस्तान के एक मंत्री ने टीका न लगाने वालों को सीधे-सीधे नौकरी से हाथ धोने की धमकी दे दी है। दरअसल, सिंध प्रांत के स्वास्थ्य मंत्री अजरा पेचुहो ने एक वीडियो संदेश जारी करते हुए कहा है कि यदि आप टीकाकरण नहीं करवाते हैं तो अपनी नौकरी खो सकते हैं।

पाकिस्तान में लगाया जा रहा है चीनी कोरोना वैक्सीन का टीका

आपको बता दें कि पाकिस्तान में आम नागरिक से लेकर स्वास्थ्यकर्मियों तक कोरोना वैक्सीन का टीका लगवाने से कतरा रहे हैं। डीपीए न्यूज एजेंसी ने मंत्री के हवाले से कहा है कि राज्य में 142,315 पंजीकृत स्वास्थ्यकर्मी हैं। इनमें से 33,356 कर्मचारियों ने अब तक टीका लगाया है।

यह भी पढ़ें :- इमरान खान के कोरोना पॉजिटिव होने पर पीएम मोदी ने की जल्द स्वस्थ होने की कामना

एक सर्वे में ये बात सामने आई है कि आम लोग से लेकर स्वास्थ्यकर्मियों में चीनी कोरोना वैक्सीन को लेकर संदेह है। ऐसे में लोग टीका लगवाने से बच रहे हैं। पाकिस्तान मेडिकल एसोसिएशन के महासिचव कैसर सज्जाद ने शुक्रवार को एक बयान में कहा कि चूंकि सरकार ने शुरूआती दिनों में 60 वर्ष से अधिक आयुवर्ग के लोगों का टीकाकरण नहीं करने का फैसला किया था। जिसकी वजह से लोगों में शंका पैदा हुई और अब स्वास्थ्यकर्मी समेत आम लोग टीका लगाने से झिझक रहे हैं।

हालांकि, पाकिस्तान सरकार अब चीनी कोरोना वैक्सीन को पूरी तरह सुरक्षित बता रही है और देश के हर नागरिक को टीका लगाने की अपील कर रही है। पिछले सप्ताह पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कोरोना टीका का पहला डोज लगवाया था। लेकिन वैक्सीन लगाने के दो दिन बाद ही वे कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे।

सिंध प्रांत सबसे अधिक प्रभावित

आपको बता दें कि पाकिस्तान का सिंध प्रांत कोरोना महामारी से सबसे अधिक प्रभावित है। सिंध में सबसे अधिक 264000 से अधिक मामले दर्ज किए गए हैं। शुक्रवार को स्वास्थ्य मंत्रालय ने जानकारी देते हुए बताया कि 4368 नए मामले दर्ज किए गए, जबकि 63 लोगों की मौत हुई है। इसके साथ ही पाकिस्तान में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 6,45,356 हो गई है, जबकि 14,091 लोगों की मौत हो गई है।

Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned